लाइव टीवी

दुष्यंत चौटाला नहीं, अब इन आठ विधायकों के पास है सत्ता की चाबी, सरकार बनाने की ओर BJP!

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: October 25, 2019, 12:30 PM IST

Haryana Poll Results 2019: रणधीर सिंह, सोमवीर, बलराज कुंडू, धर्मपाल, नयनपाल रावत, गोपाल कांडा, राकेश दौलताबाद और रंजीत सिंह के हाथ में रहेगा सरकार बनाना, गिराना, बीजेपी को अब शायद लेना होगा दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) का साथ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2019, 12:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हरियाणा (Haryana) में बीजेपी (BJP) ने 2014 से कम सीटें जीती हैं. वो बहुमत से कुछ दूर है. फिर भी पार्टी का शीर्ष नेतृत्व यहां सरकार (Government) बनाने का दावा कर रहा है. यहां बीजेपी की सरकार बनाने को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) का आत्मविश्वास यूं ही नहीं झलक रहा है. दरअसल, जो सात निर्दलीय विधायक चुनकर आए हैं, उनमें से पांच बीजेपी के बागी हैं. बताया जा रहा है इन सभी को फोन कर सरकार में पद और मान सम्मान देने की बात करके मना लिया गया है. ये विधायक दिल्ली बुलाए गए हैं. गोपाल कांडा (Gopal Kanda) भी बीजेपी के पाले में चले गए हैं. ऐसे में पार्टी को सरकार बनाने के लिए 46 का जादुई आंकड़ा मिल गया है.

खुल गई किस्मत
हरियाणा विधानसभा चुनाव परिणाम (Haryana Election Results 2019) से यह साफ हो गया है कि किसी को बहुमत नहीं मिला, इससे सात निर्दलीय विधायकों और गोपाल कांड़ा की तो जैसे किस्मत ही खुल गई. अब ये लोग अपनी शर्तों पर बीजेपी को समर्थन देंगे. इसकी वजह से अब बीजेपी के कई नेताओं के मंत्री बनने का ख्वाब पूरा होता नहीं दिख रहा है.

 These 8 Independent MLAs hold key to form government in Haryana election Results 2019 PM Narendra Modi Amit Shah-Manohar Lal Khattar-dlop
हरियाणा की राजनीति के तीन बड़े चेहरे


इन नेताओं के हाथ में रहेगी सत्ता
बीजेपी के जो बागी प्रत्याशी निर्दलीय के तौर पर चुनाव जीते हैं, उनमें पुंडरी से रणधीर सिंह गोलेन शामिल हैं, जो भाजपा के पूर्व प्रत्याशी रह चुके हैं. दादरी से सोमवीर, महम से बलराज कुंडू, नीलोखेड़ी (सुरक्षित सीट) से धर्मपाल और पृथला से नयनपाल रावत शामिल हैं. इन सभी ने टिकट वितरण से निराश होकर बीजेपी के खिलाफ मैदान में उतर कर लड़ाई लड़ी. जीतकर यह साबित किया कि टिकट वितरण में कहीं न कहीं बीजेपी के बड़े नेताओं ने खासी चूक की. इसके अलावा हरियाणा लोकहित पार्टी के प्रमुख और इसके एकमात्र विधायक गोपाल कांडा ने भी बीजेपी को समर्थन दे दिया है.

जिन 2 अन्य नेताओं ने निर्दलीय चुनाव जीता है उनमें गुरुग्राम की बादशाहपुर सीट से राकेश दौलताबाद और रानिया से रंजीत सिंह शामिल हैं. बादशाहपुर से बीजेपी ने अपने मंत्री राव नरबीर सिंह की टिकट काट दिया था.
Loading...

Haryana Poll Results 2019, हरियाणा विधानसभा चुनाव परिणाम 2019, Independent MLAs elected in haryana, हरियाणा के निर्दलीय विधायक, दुष्यंत चौटाला, Dushyant Chautala, बीजेपी, BJP, हरियाणा, Haryana, सरकार, Government, पीएम नरेंद्र मोदी, Narendra Modi, अमित शाह, Amit Shah, गोपाल कांडा, Gopal Kanda, Haryana Election Results 2019, Manohar Lal Khattar, मनोहरलाल खट्टर
अब बीजेपी को शायद नहीं पड़ेगी दुष्यंत चौटाला की जरूरत


अब खट्टर की डगर आसान नहीं
वरिष्ठ पत्रकार नवीन धमीजा का कहना है कि खट्टर सरकार के छह मंत्री और पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष चुनाव हार गए हैं. इसलिए अब यहां बीजेपी पर बड़ा दबाव रहेगा. खट्टर सीएम बन जाएंगे क्योंकि वो पीएम मोदी की पसंद हैं, लेकिन वो शायद पहले की तरह काम न कर पाएं. वो अपने रूखे व्यवहार में शायद नरमी लाएंगे. विधायकों, मंत्रियों और सांसदों का काम करेंगे. दरअसल, अब उनकी सरकार पर न सिर्फ कांग्रेस और जेजेपी का दबाव रहेगा बल्कि अपनों का प्रेशर भी कम नहीं होगा.



ये भी पढ़ें: कौन हैं दुष्यंत चौटाला, जिनके हाथ में है सत्ता की चाबी?

क्यों फेल हुआ 'अबकी बार 75 पार' का नारा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 10:16 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...