होम /न्यूज /धर्म /आज का पंचांग, 29 नवंबर 2022: आज करें चंपा षष्ठी और मंगलवार का व्रत, जानें शुभ-अशुभ समय और राहुकाल

आज का पंचांग, 29 नवंबर 2022: आज करें चंपा षष्ठी और मंगलवार का व्रत, जानें शुभ-अशुभ समय और राहुकाल

आज का पंचांग, 29 नवंबर 2022

आज का पंचांग, 29 नवंबर 2022

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 29 नवंबर दिन मंगलवार है. आज चंपा षष्ठी और मंगलवार का व्रत है. चंपा षष्ठी पर शिव जी क ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

आज मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि है.
आज के दिन चंपा षष्ठी पर शिव जी के अवतार खंडोबा की पूजा की जाती है.

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 29 नवंबर दिन मंगलवार है. आज मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि है. आज चंपा षष्ठी व्रत है. साथ ही मंगलवार का दिन हनुमान जी को भी समर्पित होता है. इस दिन बजरंगबली के भक्त उनकी पूजा-अर्चना करते हैं. व्रत रखते हैं. चंपा षष्ठी मुख्य रूप से महाराष्ट्र और कर्नाटक में मनाया जाता है. इस त्योहार में शिव जी के अवतार खंडोबा की पूजा की जाती है. खंडोबा को किसान, चरवाहे अपना देवता मानते हैं और इनकी पूजा किसानों के देवता की तरह की जाती है. मान्यता के अनुसार, जो व्यक्ति चंपा षष्ठी का व्रत करता है, उसका जीवन खुशियों से भरा रहता है. सभी इच्छाओं की पूर्ति होती है. इस व्रत को करने से सारी बुराइयां दूर होती हैं. सभी पाप धुल जाते हैं. चंपा षष्ठी व्रत के दिन लोग मंदिर जाकर देवता खंडोबा की पूजा-आराधना करते हैं.

मंगलवार का दिन हनुमान जी को समर्पित होता है. बजरंगबली के भक्त आज के दिन श्रद्धा भाव से हनुमान जी की पूजा करते हैं और व्रत भी रखते हैं. ऐसी मान्यता है कि जो भी व्यक्ति हनुमान जी की पूजा करता है, उसके सभी कष्ट, दुख-दर्द आदि दूर हो जाते हैं. कहा जाता है कि जिनकी कुंडली में मंगल ग्रह कमजोर है, उन्हें मंगलवार का व्रत अवश्य करना चाहिए. इससे बजरंगबली खुश होते हैं और संतान पाने की इच्छा को पूर्ण करते हैं. आप यह व्रत आजीवन रख सकते हैं या फिर 21 या 45 मंगलवार तक रख सकते हैं.

29 नवंबर 2022 का पंचांग
आज की तिथि – मार्गशीर्ष शुक्ल षष्ठी
आज का करण – तैतिल
आज का नक्षत्र – श्रवण
आज का योग – ध्रुव
आज का पक्ष – शुक्ल
आज का वार – मंगलवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय
सूर्योदय – 7:02:00 AM
सूर्यास्त – 5:53:00 PM
चन्द्रोदय – 12:09:00
चन्द्रास्त – 23:04:59
चन्द्र राशि– मकर

हिन्दू मास एवं वर्ष
शक सम्वत – 1944 शुभकृत
विक्रम सम्वत – 2079
काली सम्वत – 5123
दिन काल – 10:29:29
मास अमांत – मार्गशीर्ष
मास पूर्णिमांत – मार्गशीर्ष
शुभ समय – 11:48:10 से 12:30:08 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)
दुष्टमुहूर्त– 09:00:18 से 09:42:16 तक
कुलिक– 13:12:06 से 13:54:04 तक
कंटक– 07:36:23 से 08:18:21 तक
राहु काल– 15:10 to 16:31
कालवेला/अर्द्धयाम– 09:00:18 से 09:42:16 तक
यमघण्ट– 10:24:14 से 11:06:12 तक
यमगण्ड– 09:31:47 से 10:50:28 तक
गुलिक काल– 12:27 to 13:49

Tags: Dharma Aastha, Lord Hanuman, Religion

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें