प्रेमी संग रची साजिश, पति की तिजोरी से रुपये चोरी कर सुपारी किलर से करा दी हत्या

दिल्ली के भलस्वा डेयरी इलाके में रहने वाले प्रमोद की पत्नी ने 1.50 लाख रुपये में किया था हत्या का सौदा, 50 हजार रुपये पेशगी देने के लिए तिजोरी की दूसरी चाबी बनवाकर निकाले रुपये, हत्यारों ने दुकान पर ही प्रमोद पर बरसाई थी गोलियां.

News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 11:05 AM IST
प्रेमी संग रची साजिश, पति की तिजोरी से रुपये चोरी कर सुपारी किलर से करा दी हत्या
प्रमोद की हत्या के लिए अमित ने दो हत्यारों की खोज की. दोनों से हत्या का सौदा 1.50 लाख रुपये में तय हुआ.
News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 11:05 AM IST
दिल्ली में फिर एक हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया. इस बार एक पत्नी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या करवा दी. इस दौरान चौंकाने वाली बात यह रही कि पत्नी ने हत्या की सुपारी देने के लिए पति की ही तिजोरी से रुपये निकाल कर भाड़े के हत्यारों को दिए. अब पुलिस ने आरोपी पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है. मृतक की पहचान प्रमोद के तौर पर हुई है जो भलस्वा डेयरी इलाके में रहता है. प्रमोद के परिवार में उसकी पत्नी विशाखा और तीन बच्चे भी हैं. प्रमोद की मंगल बाजार रोड पर दुकान है और 3 जुलाई को उसकी दुकान में ही दो युवकों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी थी.

सीसीटीवी फुटेज से खुली वारदात


पुलिस ने जब हत्या के संबंध में दुकान के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला तो हत्यारे प्रमोद घर की तरफ ही जाते दिखे. ऐसे में पुलिस के शक की सूंई प्रमोद के परिजन की तरफ ही मुड़ी. जिसके बाद पुलिस ने विशाखा से पूछताछ की तो उसने जुर्म कबूल लिया. विशाखा ने बताया कि उसकी रिश्तेदारी में ही अमित नामक एक युवक से दो साल पहले उसके संबंध बन गए थे. जिसके बाद उसने उसे रहने के लिए घर भी बुला लिया था लेकिन प्रमोद के हस्तक्षेप के बाद उसे घर से निकालना पड़ा. बाद में उसने पास ही उसे कमरा दिला दिया था और उसको खर्च के पैसे भी दिया करती थी. लेकिन प्रमोद दोनों के अवैध संबंधों के बीच में रोड़ा बन रहा था. जिसके चलते दोनों ने उसकी हत्या की साजिश रची.

तिजोरी से ही चुराकर दिए सुपारी किलर को पैसे

प्रमोद की हत्या के लिए अमित ने दो हत्यारों की खोज की. दोनों से हत्या का सौदा 1.50 लाख रुपये में तय हुआ. पेशगी के तौर पर 50 हजार रुपये देने थे. इसके लिए विशाखा ने प्रमोद की तिजारी की एक नकली चाबी बनवाई और उसमें से 50 हजार रुपये निकाल कर हत्यारों को दिए. काम पूरा होने के बाद एक लाख रुपये और सप्ताह भर बाद देना तय हुआ था. अब पुलिस हत्यारों की तलाश कर रही है.

ये भी पढ़ें-  यमुना एक्सप्रेस वे हादसा: चश्मदीद महिला यात्री ने बताया- बस जैसे ही टोल प्लाजा से रवाना हुई ड्राइवर....

तीसरी बार एक साथ 30 से ज्यादा लाशें देखकर ये बोला पोस्टमार्टम हाउस का कर्मचारी
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...