होम /न्यूज /धर्म /आज का पंचांग, 30 सितंबर 2022: आज करें स्कंदमाता की पूजा, जानें शुभ-अशुभ समय और रा​हुकाल

आज का पंचांग, 30 सितंबर 2022: आज करें स्कंदमाता की पूजा, जानें शुभ-अशुभ समय और रा​हुकाल

आज का पंचांग, 30  सितंबर 2022

आज का पंचांग, 30 सितंबर 2022

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 30 सितंबर दिन शुक्रवार है. आज शारदीय नवरात्रि का पांचवा दिन है. आज देवी स्कंदमाता की ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

आज आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि है.
आज के दिन ललिता पंचमी व्रत भी रखा जाता है.

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang): आज 30 सितंबर दिन शुक्रवार है. आज आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि है. आज शारदीय नवरात्रि का पांचवा दिन है. आज देवी स्कंदमाता की पूजा करते हैं. इस देवी की पूजा करने से व्यक्ति को सभी सुख प्राप्त होते हैं और मोक्ष भी मिलता है. आज के दिन ललिता पंचमी व्रत भी रखा जाता है. इस व्रत को ललिता उपांग भी कहते हैं. इसमें मां ललिता या त्रिपुर सुंदरी देवी की पूजा की जाती है. देवी की कृपा से संतान प्राप्ति, संतान की सुरक्षा, धन और संपत्ति भी प्राप्त होती है. यह व्रत मुख्यतः गुजरात और महाराष्ट्र में संतान की मंगल कामना के लिए रखते हैं.

आज शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी की पूजा से भी संबंधित है. आज आप माता लक्ष्मी को कमल का फूल, लाल गुलाब, कमलगट्टा, अक्षत्, सिंदूर, धूप, दीप, गंध आदि से पूजन करें और उनको खीर या फिर सफेद बर्फी का भोग लगाएं. ऐसा करने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होंगी और आपका जीवन धन, धान्य, ऐश्वर्य आदि से परिपूर्ण हो जाएगा. आज आप माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए उनकी आरती कर सकते हैं, श्री सूक्त का पाठ कर सकते हैं या फिर धन के लिए कनक धारा स्तोत्र का पाठ कर सकते हैं.

यदि आपका शुक्र ग्रह कमजोर है तो आपको आज व्रत रखने के बाद शुक्र ग्रह के बीज मंत्र का जाप करना चाहिए. पूजा के बाद आप चाहें तो सफेद वस्तुओं जैसे दूध, खीर, सुगंधित पदार्थ, चावल, शक्कर, सफेद वस्त्र आदि का दान करें. इससे आपको शुक्र दोष दूर होगा. सुख सुविधाओं में बढ़ोत्तरी होगी. आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी होगी आज ग्रहों की स्थिति.

30 सितंबर 2022 का पंचांग
आज की तिथि – आश्विन शुक्ल पंचमी
आज का करण – बव
आज का नक्षत्र – अनुराधा
आज का योग – प्रीति
आज का पक्ष – शुक्ल
आज का वार – शुक्रवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय
सूर्योदय – 06:30:00 AM
सूर्यास्त – 06:28:00 PM
चन्द्रोदय – 10:28:00
चन्द्रास्त – 21:06:00
चन्द्र राशि– वृश्चिक

हिन्दू मास एवं वर्ष
शक सम्वत – 1944 शुभकृत
विक्रम सम्वत – 2079
काली सम्वत – 5123
दिन काल – 11:55:39
मास अमांत – आश्विन
मास पूर्णिमांत – आश्विन
शुभ समय – 11:47:10 से 12:34:53 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)
दुष्टमुहूर्त– 08:36:20 से 09:24:02 तक, 12:34:53 से 13:22:35 तक
कुलिक– 08:36:20 से 09:24:02 तक
कंटक– 13:22:35 से 14:10:18 तक
राहु काल– 10:59 से 12:29 तक
कालवेला/अर्द्धयाम– 14:58:01 से 15:45:43 तक
यमघण्ट– 16:33:26 से 17:21:09 तक
यमगण्ड– 15:09:56 से 16:39:24 तक
गुलिक काल– 08:00 से 09:30 तक

Tags: Dharma Aastha, Navaratri, Navratri

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें