दिल्ली पुलिस हाल के वर्षों में अपराध होने के बाद ही हरकत में क्यों आती है?

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर से राजधानी की बिगड़ती कानून व्यवस्था को मुद्दा बना कर केंद्र सरकार पर हमला तेज कर दिया है.

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 12:54 PM IST
दिल्ली पुलिस हाल के वर्षों में अपराध होने के बाद ही हरकत में क्यों आती है?
दिल्ली में बढ़ते अपराध पर लगाम लगाने की कवायद शुरू
Ravishankar Singh
Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: July 7, 2019, 12:54 PM IST
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर से राजधानी की बिगड़ती कानून व्यवस्था को मुद्दा बना कर केंद्र सरकार पर हमला तेज कर दिया है. केजरीवाल ने शनिवार को द्वारका रेप पीड़िता मासूम बच्ची से मुलाकात के बाद दिल्ली की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं.बीते दिनों द्वारका सेक्टर-23 में एक युवक ने छह साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म कर झाड़ियों में फेंक दिया था. बच्ची को राहगीरों की मदद से अस्पताल पहुंचाया गया. इस समय बच्ची का इलाज दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में चल रहा है. बच्ची की हालत स्थिर है, लेकिन उसकी हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है. मासूम बच्ची के साथ बलात्कार को लेकर लोगों में काफी गुस्सा है.

दिल्ली के पूर्व पुलिस कमिश्नर अजय राज शर्मा के मुताबिक पुलिस को प्रोएक्टिव होना पड़ेगा


शनिवार को अरविंद केजरीवाल मीडिया से बात करते हुए कहा, 'मैं बच्ची के परिजनों से मिल कर हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है. दिल्ली सरकार पीड़िता के परिवार को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देगी. साथ ही परिवार को आरोपी शख्स को सजा दिलाने के लिए एक वकील भी मुहैया कराएगी. सफदरजंग के डॉक्टरों से भी बच्ची के इलाज के बारे में जानकारी ली है. अभी फिलहाल पीड़ित बच्ची की स्थिति स्थिर है और वह अब खतरे से बाहर है. दिल्ली की बिगड़ती कानून व्यवस्था चिंताजनक है. इसी हफ्ते पुलिस कमिश्नर से बिगड़ती कानून व्यवस्था पर मुलाकात करूंगा.’

अपराधियों में कानून का डर निकल गया है?

दिल्ली के पूर्व पुलिस कमिश्नर अजय राज शर्मा दिल्ली में बढ़ते क्राइम को लेकर न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहते हैं, 'देखिए दिल्ली में बढ़ते क्राइम का डाटा हमारे पास तो नहीं है, लेकिन जहां तक मुझे समझ में आ रहा है, क्राइम इतना हो गया है कि लोग अब चर्चा करने लगे हैं. अगर पुलिस की एक्टिविटी कम है तो स्वाभाविक तौर पर क्राइम और क्रिमिनल्स बढ़ेंगे. अपराधियों में अगर कानून के लिए डर निकल गया है तो वह खुलकर वारदात को अंजाम देंगे.

अपराधियों पर अगर नकेल कसनी है तो पुलिस को प्रोएक्टिव होना पड़ेगा. दिल्ली के हर थाने को रिएक्टिव होने से काम नहीं चलेगा. हर थाने को एक-एक अपराधी पर नजर रखनी पड़ेगी और चिन्हित कर उस पर कार्रवाई करना होगा. हर थाने को इलाके से हार्डेन क्रिमिनल्स को उठाना पड़ेगा. हर थाने को एक क्रिमिनल प्लान तैयार करना होगा और सीनियर्स अधिकारियों को खुद थाने पर नजर पड़ेगी कि थाने ने कार्रवाई की है या नहीं'

पुलिस को रिएक्टिव नहीं प्रोएक्टिव होना पड़ेगा
Loading...

अजय राज शर्मा आगे कहते हैं, 'देखिए पुलिस अगर रिएक्टिव हो कर कार्रवाई करती है तो वारदात में कमी नहीं आएगी. पुलिस को प्रोएक्टिव हो कर काम करना होगा. पुलिस को क्राइम होने के बाद नहीं क्राइम होने से पहले ही अपराधियों के पीछे लगना होगा. दिल्ली में इस समय प्रोएक्टिव पुलिसिंग की जरूरत है न कि रिएक्टिव पुलिसिंग की. पुलिस जब प्रोएक्टिव होगी तो क्रिमिनल्स भाग खड़े होंगे और क्राइम का ग्राफ अपने आप गिर जाएगा.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल इसी हफ्ते दिल्ली के सीपी से मुलाकात करेंगे


बता दें कि बेशक दिल्ली में इस समय क्राइम का ग्राफ बढ़ गया है, लेकिन अरविंद केजरीवाल के दिल्ली के सीएम बनने के साथ ही 'आप' और दिल्ली पुलिस के बीच अदावत शुरू हो गई थी, जो समय-समय पर क्राइम बढ़ने के नाम पर चलता रहता है. दिल्ली में जब-जब अपराध बढ़ने की खबर सामने आती है इस पर सियासत भी तेज होने लगती है. आम आदमी पार्टी इस मुद्दे को हर बार जोर-शोर से उठाती है, लेकिन केंद्र सरकार के अधीन काम करने वाली दिल्ली पुलिस पर इसका कोई असर नहीं पड़ता है.

सड़क पर पुलिस दिखती है, लेकिन अपराध कम क्यों नहीं होते?
आने वाले कुछ ही महीनों में दिल्ली में विधानसभा का चुनाव होने हैं. ऐसे में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर इस बार दिल्ली पुलिस को केंद्र सरकार की तरफ से भी जमकर फटकार लग रही है.  चांदनी चौक में पार्किंग विवाद का मामला हो या फिर मुखर्जी नगर में ऑटो ड्राइवर की पिटाई का मामला दिल्ली पुलिस की इन मामलों में काफी किरकिरी हुई है.

हाल के दिनों में दिल्ली में क्राइम की घटनाओं में काफी तेजी आई है


देश के गृह मंत्री अमित शाह ने भी पिछले सप्ताह दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को तलब कर लॉ-एंड ऑर्डर को दुरुस्त करने की सख्त हिदायत दी थी. इसी का नतीजा है कि दिल्ली पुलिस पिछले कुछ दिनों से सड़कों पर कुझ ज्यादा ही सतर्क और चौकन्नी नजर आ रही है. दिल्ली पुलिस कमिश्नर खुद दिल्ली की सड़कों पर देर रात तक गश्त लगा रहे हैं. इसके बावजूद अपराधी कानून व्यवस्था को धता बताते हुए बेखौफ हो कर वारदात को अंजाम दे रहे हैं.

बीते दिनों दिल्ली के मॉडल टाउन में 30 जून की रात को घटना ने तो दिल्ली पुलिस की नींद छीन ली है. इस वारदात की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दिल्ली पुलिस की और फजीहत हो रही है. मॉडल टाउन के गुजरांवाला इलाके में पिस्टल की नोक पर मर्सडीज कार सवार एक दंपत्ति को बदमाशों ने लूट लिया. पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई.

ये भी पढ़ें:

आज से FIR के लिए आपको नहीं जाना पड़ेगा थाने, नोएडा पुलिस खुद आएगी आपके पास

गरीबों को लेकर मोदी सरकार ने चला बड़ा दांव, जानें क्या हैं योजनाएं

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp
First published: July 7, 2019, 12:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...