लाइव टीवी

सिख दंगों के आरोपी सज्जन ने की सजा पर जल्द सुनवाई की मांग, CJI बोले देखेंगे

News18Hindi
Updated: November 4, 2019, 12:03 PM IST
सिख दंगों के आरोपी सज्जन ने की सजा पर जल्द सुनवाई की मांग, CJI बोले देखेंगे
34 साल बाद दिल्ली हाईकोर्ट की बेंच ने सिख दंगा के दोषी सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई थी.

सिख दंगों (Sikh Riots) के आरोपी सज्जन कुमार (Sajjan Kumar) इससे पहले भी अपनी जमानत पर जल्द सुनवाई की अर्जी दाखिल कर चुके हैं. जो एक बार खारिज हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2019, 12:03 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में सिख दंगों (Sikh Riots) के आरोपी सज्जन कुमार (Sajjan Kumar) ने एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में अपनी जमानत अर्जी पर जल्द सुनवाई की मांग की है. आरोपी सज्जन की इस मांग पर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) ने कहा है कि देखेंगे. गौरतलब रहे कि सज्जन कुमार को दिल्ली हाईकोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई हुई है. सज्जन कुमार ने हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की हुई है.

इससे पहले भी खारिज हो चुकी है जमानत अर्जी
इससे पहले भी सिख दंगा केस में सजायाफ्ता सज्जन कुमार की अर्ज़ी पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टल गई थी. जस्टिस संजीव खन्ना ने खुद को सुनवाई से अलग कर लिया था. 1984 सिख दंगा के सजायाफ्ता सज्जन कुमार ने दिल्ली हाईकोर्ट से मिली उम्रकैद की सजा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर की थी. बताया जाता है कि अब मामला दूसरी बेंच के सामने लगेगा.


Loading...

इसलिए मिली थी उम्र कैद की सजा
बता दें कि करीब 34 साल बाद दिल्ली हाईकोर्ट की बेंच ने सिख दंगे के दोषी सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई थी. वह आपराधिक षडयंत्र, हिंसा और दंगा भड़काने के दोषी हैं. दिल्ली हाईकोर्ट ने सज्जन के अलावा बलवान खोखर, कैप्टन भागमल और गिरधारी लाला को उम्रकैद की सजा सुनाई है. 1984 में दिल्ली कैंट के राजनगर में एक ही परिवार के पांच लोगों को मार दिया गया था.

ये भी पढ़ें- भोपाल में 3 दिन के लिए इकट्ठा हो रहे हैं देशभर के 25 लाख से अधिक मुस्लिम, जानें वजह...

इस दिवाली पर 60 प्रतिशत कम बिका चाइनीज सामान, कैट के सर्वे में हुआ खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 11:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...