लाइव टीवी

दिल्ली विधानसभा में स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप बिल पास, बेरोजगार युवाओं को मिलेगा रोजगार

News18Hindi
Updated: December 4, 2019, 6:41 AM IST
दिल्ली विधानसभा में स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप बिल पास, बेरोजगार युवाओं को मिलेगा रोजगार
दिल्ली विधानसभा में स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप बिल पास हो गया है. (फाइल फोटो)

स्किल यूनिवर्सिटी(Skill university) का पहला काम होगा कि इसमें दाखिला लेने वाले सौ प्रतिशत युवाओं को नौकरी(Job) मिले या फिर उनको इस काबिल बनाया जाए कि वो खुद का रोजगार (Employment) शुरू कर सकें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2019, 6:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा में मंगलवार को ऐतिहासिक बिल स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप, यूनिवर्सिटी बिल (Skill and Entrepreneurship University Bill) 2019 पास कर दिया गया. इस मौके पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) ने कहा कि यह विश्वविद्यालय युवकों को रोजगार देने में मदद करेगा.

इसकी मदद से युवक अपना एंटरप्रेन्योरशिप शुरू कर सकेंगे. केजरीवाल ने कहा कि आज बाजार में रोजगार खत्म होते जा रहे हैं, जिसके कारण युवा सड़क पर डिग्री लेकर घूम रहे हैं. उनके पास रोजगार नहीं है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी दूसरी बार सरकार बना रही है, इसलिए बिल को ला रहे हैं.

केजरीवाल ने कहा कि यह बिल बेरोजगारों की समस्या का समाधान है. उन्होंने कहा कि इस स्किल यूनिवर्सिटी बिल का पहला काम होगा कि इसमें दाखिला लेने वाले सौ प्रतिशत युवाओं को नौकरी मिले या फिर उनको इस काबिल बनाया जाए कि वो खुद का रोजगार शुरू कर सकें.

केजरीवाल ने कहा कि अगर एक युवक अपना कामकाज शुरू करता है और 3-4 लोगों को रोजगार देता है, तो यह अच्छा होगा. इस बिल से दिल्ली के हर बच्चे को रोजगार से जोड़ा जा सकेगा.

युवा डिग्री लेकर मार्केट में घूम रहे
सोमवार के दिल्ली विधानसभा में स्पोर्ट यूनिवर्सिटी बिल पास किया गया था, वहीं मंगलवार को दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने स्किल एंड इंट्ररप्रेन्‍योरशिप यूनिवर्सिटी बिल 2019 पास किया. यह विश्वविद्यालय बेरोजगार युवकों को अपना रोजगार शुरू करने के लिए योग्य बनाएगा. सीएम केजरीवाल ने कहा कि इस विश्वविद्यालय में युवकों को रोजगार देने के लिए पढ़ाई कराई जाएगी.

जनता के हित के बारे में सोचते रहेंगेसीएम केजरीवाल ने कहा कि हम लोगों में से अधिकतर लोग पहली बार विधानसभा में आए हैं. चुनाव से पहले आखिरी दिन अक्सर कोई सदन में नहीं दिखता. हम आखिरी बिल इसलिए लेकर आए हैं कि हम दूसरी बार सरकार बना रहे हैं. हम सरकार में रहें या ना रहें जनता के बारे में सोचते रहेंगे.

ये भी पढ़ें- RTI में खुलासा, दिल्ली जलबोर्ड की लिस्ट में सबसे बड़ा डिफॉल्टर उत्तर रेलवे, 4192 करोड़ रुपये बकाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 1:01 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर