लाइव टीवी

DELHI-NCR में ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल, कैब-ऑटो नहीं चलने से मुसाफिरों की बढ़ी मुसीबत

News18Hindi
Updated: September 19, 2019, 1:13 PM IST
DELHI-NCR में ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल, कैब-ऑटो नहीं चलने से मुसाफिरों की बढ़ी मुसीबत
हड़ताल के दौरान दफ्तर व अन्य कामों के लिए कैब का प्रयोग करने वाले लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. क्योंकि पूरे दिल्ली-एनसीआर में कैब चालक हड़ताल पर रहेंगे. (फाइल फोटो)

नए मोटर व्हीकल एक्ट के विरोध में उतरी ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन, दिल्ली-एनसीआर में 51 संगठनों ने हड़ताल की घोषणा की, स्कूलों में कर दी गई छुट्टी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2019, 1:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में नए मोटर व्हीकल एक्ट लागू किए जाने के बाद से लगातार हो रहे भारी-भरकम चालान को लेकर ऑल इंडिया ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन आज सड़क पर उतर आया है. नए मोटर व्हीकल एक्ट के विरोध में सभी तरह की बसों, ऑटो, टैक्सियों और ऑटो रिक्शा को चलने नहीं दिया जा रहा है. बताया जाता है कि इस हड़ताल में 51 संगठन के कर्मचारी शामिल हुए हैं. हड़ताल के चलते दिल्ली-एनसीआर के ज्यादातर स्कूलों को बंद कर दिया गया है.

संयुक्त मोर्चा ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (यूएफटीए) के पदाधिकारियों ने कहा कि केंद्र और दिल्ली सरकार दोनों ने उन्हें हड़ताल बुलाने के लिए मजबूर किया है. उन्होंनेने कहा, हम पिछले 15 दिनों से केंद्र और दिल्ली सरकार दोनों से नए एमवी एक्ट से संबंधित अपनी शिकायतों के निवारण की मांग कर रहे हैं लेकिन हमारी मांग का अभी तक कोई समाधान नहीं निकला है.

ऑफिस पहुंचने में लोगों को हो रही देर
हड़ताल का असर अब दिल्ली-एनसीआर के लोगों पर दिखने लगा है. लोगों को ऑफिस पहुंचने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है. सरकारी कर्मचारी किशोरी लाल ने बताया कि वह ऑफिस जाने के लिए हमेशा बस का सफर करते थे लेकिन पिछले आधे घंटे से कोई बस नहीं आई है. किशोरी लाल ने बताया कि उन्हें ऑफिस पहुंचने में देर हो रही है इसलिए वह अब मेट्रो का सहारा ले रहे हैं.

डीटीसी बसों में बढ़ रही भीड़
यात्रियों के अतिरिक्त भार के कारण डीटीसी बसों में सामान्य से अधिक भीड़ दिखाई दे रही. कुछ ऑटोरिक्शा में यात्रियों को सफर करते देखा जा रहा है. हालांकि ऑटोरिक्शा चालकों का कहना है कि हड़ताल कर रहे एसोसिएशन के लोग उन्हें बीच रास्ते में ही रोक ले रहे हैं और सवारी को उतारने का दबाव बना रहे हैं.

स्कूलों ने कर दी बच्चों की छुट्टी
Loading...

हड़ताल की घोषणा के बाद दिल्ली-एनसीआर के कई स्कूलों ने छुट्टी कर दी है. स्कूल बस नहीं चलने के चलते ज्यादातर स्कूलों ने सातवीं क्लास तक की छुट्टी करने का निर्णय लिया है. वहीं कुछ स्कूलों ने सभी क्लास नहीं लगाने का फैसला किया है. इस संबंध में स्कूलों ने अभिभावकों को नोटिस भेजकर सूचित किया है. दिल्ली के अलावा एनसीआर में आने वाले- गाजियाबाद, गुरुग्राम (गुड़गांव) और नोएडा के स्कूलों ने भी छुट्टी की घोषणा कर दी है.

स्कूलों ने हड़ताल की घोषणा होते ही गुरुवार को बच्चों की छुट्टी कर दी.


मांगे नहीं मानी तो बड़ा करेंगे आंदोलन

इस संबंध में दिल्ली ऑटो टैक्सी यूनियन के अध्यक्ष किशन वर्मा ने कहा कि हम कोई भी पीली प्लेट वाली गाड़ी सड़कों पर नहीं चलने दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि महंगाई काफी बढ़ गई है और ऐसे में जुर्माने की भारी भरकम राशि देना बस की बात नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारी मांग है इस नए मोटर व्हीकल एक्ट को वापस लिया जाए और एमसीडी की तरफ से जो आर एफ टैक्स वसूला जा रहा है उसे वापस लिया जाए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं होता है तो आगे आंदोलन बड़ा होगा.



ये भी पढ़ें: अगर आपके पास है ई-सिगरेट तो तुरंत करना होगा ये काम, नहीं तो जाना पड़ेगा जेल!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2019, 5:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...