सोशल मीडिया पर अश्लील फोटो अपलोड करते हैं या ऐसी फोटो पर कमेंट करते हैं तो संभल जाएं

शरारती और अराजक तत्वों के द्वारा आए दिन किसी न किसी महिला का फोटो या वीडियो पॉर्न साइट्स पर डाल कर उसे बदनाम किया जाता है, लेकिन अब इस तरह के काम करने वाले लोग हो जाएं सावधान.

News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 8:42 PM IST
सोशल मीडिया पर अश्लील फोटो अपलोड करते हैं या ऐसी फोटो पर कमेंट करते हैं तो संभल जाएं
पुलिस आईटी एक्ट के साथ आईपीसी के तहत भी मामला दर्ज कर सकती है.
News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 8:42 PM IST
शरारती और अराजक तत्वों के द्वारा आए दिन किसी न किसी महिला का फोटो या वीडियो पॉर्न साइट्स पर डाल कर उसे बदनाम किया जाता है. किसी युवती या महिला का अश्लील फोटो या वीडियो वायरल होने के बाद वह मदद के लिए इधर-उधर का चक्कर लगाती फिरती रहती है. लेकिन, अब इस तरह के काम करने वाले लोगों की चिंताएं बढ़ने वाली हैं. इस तरह के वीडियो या फोटो अपलोड करने वाले लोग अब सावधान हो जाएं. ऐसे मामलों में अब पुलिस आईटी एक्ट के साथ आईपीसी के तहत भी मामला दर्ज कर सकती है. हालांकि, मोदी सरकार इसके लिए आईटी एक्ट में भी और बदलाव की गुजाइंश तलाश रही है.

बता दें कि भारत में इन दिनों फेक न्यूज यानी फर्जी और झूठी खबरें लोगों की जिंदगी और कानून व्यवस्था के लिए बड़ा खतरा बनता जा रहा है. फेक न्यूज के जरिए समाज में मतभेद पैदा करने के लिए असामाजिक तत्व आजकल सबसे ज्यादा सोशल मीडिया का सहारा ले रहे हैं. आपसी दुश्मनी या गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप होने के बाद प्रेमी फोटो या वीडियो सोशळ साइट्स पर अपलोड कर अपना भड़ास निकालते हैं, लेकिन इस बदले की कार्रवाई में कई की जान भी चली जाती है.

अश्लील फोटो अपलोड करते हैं तो आप पर आईटी कानून के तहत कार्रवाई करने का प्रावधान है
अश्लील फोटो अपलोड करते हैं तो आप पर आईटी कानून के तहत कार्रवाई करने का प्रावधान है


अश्लील फोटो पर कमेंट या लाइक करने से बचें

दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर रहे और रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी एसबीएस त्यागी न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहते हैं, ‘अगर आप किसी को गंदे कमेंट और अश्लील फोटो अपलोड करते हैं तो आप पर आईटी कानून के तहत कार्रवाई करने का प्रावधान है. आईटी एक्ट (सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम इलेक्ट्रानिक संचार माध्यमों) के बीच होने वाले मैसेज, फोटो और आंकड़ों के आदान-प्रदान पर लागू होता है.

इस एक्ट के धारा 66 ए के तहत झूठे और आपत्तिजनक कमेंट करने पर सजा का प्रावधान है. कंप्यूटर या अन्य संचार माध्यमों से ऐसे संदेश भेजना सख्त मना है. अगर आपके अनुमति के वगैर कोई संदेश या फोटो भेजा जाता है, जिससे किसी को  परेशानी, असुविधा, खतरा, अपमान, सांप्रदायिकता और अपराधिक उकसावा की बात आती है तो इस पर कम से कम तीन साल की सजा और जुर्माना के प्रावधान हैं.’

सोशल साइट पर सेक्सुअल सामग्री का आदान-प्रदान या चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने या उसे किसी और को भेजना कानूनी तौर पर गलत है
सोशल साइट पर सेक्सुअल सामग्री का आदान-प्रदान या चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने या उसे किसी और को भेजना कानूनी तौर पर गलत है

Loading...

ऑनलाइन पोर्नोग्राफी देखने पर भी हो सकती है सजा
साइबर एक्सपर्ट का भी मानना है कि सोशल साइट पर सेक्सुअल सामग्री का आदान-प्रदान या चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने या उसे किसी और को भेजना कानूनी तौर पर गलत है. अगर इस पर शिकायत होती है तो पांच साल की सजा और जुर्माना हो सकता है.

सुप्रीम कोर्ट के वकील और साइबर कानून के जानकार पवन दुग्गल कहते हैं, ‘देश को साइबर सुरक्षा पर बहुत अधिक काम करने की जरूरत है. देश में साइबर सुरक्षा से जुड़े कानून ही नहीं हैं. अभी तक आईटी कानून- 2013 को भी अमल में नहीं लाया गया. हमारे देश में साइबर हमले के बारे में रिपोर्ट करने का रिवाज ही नहीं है. सरकार को कई ठोस कदम उठाने की जरूरत है. भारत में इस समय साइबर सुरक्षा से जुड़ा कोई मजबूत कानून नहीं है.'

फर्जी एकाउंट पर भी हो सकती है सजा
हाल के दिनों में देश की हाईटेक पुलिस में शुमार की जाने वाली दिल्ली पुलिस ने भी साइबर क्राइम को लेकर कई कदम उठाए हैं. साइबर अपराध की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने अपने पुरानी साइबर सेल को नए सिरे से पुनर्गठित करने की शुरुआत कर दी है. दिल्ली के हर थाने में एक साइबर तकनीकी अधिकारी की नियुक्ति से लेकर आधुनिक तकनीक के सारे साजो-सामान मुहैया कराने की बात कही जा रही है.

आपत्तिजनक पोस्ट, ट्रोल और धमकी जैसी घटनाओं को देखते हुए अब साइबर सेल में भी एक पूरी फौज खड़ी की जा रही है
आपत्तिजनक पोस्ट, ट्रोल और धमकी जैसी घटनाओं को देखते हुए अब साइबर सेल में भी एक पूरी फौज खड़ी की जा रही है


महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट, ट्रोल और धमकी जैसी घटनाओं को देखते हुए अब साइबर सेल में भी एक पूरी फौज खड़ी की जा रही है. इसके लिए जल्द ही राष्ट्रीय महिला आयोग साइबर पीस फाउंडेशन के साथ मिलकर 60 हजार लड़कियों और महिलाओं को ट्रेंड करेगा.

वर्तमान में आईटी एक्ट के तहत सजा के प्नावधान

  • ऑन लाइन प्रताड़ित और पोर्नोग्राफी देखने पर 5 साल से 7 साल तक की सजा और जुर्माना के प्रावधान

  • अश्लील फोटो अपलोड और कमेंट करने पर 3 साल से 7 साल तक सजा और जुर्माना के प्रावधान

  • सोशल साइट्स पर कमेंट करने पर  5 साल तक के सजा और जुर्माना के प्रावधान

  • फर्जी एकाउंट बनाने या दूसरे के एकाउंट के साथ छेड़छाड़ करने पर 3 साल की सजा और जुर्माना के प्रावधान


ये भी पढ़ें:

किस पाकिस्तानी PM ने चुपके से कर ली थी शादी, उसके बाद वहां ट्रिपल तलाक हुआ बैन

हरियाणा की बेटी शामिया बनेगी पाकिस्तानी क्रिकेटर हसन अली की दुल्हन, अगले माह होगा निकाह

पाकिस्तान से भारत आ रहे हैं खेती-किसानी के दुश्मन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 8:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...