सफदरजंग अस्पताल में डॉक्टरों से मारपीट, अनिश्‍चितकालीन हड़ताल पर गए चि‌कित्सक

News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 9:32 AM IST
सफदरजंग अस्पताल में डॉक्टरों से मारपीट, अनिश्‍चितकालीन हड़ताल पर गए चि‌कित्सक
डॉक्टरों की मांग है कि उन्हें कार्य स्‍थल पर सुरक्षा मुहैया करवाई जाए ताकि भविष्य में इस तरह की वारदात न हो. (फाइल फोटो)

मरीज की मौत के बाद 10 लोगों के किया ऑन ड्यूटी दो रेडिजेंट डॉक्टरों पर हमला, अरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2019, 9:32 AM IST
  • Share this:
दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल के दो डॉक्टरों के साथ मारपीट का मामला होने के बाद अब डॉक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. बताया जा रहा है कि एक मरीज की मौत के बाद गुरुवार को परिजन ने दो रेजिडेंट डॉक्टरों के साथ मारपीट की थी. इस दौरान एक डॉक्टर घायल हो गया था. इस वारदात के बाद रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा की. डॉक्टरों की मांग है कि उन्हें कार्य स्‍थल पर सुरक्षा मुहैया करवाई जाए ताकि भविष्य में इस तरह की वारदात न हो.

दस लोगों ने किया हमला
रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के प्रकाश ठाकुर ने बताया कि सफदरजंग में एक मरीज की इलाज के दौरान मौत हो जाने के बाद वहां ड्यूटी पर मौजूद दो रेजिडेंट डॉक्टरों पर दस लोगों ने हमला कर दिया. इस दौरान दोनों को ही चेहरे, सिर, पीठ, पेट और पैरों पर चोट आई है. आरोपियों के खिलाफ पुलिस में मामला भी दर्ज करवा दिया गया है और अब डॉक्टरों ने मांग की है कि आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए.


Loading...

शराब के कारण खराब था लीवर
ठाकुर ने बताया कि डॉक्टरी जांच में पता चलता है कि जिस मरीज की मौत हुई है उसका लीवर शराब पीने के चलते पूरी तरह से खराब था और साथ ही उसको अन्य परेशानियां भी थीं. मरीज पहले से ही गंभीर तौर पर बीमार था जिसके चलते उसकी मौत हुई है. जिसके बाद डॉक्टरों पर उसके परिजन व साथ के कुछ लोगों ने हमला कर दिया.

लंबे समय से सुरक्षा की मांग
उल्लेखनीय है कि कार्यस्‍थल पर सुरक्षा को लेकर डॉक्टरों की मांग काफी पुरानी है. किसी भी तरह के बिगड़ते हालात के दौरान मरीज के साथ मौजूद लोगों का गुस्सा सीधे डॉक्टरों पर निकलता है. ऐसे में कई बार डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटनाएं हो चुकी हैं. जिसके चलते डॉक्टर अस्पताल में सुरक्षा व्यवस्‍था की मांग कर रहे हैं. पश्चिम बंगाल के नील रत्न सरकार मेडिकल कॉलेज में 10 जून को हुई मारपीट की घटना ने भी देशभर में तूल पकड़ा था और इसके बाद देशभर के कई अस्पतालों के डॉक्टरों ने हड़ताल की घोषणा कर दी थी. इस दौरान दिल्ली के 18 अस्पतालों में भी डॉक्टरों ने काम ठप कर दिया था. एनआरएस मेडिकल कॉलेज में एक 75 साल के मरीज की मौत हो गई थी. जिसके बाद परिजन ने डॉक्टरों के साथ अभद्रता की थी. गुस्साए डॉक्टरों ने परिजन से माफी की मांग की थी और तब तक मृत्यु प्रमाण पत्र न देने की बात कही थी.

ये भी पढ़ें- भारत vs पाक: किसकी मिसाइलें किस पर पड़ेंगी भारी?

अब ड्रोन हमलों से निपटने के लिए केंद्र बना रहा खास प्‍लान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 4:49 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...