सावधान: आधी रात से दिल्ली-NCR में लग सकता है भीषण जाम, ये है वजह

News18Hindi
Updated: August 23, 2019, 5:04 PM IST
सावधान: आधी रात से दिल्ली-NCR में लग सकता है भीषण जाम, ये है वजह
टैग नहीं लगे होने से दिल्ली की सीमा में आने वाले रास्तों पर लग सकती हैं वाहनों की लंबी कतारें.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) के प्रवेश द्वारों पर शुक्रवार आधी रात के समय जाम की स्थिति बनने की आशंका है. यह भीड़ टैक्सी से लेकर उन ट्रकों और बसों की होगी, जिन्होंने पहले दी गई चेतावनी को दरकिनार कर अभी तक अपने वाहनों में RFID नहीं लगवाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2019, 5:04 PM IST
  • Share this:
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) के प्रवेश द्वारों पर शुक्रवार आधी रात के समय जाम की स्थिति बनने की आशंका है. इसका कारण यह है कि दिल्ली की सीमा में प्रवेश से पहले ही कॉमर्शियल वाहनों की बेतहाशा भीड़ लगने की आशंका है. यह भीड़ टैक्सी से लेकर उन ट्रकों और बसों की होगी, जिन्होंने कई दिन पहले दी गई चेतावनी को दरकिनार कर अभी तक अपने वाहनों में रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) टैग नहीं लगवाया है. आपको बता दें कि आरएफआईडी टैग के बिना कॉमर्शियल वाहनों का राजधानी की सीमाओं में शुक्रवार रात से प्रवेश पूरी तरह बैन होगा.

बिना टैग वाले वाहनों को नहीं दिया जाएगा दिल्ली में प्रवेश
इसके बारे में दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर निगम (आरएफआईडी टैग की नोडल एजेंसी) कई दिन पहले से ही प्रचार-प्रसार कर कॉमर्शियल वाहन चालकों और उनके मालिकों को सचेत कर रहे थे. इसे लागू करने से पहले दिल्ली नगर निगम ने कुछ रियायत भी दी थी. इसके बाद भी वाहनों पर टैग नहीं लग पाया है तो उन्हें किसी भी सूरत में राष्ट्रीय राजधानी की सीमा में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा.

बिक चुके हैं 2 लाख आरएफआईडी टैग

दिल्ली की सीमाएं उत्तर प्रदेश व हरियाणा से लगती हैं. इन्हीं सीमाओं पर बिना टैग लगे वाहनों की भीड़ बढ़ने से जाम लगने की आशंका है. इससे सबसे ज्यादा समस्या उन निजी वाहन चालकों को उठानी पड़ेगी, जो रात में राजधानी में प्रवेश करने वाले हैं या शहर से बाहर जाने वाले हैं. दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि, शुक्रवार दोपहर एक बजे तक 2 लाख के आसपास आरएफआईडी टैग बिक चुके हैं. बिके हुए टैग्स की यह संख्या हर रात दिल्ली में प्रवेश करने वाले कॉमर्शियल वाहनों की संख्या से बहुत कम है, इसलिए माना जा रहा है कि दिल्ली की सीमाओं के पास बिना टैग वाले वाहनों की भीड़ बढ़ने वाली है.

अपनाया जा सकता है 10 गुना ज्यादा जुर्माना वसूल करके प्रवेश करने का विकल्प
इससे सभी वाहन चालक परेशान होंगे, वहीं टोल कर्मियों को भी बिना टैग वाले वाहनों की भीड़ से निपटना मुश्किल भरा हो सकता है. यह भीड़ टैग लगे वाहनों को भी ट्रैफिक जाम में फंसा सकती है. जाम लगने की आशंका से दिल्ली नगर निगम के आला-अफसर भी इनकार नहीं कर रहे हैं. टैग की व्यवस्था के लिए नोडल एजेंसी बनाए गए दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के सूत्र बताते हैं कि भीड़ अगर ज्यादा बढ़ी तो 10 गुना ज्यादा जुर्माना वसूल करके कुछ दिन तक बिना टैग के वाहनों को प्रवेश दिए जाने का भी विकल्प है जो जाम से निजात दिलाने में मददगार होगा.
Loading...

ये होंगे फायदे
नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि वाहनों पर टैग के लगे होने से टोल-बूथ पर भीड़ नहीं लगेगी, जिससे ईंधन बचेगा. साथ ही प्रदूषण पर नियंत्रण पाने में भी काफी मदद मिलेगी और टोल टैक्स लेने का काम भी आसान हो जाएगा. वर्तमान समय में टोल बूथ पर एक वाहन से टोल लेने में 3 से 5 मिनट लगते हैं. टैग लगने के बाद समय की भी काफी बचत होगी.

ये भी पढे़ं - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 4:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...