लाइव टीवी

अकाली दल MLA ने औरंगजेब लेन के साइन बोर्ड पर पोती कालिख, कहा- हत्यारा था वो, हटाया जाए उसका नाम

News18Hindi
Updated: December 2, 2019, 12:30 PM IST
अकाली दल MLA ने औरंगजेब लेन के साइन बोर्ड पर पोती कालिख, कहा- हत्यारा था वो, हटाया जाए उसका नाम
दिल्ली स्थित औरंगजेब लेन के बोर्ड पर कालिख पोतते अकाली दल के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा और उनके साथी.

शिरोमणि अकाली दल (SAD) के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा (Manjinder Singh Sirsa) और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC) औरंगजेब का नाम सड़कों और देश की किताबों से हटाने की मांग कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2019, 12:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. शिरोमणि अकाली दल (SAD) के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC) के अन्य सदस्यों ने रविवार को औरंगजेब लेन के साइन बोर्ड को काला कर दिया. ये लोग मांग कर रहे हैं कि देश की सड़कों और किताबों से उनका नाम हटाया जाए.

सड़कों पर उनका नाम देखकर आहत होती हैं हमारी भावनाएं
मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा है कि, गुरु तेग बहादुर ने औरंगजेब द्वारा जबरदस्ती धर्मांतरण करने के प्रयासों के खिलाफ अपने जीवन का बलिदान कर दिया. सिरसा ने कहा है कि, 'हम सड़कों और किताबों पर औरंगजेब के नाम का विरोध करते हैं, वह एक हत्यारा था. सड़कों पर उनका नाम देखकर हमारी भावनाएं आहत होती हैं.'

क्रूर औरंगजेब भी उनकी धार्मिक आस्था को हिला नहीं पाया
मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्वीट में लिखा कि, श्री गुरु तेग बहादुर जी ने जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ शहादत दी. क्रूर औरंगजेब भी उनकी धार्मिक आस्था को हिला नहीं पाया था. देश की राजधानी दिल्ली में उस औरंगजेब के नाम पर सड़क होना न देश को शोभा देता है और न देशवासियों को खुशी.



एनडीएमसी को घटना के बारे में पुलिस को सूचना दी है क्योंकि ये प्रोपर्टी NDMC के अन्दर आती है. घटना की जानकारी मिलते ही दिल्ली पुलिस मौके पर पहुंच गई. वहीं शिरोमणि अकाली दल दिल्ली के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना ने कहा कि मनजिंदर सिंह सिसरा ने गलत काम किया है. विरोध जताने का और भी तरीका होता है.



ये भी पढे़ं - 

महाराष्ट्र: पटोले बने विधानसभा स्पीकर, उद्धव बोले सबके साथ न्याय करेंगे नाना

महाराष्ट्र: स्पीकर चुने जाने के बाद सदन को संबोधित करेंगे राज्यपाल कोश्यारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 3:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर