केरल और बंगाल में स्थापना दिवस पर विशेष आयोजन करेगी विश्व हिंदू परिषद, ये है कारण

विहिप (Vhp) इस वर्ष अपने स्थापना दिवस पर केरल (Kerala) और बंगाल (West Bengal) में विशेष कार्यक्रमों का आयोजन करेगा. विहिप का मानना है की इन राज्यों में सरकारें तुष्टिकरण (appeasement) की नीति पर चल रही हैं. केरल-बंगाल में लोगों को 'जय श्रीराम' बोलने की भी आजादी नहीं है

vineet kumar | News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 5:34 PM IST
केरल और बंगाल में स्थापना दिवस पर विशेष आयोजन करेगी विश्व हिंदू परिषद, ये है कारण
जन्माष्टमी पर केरल-बंगाल में विशेष आयोजन करेगी विहिप
vineet kumar | News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 5:34 PM IST
सन 1964 में जन्माष्टमी के दिन विश्व हिन्दू परिषद की स्थापना हुई थी. तब से हर साल विहिप इस दिन विशेष आयोजन करता है. लेकिन विहिप इस वर्ष जन्माष्टमी में केरल और बंगाल में विशेष कार्यक्रमों का आयोजन करेगा. वीएचपी का मानना है की इन राज्यों की सरकारें तुष्टिकरण की नीति पर चल रही हैं. केरल-बंगाल में लोगों को 'जय श्रीराम' बोलने की भी आजादी नहीं है, लोगों को प्रताड़ित किया जा रहा है. इसलिए वीएचपी इन राज्यों पर विशेष ध्यान देने की रणनीति बना रहा है.

केरल-बंगाल में विशेष आयोजन
1964 में जन्माष्टमी के दिन अपनी स्थापना के बाद से विहिप अपने प्रत्येक स्थापना दिवस को धूमधाम से मनाता आ रहा है. इस वर्ष भी जन्माष्टमी के दिन विहिप अपने लक्ष्य हिंदू और हिंदू समाज के विकास को लेकर आत्मचिंतन और आत्ममंथन करेगा. इस बार बंगाल और केरल में विहिप अपने जन्मोत्सव के कार्यक्रमों को विशेष तौर पर आयोजित करेगा.  वीएचपी का मानना है की बंगाल और केरल में वहां की राज्य सरकारें अभी भी तुष्टिकरण की नीति पर चल रही हैं, इस कारण हिंदू समाज के लोगों को प्रताड़ित किया जा रहा है. हालिया लोकसभा चुनाव में बीजेपी के बंगाल में मिली जीत से भी वीएचपी काफी उत्साहित है.

केरल-बंगाल के लिए विशेष रणनीति बना रही वीहिप


ऐसा होगा आयोजन
वीएचपी के स्थापना दिवस और कृष्णाष्टमी के दिन रैली, मशाल जुलूस, प्रभात फेरी, सत्संग जैसे कई समारोह आयोजित किए जाएंगे. इन कार्यक्रमों में गोलवलकर के आदर्शों की भी चर्चा की जाएगी. जम्मू कश्मीर से धारा 370 को खत्म किए जाने का भी इन कार्यक्रमों में जश्न मनाया जाएगा. इस आयोजन में विहिप, बजरंग दल, दुर्गा वाहिनी, हिंदू वाहिनी सेना के केंद्रीय पदाधिकारी, कार्यकर्ता और साधू संत शामिल होंगे.

ये भी पढ़ें -
Loading...

ममता बनर्जी पर दिखने लगा है प्रशांत किशोर की रणनीति का असर!
श्रीनगर पहुंचे डोभाल, बकरीद के मौके पर लाल चौक समेत कई इलाकों का किया दौरा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 12, 2019, 5:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...