लाइव टीवी

स्वाति मालीवाल ने PM नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर की ये मांग

भाषा
Updated: December 15, 2019, 4:06 AM IST
स्वाति मालीवाल ने PM नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर की ये मांग
स्वाति मालीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर ‘दिशा विधेयक’ तत्काल लागू करने की मांग की है.

स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) बलात्कारियों को फांसी की सजा की मांग को लेकर पिछले 10 दिनों से भूख हड़ताल पर हैं. उन्होंने कहा कि दिशा विधेयक के पूरे देश में लागू होने तक वह अपना अनशन समाप्त नहीं करेंगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली महिला आयोग (DCW) की प्रमुख स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से पूरे देश में ‘दिशा विधेयक’ तत्काल लागू करने की मांग की है. बता दें कि दिशा विधेयक में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के मामलों को 21 दिन के भीतर निस्तारित करने और मौत की सजा का प्रावधान किया गया है.

दिल्ली महिला आयोग प्रमुख ने महिलाओं की सुरक्षा के मुद्दे पर केंद्र सरकार के अभी तक के उदासीन रवैया पर दुख जताया. मालीवाल बलात्कारियों को फांसी की सजा की मांग को लेकर पिछले 10 दिनों से भूख हड़ताल पर हैं. उन्होंने कहा कि दिशा विधेयक के पूरे देश में लागू होने तक वह अपना अनशन समाप्त नहीं करेंगी.

स्वाति मालीवाल की बिगड़ी हालत
शनिवार शाम में मालीवाल की हालत बिगड़ गई. डॉक्टरों और पुलिस ने उन्हें अस्पताल में भर्ती करने की सलाह दी, लेकिन उन्होंने इससे इनकार किया. स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक, उनके खून में यूरिक एसिड खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है और उनके गुर्दे क्षतिग्रस्त हो सकते हैं.

डॉक्टरों ने उन्हें अस्पताल में दाखिल करने की सलाह दी जिसके बाद पुलिस ने ऐंबुलेंस बुला ली लेकिन उन्होंने अस्पताल जाने से इनकार कर दिया. गौरतलब है कि शुक्रवार को आंध्र प्रदेश विधानसभा ने विधेयक को पारित कर दिया. प्रस्तावित नये कानून को उस पशुचिकित्सक को श्रद्धांजलि के तौर पर ‘आंध्र प्रदेश दिशा एक्ट क्रिमिनल लॉ एक्ट, 2019 नाम दिया गया है.

दरअसल तेलंगाना में महिला डॉक्टर से बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई थी. तभी से अपनी मांगों को लेकर स्वाती मालीवाल पिछले 12 दिनों से अनशन पर बैठीं हैं. जिसके चलते उनकी तबीयत बिगड़ गई है. उनका वजन 7 किलो कम हो गया है. डॉक्टरों ने उन्हें अनशन खत्म करने की सलाह दी है. डॉक्टरों का कहना है कि यदि वे अनशन नहीं खत्म करेंगे तो उनकी किडनी भी खराब हो सकती है.

ये भी पढ़ें: बड़ी उपलब्धि: इस मामले में दुनिया के टॉप 10 देशों में शामिल हुआ भारत

सावरकर पर संग्राम: अटल की कविता शेयर कर संजय राउत ने कांग्रेस को चिढ़ाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 4:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर