सावन के दूसरे सोमवार को भगवान शिव की पूजा-अर्चना इस तरह करें...

सावन के दूसरे सोमवार के दिन ही प्रदोष व्रत पड़ने से यह मुहूर्त और भी ज्यादा शुभ हो गया है

News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 11:26 AM IST
सावन के दूसरे सोमवार को भगवान शिव की पूजा-अर्चना इस तरह करें...
सावन के दूसरे सोमवार के दिन ही प्रदोष व्रत पड़ने से यह मुहूर्त और भी ज्यादा शुभ हो गया है
News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 11:26 AM IST
कल यानी 29 जुलाई को सावन का दूसरा सोमवार है. कहा जाता है कि सावन के पहले सोमवार का महत्व सबसे अधिक होता है लेकिन इस बार सावन के दूसरे सोमवार के दिन विशेष संयोग बना है. यह विशेष संयोग है प्रदोष व्रत. सावन के दूसरे सोमवार के दिन ही प्रदोष व्रत पड़ने से यह मुहूर्त और भी ज्यादा शुभ हो गया है. सावन माह और प्रदोष व्रत दोनों ही भगवान शिव को समर्पित माने जाते हैं. इस दोनों में ही भोले शंकर की पूरे विधि विधान के साथ पूजा अर्चना होती है.

सावन के दूसरे सोमवार को भगवान शिव की पूजा-अर्चना इस तरह करें...

शिव जी को कुछ चीजें बहुत ही प्रिय हैं, जैसे- गंगाजल, दूध, शमी के पत्ते, गन्ने का जूस, धतूरा, बेलपत्र, भांग, तुलसी और भोग. इन सारी चीजों को एक जगह इकट्ठा कर लें.


  • शिवलिंग पर सबसे पहले गंगाजल चढ़ाएं.

  • यदि गंगाजल न हो तो तांबे के लोटे में ताजा और स्वच्छ जल भरकर शिवलिंग पर अर्पित करें.

  • इसके बाद दूध, दही, शहद, चावल को शिवलिंग पर अर्पित करें.

  • Loading...

  • फिर बेल पत्र, फूल और माला से शिवलिंग का श्रृंगार करें.

  • शिवलिंग पर अन्य चीजें जैसे धतूरा, शमी के पत्ते, भांग और तुलसी चढ़ाएं.

  • उसके बाद चंदन लगाएं और भोग चढ़ाएं.

  • प्रसाद में मिश्री, केला या मीठे बताशे रख सकते हैं.

  • फिर धूप और अगरबत्ती से शिव का ध्यान करें.


Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.
First published: July 28, 2019, 10:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...