ट्रैफिक पुलिस: चालान के वक्त यह गवाह है जरूरी, नहीं तो कोर्ट में आप ऐसे कर सकते हैं चैलेंज

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 6:27 PM IST
ट्रैफिक पुलिस: चालान के वक्त यह गवाह है जरूरी, नहीं तो कोर्ट में आप ऐसे कर सकते हैं चैलेंज
प्रतीकात्मक फोटो- अगर आपको लगता है पुलिसकर्मी चालान काटने में मनमानी कर रहा है तो आप कौर्ट में चालान को चैलेंस कर सकते हैं.

संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) में मानों चालान की बाढ़ आ गई हो. आरसी नहीं है, डीएल (driving licence) भी नहीं है, रेड लाइट (Red Light) जम्प कर और तो और ट्रैफिक पुलिसकर्मी (Traffic Policemen) के साथ व्यवहार भी सही नहीं किया के एक साथ चालान कट रहे हें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 6:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक चालान (Challan) और जुर्माना तीन-तीन. संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) में मानों चालान की बाढ़ आ गई हो. आरसी (Registration Certificate) नहीं है, डीएल (driving licence) भी नहीं है, रेड लाइट (Red Light) जम्प, और तो और ट्रैफिक पुलिसकर्मी (Traffic Policemen) के साथ व्यवहार भी सही नहीं किया. यह हम नहीं चालान कह रहे हैं. अगर आपका चालान भी कुछ इसी तरह का हुआ है और आपको लगता है कि आपने सिर्फ रेड लाइट ही जंप की थी और बाकी के डॉक्यूमेंटस मौके पर आपके पास मौजूद थे, लेकिन किसी कारणवश पुलिसकर्मी ने आपके चालान में बाकी की वजह जानबूझकर जोड़ दी हैं तो आप उसे चैलेंज कर सकते हैं.

यह है सड़क पर चालान काटने का नियम
सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट इरशाद अहमद बताते हैं, जब भी पुलिसकर्मी आपके वाहन का चालान काटेगा तो चालान में उसे एक गवाह के साइन कराना भी जरूरी होगा. यह ऐसा गवाह होगा जो उस वक्त मौके पर मौजूद हो. जिसने आपको रेड लाइट जम्प करते हुए देखा हो. या फिर जिसके सामने आपके वाहन के कागज चेक किए जा रहे हों.

चालान को कोर्ट में ऐसे कर सकते हैं चैलेंज

इरशाद अहमद का कहना है कि आजकल जो चालान काटे जा रहे हैं वो चालान टू कोर्ट हैं. मतलब आपको मौके पर ही चालान की रकम जमा नहीं करनी है. आप उस इलाके की कोर्ट में जाकर चालान में दिखाई गई जुर्माने की रकम को जमा कर सकते हैं. इस प्रक्रिया को समरी ट्रॉयल कहते हैं. अगर आपको लगता है कि आपका चालान गलत काटा गया है तो आप उसे चैलेंज भी कर सकते हैं. मतलब चालान की रकम को भरने से मना कर सकते हैं. तब कोर्ट ट्रैफिक पुलिस से चालान काटते वक्त मौजूद गवाह की जानकारी लेगी.

ये भी पढ़ें:- 

अलीगढ़ में कुछ छात्र नेताओं की घोषणा, वो बुर्के और टोपी में कॉलेज आएंगे तो हम भगवा वस्त्र पहनकर जाएंगे
Loading...

चालान की रकम देखकर वाहन छोड़ा तो ऐसे में देनी पड़ सकती है दोगुनी पेनल्टी

जहां गाय पर बोल रहे थे PM मोदी, वहां ऐसे चलती है देश की सबसे गौशाला, 45 हजार हैं गोवंश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 4:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...