आम कार्यकर्ता से लेकर नेता तक सबका ध्यान रखती थीं शीला दीक्षित

दिल्ली कांग्रेस का दोबारा से चार्ज संभालने के बाद से ही शीला दीक्षित काफी एक्टिव नजर आ रही थीं. बीते 31 मार्च को ही 81 साल की हुई शीला दीक्षित को देखकर नहीं लगता था कि वह पार्टी के दूसरे नेताओं की तुलना में किसी भी मायने में कमजोर हैं.

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 8:52 PM IST
आम कार्यकर्ता से लेकर नेता तक सबका ध्यान रखती थीं शीला दीक्षित
शीला दीक्षित के जाने के बाद भारतीय राजनीति के एक युग का अंत हो गया
Ravishankar Singh
Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 8:52 PM IST
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन हो गया है. शीला दीक्षित से जुड़ी कई ऐसी यादें हैं जो अब उनके जाने के बाद याद आती हैं. इसी साल जनवरी महीने में शीला दीक्षित मीडिया में खूब छाई हुई थीं. फर्स्टपोस्ट हिंदी के लिए मैंने उनसे कुछ समय देने का आग्रह किया तो वह अगले ही दिन मुझे बुला लिया. 24 जनवरी 2019 को शीला दीक्षित से मेरा-सवाल जवाब शुरू हुआ. शीला दीक्षित ने फ़र्स्टपोस्ट हिंदी से कई मुद्दों पर बात की. कई सवालों का जवाब तो उन्होंने बड़े ही बेबाकी से दी, लेकिन कुछ सवालों को बहुत ही चतुराई से टाल गईं.

बीते 31 मार्च को ही 81 साल की हुई थीं शीला दीक्षित

महानगर के बहुत सारे हिस्से देख कर लगता है- ये शीला दीक्षित की दिल्ली है| It looks like many parts of delhi - this is former delhi cheif minister Sheila Dikshit's Delhi
फ्लाई ओवरों की बात की जाय तो इसमें शीला दीक्षित का मुख्यमंत्री के तौर पर न भूलने वाला योगदान है. (File Photo)


इसी साल जनवरी महीने में दिल्ली कांग्रेस का चार्ज संभालने के बाद से ही शीला दीक्षित काफी एक्टिव नजर आ रही थीं. बीते 31 मार्च को ही 81 साल की हुई शीला दीक्षित को देखकर नहीं लगता था कि वह पार्टी के दूसरे नेताओं की तुलना में किसी भी मायने में कमजोर हैं. शीला दीक्षित के अध्यक्ष बनते ही उनके निजामुद्दीन स्थित आवास से लेकर दिल्ली कांग्रेस दफ्तर तक कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटने लगी थीं.

profile of sheila dixit, demise of Sheila Dikshit, congress, delhi ex cm Sheila Dikshit, sheila dixit passes away, शीला दीक्षित, शीला दीक्षित का निधन
आम नेता से लेकर कार्यकर्ता तक सभी का ख्याल रखती थीं.


पार्टी ऑफिस में भी कई बदलाव किए थे

शीला दीक्षित ने अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी ऑफिस में कई बदलाव किए थे. कार्यकर्ताओं को बैठने से लेकर पीने का पानी भी बंदोबस्त किया. उनको जब पता चला कि यहां पीने का पानी को लेकर बड़ी समस्या है तो उन्होंने तुरंत ही पानी का बंदोबस्त करवा दिया. शीला सरकार में दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री रहे महाबल मिश्रा न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहते हैं, 'कई बार शीला जी के हाथों का खान खाया हूं. मुझे आज भी याद है जब उन्होंने मेरे लिए एक गिलास पानी खुद ले कर आ गईं. इसी से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि शीला जी का व्यक्तित्व कितना बड़ा था.'
Loading...

रोज कांग्रेस दफ्तर पहुंच जाती थी

कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी शीला दीक्षित पर भरोसा जताया. और 1998 में उन्हें दिल्ली प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया.


दोबारा दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद शीला दीक्षित काफी सक्रिय हो गई थीं. रोज कांग्रेस दफ्तर पहुंच जाती थी. फर्स्टपोस्ट हिंदी ने जब उनसे सवाल किया कि इस उ्म्र में भी आप सुबह-सुबह पार्टी दफ्तर पहुंच जाती हैं तो उनका जवाब था, ‘देखिए यह मेरी पार्टी है. मैं पार्टी दफ्तर नहीं जाउंगी तो कहां जाऊंगी? कार्यकर्ता अगर हमारे पास आते हैं तो उनको बैठने और पानी का भी बंदोबस्त हमें ही करना है. हमलोग लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) के खिलाफ जल्द ही व्यापक जनसंपर्क अभियान शुरू करने जा रहे हैं. कांग्रेस के 15 साल के शासनकाल के 'विकास मॉडल' की तुलना केजरीवाल सरकार के प्रदर्शन से की जाएगी. पार्टी जनसंपर्क अभियान ब्लॉक स्तर पर चलाएगी. हमलोग अरविंद केजरीवाल सरकार को पूरी ताकत के साथ घेरेंगे.’

sheila dikshit, delhi, commonwealth games
शिला दीक्षित के मुख्यमंत्री रहते हुए दिल्ली में कॉमनवेल्थ गेम्स हुए थे. (twitter)


दोबारा सवाल करने पर कि पिछले कुछ महीनों से दिल्ली में कांग्रेस और 'आप' के बीच लोकसभा चुनाव में गठबंधन की संभावना जताई जा रही हैं, शीला दीक्षित ने कहा था, ‘हमने भी पार्टी का स्टैंड साफ कर दिया है और आम आदमी पार्टी ने भी कह दिया है कि अब इसमें कोई किंतु और परंतु नहीं बचा है. हालांकि, राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है. पॉलिटिक्स में मैं नहीं कह सकती है कि दो सप्ताह या दो महीने बाद क्या चीजें होगीं? अभी लोकसभा चुनाव को लेकर काफी रणनीति बनेगी और बिगड़ेगी. आपलोग वक्त का इंतजार कीजिए.’

ये भी पढ़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 20, 2019, 8:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...