सीजफायर के बाद प्रधानमंत्री की यात्रा: मोदी से क्या चाहता है जम्मू-कश्मीर?

रमजान में कंडीशनल सीजफायर का जम्मू-कश्मीर में पॉजिटिव संदेश गया है....लोगों की उम्मीद बढ़ी है

News18Hindi
Updated: May 18, 2018, 11:42 AM IST
सीजफायर के बाद प्रधानमंत्री की यात्रा: मोदी से क्या चाहता है जम्मू-कश्मीर?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
News18Hindi
Updated: May 18, 2018, 11:42 AM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 19 मई को अपनी दो दिवसीय यात्रा पर जम्‍मू-कश्‍मीर पहुंचने वाले हैं. रमजान महीने दौरान कंडीशनल सीजफायर के बाद मोदी की यात्रा के मायने क्या हैं. उनसे कश्मीर वैली और जम्मू के लोग क्या चाहते हैं?

न्यूज18 जम्मू-कश्मीर के संपादक मनोज कौल कहते हैं "पीएम ने अपने दौरे से पहले जो सीजफायर किया है उससे कश्मीर में पहली नजर में पॉजिटिव सिग्नल गया है. अलगाववादी की बात छोड़ दें तो आम लोग इसे कदम को पसंद कर रहे हैं. जबकि कुछ लोग मानते हैं कि कुछ और की जरूरत है. पहला ये कि क्या ये सीजफायर एक माह के लिए ही होगा. यदि बढ़ाया जाए तो ज्यादा अच्छा होगा. दूसरी बात ये कि क्या सीज फायर से ही काम चलेगा?"

कौल के मुताबिक "सीजफायर हो गया तो इससे हालात सामान्य हो सकते हैं. आम लोगों को राहत तो मिल सकती है. लेकिन लोग मानते हैं कि इसके बाद इसे बढ़ाया जाए. साथ ही एक राजनीतिक पहल की जाए ताकि जो ओवरऑल समस्या है उसे अड्रेस करने की कोशिश शुरू हो. लोगों के अंदर ये फीलिंग आ जाए कि अब बंदूक की जरूरत शायद कम हो जाए. अलगाववादी जो करते हैं उसकी जरूरत नहीं पड़ेगी. कुल मिलाकर ज्यादातर लोग इसे अच्छी पहल बता रहे हैं."

"महबूमा मुफ्ती को भी इससे फायदा होता दिख रहा है. पहले कठुआ मामले में और अब फिर कंडीशनल सीजफायर. सीजफायर के बाद उम्मीद बढ़ी है इसलिए कश्मीर के ज्यादातर लोग राजनीतिक पहल ही चाहते है मोदी सरकार से, ताकि बंदूक की प्रासंगिकता कम हो जाए. लेकिन गुर्जर और बकरवाल उनसे रोजगार और विकास चाहते हैं. वो चाहते हैं कि उन्हें रिजर्वेशन का लाभ मिले. लेह लद्दाख एरिया और जम्मू के लोग भी मोदी सरकार से डेवलमेंट ही चाहते हैं."

 Narendra Modi, Union government, conditional ceasefire, Jammu and Kashmir, Ramzan, Separtists, Sher-e-Kashmir University of Agricultural Sciences and Technology, Ladakh, Kishanganga Hydroelectric Plant, NHPC, नरेंद्र मोदी, केंद्र सरकार, सशर्त युद्धविराम, जम्मू-कश्मीर, रमजान, अलगाववादी, शेर-ए-कश्मीर कृषि विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लद्दाख, किशनगंगा विद्युत प्रोजेक्ट, एनएचपीसी, Mehbooba Mufti, महबूबा मुफ्ती, पीएम नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर यात्रा         रमजान में सीजफायर के बाद क्या बदलेगी घाटी की तस्वीर?

दो दिन की यात्रा में क्या-क्या करेंगे मोदी

प्रस्‍तावित कार्यक्रम के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी 19 मई को श्रीनगर पहुंचेगे, जहां वह 330 मेगावॉट क्षमता वाले किशनगंगा हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्‍ट की शुरुआत करेंगे. 19 मई को ही प्रधानमंत्री लेह के लिए रवाना हो जाएंगे, जहां वह कुशक बकुला की 100वीं वर्षगांठ समारोह में हिस्‍सा लेंगे. 20 मई को प्रधानमंत्री जम्‍मू में विश्‍वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर