हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे रहे हैं पार्टी नेता तो इतनी आक्रामक क्यों हैं प्रियंका?

सोमवार को प्रियंका ने अपने तीनों सचिवों के साथ उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की हार की समीक्षा की. साथ ही प्रदेश में 12 सीटों पर होने वाले उप-चुनाव पर चर्चा की और साफ किया कि प्रदेश कांग्रेस की कमान अब युवा चेहरों के हाथ में होगी.

Anil Rai | News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 11:21 AM IST
हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे रहे हैं पार्टी नेता तो इतनी आक्रामक क्यों हैं प्रियंका?
लोकसभा चुनावों में हार के बाद इतनी आक्रामक क्‍यों हैं प्रियंका गांधी वाड्रा.
Anil Rai
Anil Rai | News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 11:21 AM IST
कांग्रेस पार्टी में अनिश्चतता का दौर जारी है. लगातार कोशिशों के बाद न तो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपना इस्तीफा वापस ले रहे हैं न ही पार्टी नया अध्यक्ष चुन पा रही है. कांग्रेस के कद्दावर नेता एक-एक कर संगठन के महत्वपूर्ण पदों से इस्तीफा दे रहे हैं. गोवा और कर्नाटक में कांग्रेस के विधायक पार्टी का साथ छोड़ रहे हैं. ऐसे में प्रियंका गांधी ही अकेली ऐसी नेता हैं जो विपरीत परिस्थितियों से मुकाबला करने के लिए खड़ी हैं.

प्रियंका जीत-हार की समीक्षा भी कर रही हैं और संगठन में बदलाव की बात भी कर रही हैं. ऐसे में सवाल उठना लाजमी हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पार्टी नेताओं की हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देने के इशारे के बाद पार्टी के कद्दावर नेता इस्तीफा दे रहे हैं तो प्रियंका इतनी आक्रामक क्यों हैं? जबकि उनके प्रभार वाले पूर्वी उत्तर-प्रदेश में भी कांग्रेस का प्रदर्शन बद से बदतर ही हुआ है.

राहुल गांधी के इस्‍तीफे के बाद पार्टी के एक धड़े ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की मांग तेज कर दी है.
राहुल गांधी के इस्‍तीफे के बाद पार्टी के एक धड़े ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की मांग तेज कर दी है.


प्रियंका ने हार की जिम्मेदारी दूसरे के कंधों पर डाली

सोमवार को प्रियंका ने अपने तीनों सचिवों के साथ उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की हार की समीक्षा की. साथ ही प्रदेश में 12 सीटों पर होने वाले उप-चुनाव पर चर्चा की और साफ किया कि प्रदेश कांग्रेस की कमान अब युवा चेहरों के हाथ में होगी. प्रियंका इससे पहले उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की हार के लिए प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर को जिम्मेदार बता चुकी हैं. साफ है प्रियंका ने हार की समीक्षा से पहले ये साफ कर दिया है कि उत्तर प्रदेश के दूसरे प्रभारी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया और अन्य महासचिवों की तरह वो इस्तीफा नहीं देंगी क्योंकि हार के लिए तो पार्टी प्रदेश अध्यक्ष जिम्मेदार हैं.

अन्य महासचिवों से अलग क्यों हैं प्रियंका
प्रियंका गांधी वाड्रा जब कांग्रेस में महासचिव के तौर पर शामिल हुईं तो पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और खुद प्रियंका ने ये संदेश दिया था कि वो अन्य महासचिवों से अलग नहीं हैं. पार्टी की बैठकों में प्रियंका ने इस बात का ध्यान भी रखा लेकिन अब जब हार की जिम्मेदारी लेने की बात आ रही है तो प्रियंका अन्य महासचिवों से अलग दिख रही हैं.
Loading...

तो क्या अध्यक्ष की कुर्सी पर है प्रियंका की नजर
राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद पार्टी नए अध्यक्ष की तलाश में है. अब तक जो भी नाम चर्चा में आए वो चर्चा से आगे नहीं बढ़ पाए. ऐसे में पार्टी के एक धड़े ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की मांग तेज कर दी है. इससे पहले भी राहुल को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की मांग पार्टी के अंदर से आयी थी. प्रियंका गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग करने वाले एक नेता का दावा है कि ये मांग देशव्यापी होगी लेकिन अभी सही वक्त का इंतजार है.

ये भी पढ़ें : दिल्ली पुलिस ने श्रीनगर से पकड़ा जैश आतंकी, दो लाख का था इनाम

दिल्‍ली में आज से खुलेगा 278 करोड़ वाला फ्लाईओवर, एयरपोर्ट-गुरुग्राम की राह होगी आसा
First published: July 16, 2019, 10:59 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...