लाइव टीवी

Delhi Air Pollution: नियम उल्लंघन पर कटे 99,000 से ज्यादा चालान, 14 करोड़ रुपए का जुर्माना

News18Hindi
Updated: November 5, 2019, 11:00 PM IST
Delhi Air Pollution: नियम उल्लंघन पर कटे 99,000 से ज्यादा चालान, 14 करोड़ रुपए का जुर्माना
दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण ने विकराल रुप धारण कर लिया है. (फाइल फोटो)

एक अधिकारी ने बताया, 'विभिन्न एजेंसियों ने 13.99 करोड़ रुपये का जुर्माना (Penalty) लगाया. विशेष अभियान के तहत नगर निगमों और लोक निर्माण विभाग (PWD) ने 16 अक्टूबर से 29,044 मीट्रिक टन निर्माण मलबा उठाया.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2019, 11:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में वायु प्रदूषण (Air Pollution) रोकने के लिए बनाए गए नियमों का उल्लंघन करने वालों पर 14 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया और 99,202 चालान काटे गए. आधिकारिक आंकड़ों में इसका ब्यौरा दिया गया है. दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (DPCC), दिल्ली राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड, लोक निर्माण विभाग, जिला मजिस्ट्रेटों और नगर निगमों द्वारा गठित 300 दलों ने कचरा फेंकने-जलाने, मलबा डालने और निर्माण गतविधियों जैसे उल्लंघन की जांच के लिए 19,100 निरीक्षण किए.

13.99 करोड़ रुपये का जुर्माना

एक सरकारी अधिकारी ने बताया, 'विभिन्न एजेंसियों ने 13.99 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया. विशेष अभियान के तहत नगर निगमों और लोक निर्माण विभाग ने 16 अक्टूबर से 29,044 मीट्रिक टन निर्माण मलबा उठाया.'

15 दिन में उल्लंघन करने वालों ने 57 लाख रुपये जमा कराए


डीपीसीसी ने पीडब्ल्यूडी, केंद्रीय लोक निर्माण विभाग, एनबीसीसी लिमिटेड और दिल्ली विकास प्राधिकरण जैसे विभिन्न सरकारी एजेंसियों को प्रमुख निर्माण स्थलों पर धूल नियंत्रण मानदंडों के उल्लंघन के लिए दंडित किया है. बयान में कहा गया कि पिछले 15 दिन में उल्लंघन करने वालों ने 57 लाख रुपये जमा कराए हैं. डीपीसीसी द्वारा धूल को नियंत्रित करने के दिशा-निर्देश के उल्लंघन के लिए रेडी मिक्स कंक्रीट प्लांट पर भारी जुर्माना लगाया गया.

अस्पतालों में सांस के मरीजों की संख्या बढ़ने लगी
Loading...


बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण ने विकराल रूप धारण कर लिया है. हर तरफ अफरा-तफरी है. अस्पतालों में सांस के मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है तो अंतरराष्ट्रीय खेल-प्रतियोगिता पर भी ग्रहण लगता दिख रहा है. विदेशी सैलानी दिल्ली-एनसीआर छोड़ रहे हैं तो इस मौसम में कोई विदेशी दिल्ली-एनसीआर आने से बच रहा है.

ये भी पढ़ें: 

तीस हजारी कोर्ट झड़प मामले की जांच करेंगे हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज, अन्य एजेंसियां करेंगी सहयोग

तीस हजारी कोर्ट झड़प मामलाः पहले केंद्र, दिल्ली सरकार और बार काउंसिल को नोटिस भेज हाईकोर्ट ने दिखाई तल्‍खी, फिर कहा- दोनों पक्ष करें सुलह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 10:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...