एक्सीडेंट में वाहन कबाड़ होने पर ऐसे बचें पुलिस केस से, बीमा की भी मिलेगी पूरी रकम

हमलोग एक्सीडेंट या मियाद पूरी होने पर कबाड़ बन चुकी कार को बेच देते हैं, लेकिन अचानक से एक दिन पुलिस घर पहुंच जाती है और कहती है कि आपकी कार से एक बड़ा एक्सीडेंट हुआ है या लूट की घटना को अंजाम दिया गया है.

News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 10:14 AM IST
एक्सीडेंट में वाहन कबाड़ होने पर ऐसे बचें पुलिस केस से, बीमा की भी मिलेगी पूरी रकम
प्रतीकात्मक फोटो- कार कबाड़ हो जाने के बाद यह कदम उठाएं तो मिल जाती है बीमा की पूरी रकम.
News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 10:14 AM IST
बाइक हो या कार एक्सीडेंट में या मियाद पूरी होने पर कबाड़ हो जाती है. लेकिन ऐसे वक्त में हमारी एक गलती हमें पुलिस केस में भी फंसा सकती है और हम बीमा की रकम लेने से भी चूक जाते हैं. कई बार देखा गया है कि हम एक्सीडेंट (Accident) में या मियाद पूरी होने पर कबाड़ बन चुकी कार को बेच देते हैं, लेकिन अचानक से एक दिन पुलिस घर पहुंच जाती है और कहती है कि आपकी कार से एक बड़ा एक्सीडेंट हुआ है या उससे लूट-मर्डर किया गया है. कई बार तो बीमा (Insurance) कंपनी भी बीमा की रकम देने से इंकार कर देती है.

इस एक गलती से हम फंसते हैं पुलिस केस में

बाइक (Bike) या कार कबाड़ होने पर हम उसे कबाड़ मार्केट में बेच देते हैं. कई बार कबाड़ी हमसे उस बाइक या कार की आरसी (रजिस्ट्रेशन कॉपी) भी मांग लेता है. हम भी यह सोचकर आरसी दे देते हैं कि अब तो कार या बाइक कबाड़ हो गई है तो यह हमारे किस मतलब की. बस यही बड़ी गलती हम कर जाते हैं.

नियमानुसार बाइक या कार को कबाड़ में बेचने के लिए 14 दिन में हमें उस आरसी को आरटीओ ऑफिस से कैंसिल कराना होता है. नियम यह है कि जब आप बाइक या कार कबाड़ में बेचें तो एक आवेदन पत्र के साथ उस आरसी को आरटीओ ऑफिस में जमा करा दें.

प्रतीकात्मक फोटो- अगर एक्सीडेंट में कार कबाड़ होते ही ऐसा कर लें तो बच सकते हैं पुलिस केस से.


कबाड़ में बेचने के बाद ऐसे फंसते हैं पुलिस केस में

कबाड़ में बेची गई बाइक या कार के साथ अक्सर होता यह है कि उसका इंजन और चेसिस नम्बर काट लिया जाता है. उसके आधार पर कार चोर गैंग आरटीओ ऑफिस से कागज तैयार करा लेता है. फिर उस कार के नम्बर को उस जैसी ही दूसरी चोरी की कार पर लगाकर बेच दिया जाता है या फिर उससे बड़े-बड़े अपराध किए जाते हैं. जब किसी अपराध में वो कार पुलिस की निगाह में आ जाती है तो वो नम्बर के आधार पर उस मालिक तक पहुंच जाती है, जिसने कार को कबाड़ में बेचा था.
Loading...

बीमा कंपनी इसलिए नहीं करती रकम का भुगतान

कार या बाइक जब एक्सीडेंट में कबाड़ हो जाती है तो उसका बीमा भी लेना होता है. क्लेम करने के बाद बीमा की पूरी रकम मिलने की उम्मीद रहती है. लेकिन, बीमा कंपनी का भी यह नियम है कि अगर आपने कबाड़ हो चुकी बाइक या कार की आरसी को आरटीओ ऑफिस से कैंसिल नहीं कराया है तो वह आपको बीमा की रकम देने से इंकार कर सकती है.

यह भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इसलिए तोड़ा गया संत रविदासजी का मंदिर

तिहाड़ जेल के इन 12 बंदियों की वजह से 370 हटने पर भी शांत है कश्मीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 14, 2019, 9:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...