लाइव टीवी

शत्रुघ्न सिन्हा ने दिल्ली में ऑड-ईवन नियम को लेकर कह दी ये बड़ी बात

भाषा
Updated: November 5, 2019, 9:40 PM IST
शत्रुघ्न सिन्हा ने दिल्ली में ऑड-ईवन नियम को लेकर कह दी ये बड़ी बात
शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अगर भारत आरसीईपी में शामिल हो जाता तो इससे काफी नुकसान हो जाता (फाइल फोटो)

कांग्रेस (Congress) नेता शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने कहा कि वायु प्रदूषण (Air Pollution) से निपटन के लिए सम-विषम योजना (Odd-even scheme) लागू करना कोई समाधान नहीं है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) नेता शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने दिल्ली में लागू की गई सम-विषम योजना (Odd-even scheme) ने बड़ा बयान दिया. मंगलवार को शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि दिल्ली (Delhi) में वायु प्रदूषण (Air Pollution) की गंभीर समस्या से निपटने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने जो सम-विषम योजना लागू की है, उससे इस समस्या का हल नहीं होने वाला. अपने समय के दिग्गज अभिनेता रहे सिन्हा ने कहा कि प्रदूषण (Pollution) से पूरा देश प्रभावित है, खासतौर पर दिल्ली और इसलिए समाज का विभिन्न वर्ग इसे ले कर स्वाभाविक तौर पर चिंतित है.

कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने दिल्ली कांग्रेस कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि इस पर ‘बातें कम’ होनी चाहिए और लोगों को प्रदूषण को नियंत्रित करने के समाधान सुझाने चाहिए.

सम-विषम लागू करना कोई समाधान नहीं
सिन्हा ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट जिम्मेदारी तय कर रहा है. लेकिन अल्पावधि में क्या कदम उठाए जा रहे हैं? इस पर बात केवल बात करना और सम-विषम (लागू करना) कोई समाधान नहीं है.’ कुछ माह पहले भाजपा छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हुए सिन्हा ने क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी) पर भारत द्वारा हस्ताक्षर नहीं करने के लिए सरकार पर दबाव बनाने का श्रेय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को दिया.


सूत्रों के अनुसार, भारत ने आरसीईपी पर हस्ताक्षर करने से सोमवार को इनकार कर दिया. आरसीईपी में आसियान के दस सदस्यों के अलावा भारत, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड शामिल हैं. सूत्रों के अनुसार, चीन का इस बात पर जोर था कि इस समझौते पर सोमवार को ही हस्ताक्षर हो जाए ताकि वह अमेरिका के साथ अपने व्यापार टकराव के प्रभाव को कुछ कम कर सके.

कांग्रेस के दबाव की वजह से भारत ने आरसीईपी पर साइन नहीं किए
Loading...

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अगर भारत आरसीईपी में शामिल हो जाता तो इससे काफी नुकसान हो जाता और गांधी और कांग्रेस ने सरकार पर जो दबाव बनाया, उसकी वजह से यह रुका. वहीं दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सोनिया गांधी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के लगातार विरोध ने देश को आरसीईपी से बचा लिया.

इस दौरान दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता मुकेश शर्मा, महिला कांग्रेस अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी और पूर्व सांसद संदीप दीक्षित भी मौजूद थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 9:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...