...तब हम गांधी जयंती और हिंदी दिवस लाहौर में मनाएंगे: इंद्रेश कुमार

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के नेता इंद्रेश कुमार (Indresh Kumar) मानना है कि आने वाले सालों में महात्मा गांधी जयंती (Mahatma Gandhi Birth Anniversary) का उत्सव लाहौर में मनाया जाएगा.

News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 9:03 PM IST
...तब हम गांधी जयंती और हिंदी दिवस लाहौर में मनाएंगे: इंद्रेश कुमार
इंद्रेश कुमार ने कहा, '1947 के पहले पाकिस्तान दुनिया के नक्शे में नहीं था. मेरा मानना है कि ये भविष्य में दुनिया के नक्शे में नहीं होगा.
News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 9:03 PM IST
नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के नेता इंद्रेश कुमार (Indresh Kumar) मानना है कि आने वाले सालों में गांधी जयंती (Mahatma Gandhi Birth Anniversary) का उत्सव लाहौर में मनाया जाएगा. उनका तर्क है कि पाकिस्तान (Pakistan) के भीतर चल रहा अलगाववादी आंदोलन (Separatist Movement) देश को तोड़ देगा. ये बात उन्होंने शुक्रवार को देश की राजधानी दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान कही.

इंद्रेश कुमार ने कहा, '1947 के पहले पाकिस्तान दुनिया के नक्शे में नहीं था. मेरा मानना है कि ये भविष्य में दुनिया के नक्शे में नहीं होगा. और अगर ऐसा होता है तो हम बापू जयंती और हिंदी दिवस लाहौर में मनाएंगे.'

इंद्रेश कुमार ने यह भी कहा कि पाकिस्तान का जन्म बंटवारे के बाद हुआ था. इसके बाद 1971 में ये देश एक बार फिर बंट गया. वर्तमान स्थिति यह है कि पाकिस्तान 5 से 6 हिस्सों में टूटने की कगार पर है. पश्तुनिस्तान, बलोचिस्तान और सिंध पाकिस्तान से अलग होना चाहते हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक पाक दिन ब दिन कमजोर होता जा रहा है.

अमित शाह का बयान

गौरतलब है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी संसद में बयान दिया था कि पाक अधिकृत कश्मीर और अक्साई चीन भारत के हिस्से हैं और हम इन्हें दोबारा हासिल करेंगे.

इमरान की रैली
इंद्रेश कुमार के बयान को महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि शुक्रवार को ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीरियों के समर्थन के लिए मुजफ्फराबाद में रैली की है. भारतीय सरकार द्वारा आर्टिकल 370 और 35 A की समाप्ति के बाद इमरान खान ने पाक अधिकृत कश्मीर में ये दूसरी यात्रा की है.
Loading...

कांग्रेस के 'प्रेरक 'पर बोले इंद्रेश कुमार
हाल ही में कांग्रेस ने प्रेरक की नियुक्ति की बात कही थी. इसे कई जानकारों ने आरएसएस के प्रचारकों के तर्ज पर उठाया कदम माना था. इसे लेकर इंद्रेश कुमार का कहना है कि कांग्रेस प्रचारक नहीं बना सकती क्योंकि इसके लिए समर्पण और बलिदान की जरूरत है. उनके मुताबिक प्रचारक बनना एक मिशन है. अगर आपके पास मिशन नहीं तो आप प्रचारक नहीं बन सकते.
ये भी पढ़ें:

रेलवे ने हमसफर एक्सप्रेस से फ्लेक्सी किराया हटाया, तत्काल चार्ज में भी कटौती

कांग्रेस नेता शिवकुमार को कोर्ट ने 17 सितंबर तक ED की हिरासत में भेजा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2019, 8:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...