Home /News /dharm /

Aghan Maas 2021: अगहन मास में भगवान श्रीकृष्ण की पूजा होती है फलदायी, जानें इस महीने में क्‍या करें

Aghan Maas 2021: अगहन मास में भगवान श्रीकृष्ण की पूजा होती है फलदायी, जानें इस महीने में क्‍या करें

घर में विराजमान लड्डू गोपाल को गंगा या यमुना जल से स्नान कराएं. Image : Canva

घर में विराजमान लड्डू गोपाल को गंगा या यमुना जल से स्नान कराएं. Image : Canva

Aghan Maas 2021: हिंदू पंचांग के अनुसार कार्तिक मास (Kartik Maas) के बार 9वें महीने के रूप में अगहन मास (Aghan Maas) आता है. इसे मार्गशीर्ष भी कहते हैं. मान्‍यता है कि अगर इस महीने भगवान श्रीकृष्ण (Lord Krishna) की पूजा की जाए तो उनका विशेष आर्शीवाद मिलता है. बता दें कि इस साल 20 नवंबर से अगहन मास शुरू हो गया है जो 19 दिसंबर तक चलेगा. इस पूरे महीने अगर पूजा पाठ और दान पुण्‍य का काम किया जाए तो भगवान श्रीकृष्ण का विशेष आर्शीवाद प्राप्‍त होता है. अगहन मास का विशेष महत्‍व (Significance) है.

अधिक पढ़ें ...

    Aghan Maas 2021 Significance: ज्‍योतिषाशास्‍त्र के मुताबिक ज्‍योतिष में 27 नक्षत्र का जिक्र आता है जिसमें से एक है मृगशिरा. इस नक्षत्र को भगवान श्रीकृष्ण (Lord Krishna) का ही एक स्वरूप माना गया है जो अगहन मास (Aghan Maas) में आता है. इसलिए अगहन मास में भगवान श्री श्रीकृष्ण की पूजा का विशेष महत्‍व (significance) माना गया है. इस बात का जिक्र भगवत गीता (Bhagwad Geeta) में भी आता है. मान्‍यता है कि अगहन महीने में अगर में नियमित रूप से स्‍नान आदि कर तुलसी (Tulsi) के पौधे में पानी दिया जाए और गायत्री मंत्र का जाप किया जाए तो श्रीकृष्ण को पाना सरल हो जाता है.

    अगहन मास में यमुना नदी में स्नान करने की भी मान्‍यता है. अगहन मास में दान-पुण्य का भी विशेष महत्व माना गया है. अगर आपकी कुंडली में चंद्र दोष है तो अगहन मास में चंद्रमा को खुश करने के उपाय करें इससे चंद्रमा दोष कम हो जाता है या खत्म हो जाता है.

    Aghan Maas- अगहन मास में क्‍या करना चाहिए?

    -शंख में देवी लक्ष्‍मी का वास होता है और श्री हरि विष्णु भगवान भी इसे धारण करते हैं. इसलिए शंख की पूजा करें.

    यह भी पढ़ें- भगवान शिव की पूजा में क्यों इस्तेमाल किया जाता है ‘बिल्वपत्र’, जानें ये जरूरी बातें

    -घर में विराजमान लड्डू गोपाल को गंगा या यमुना जल से स्नान कराएं.

    -अगर लड्डू गोपाल नहीं हैं तो शंख में जलभर के घर के मंदिर की परिक्रमा करें और घर के हर कोने में उस जल का छिड़काव करें. घर में सुख शांति रहेगी.

    -भगवत गीता का पाठ करें. अगर आप पाठ नहीं कर सकते तो दर्शन मात्र से शुभ फल की प्राप्ति होगी.

    इस तरह करें गोपाल की पूजा

    -पूरे महीने भगवान गोपाल को गंगा या यमुना नदी के जल से स्नान कराएं.

    -आप पंचामृत से भी गोपाल को स्नान करवा सकते हैं.

    -स्नान कराने के लिए शंख में जल भरें और इससे स्‍नान कराएं.

    -गोपाल को नए और सुंदर वस्त्र पहनाएं.

    इसे भी पढ़ेंः भगवान श‍िव देते हैं मनचाहे जीवनसाथी का वरदान, इन मंत्रों के साथ ऐसे करें पूजा

    -गोपाल का सुंदर श्रृंगार करें और उन्हें सुगंधित फूल चढ़ाएं।

    -गोपाल को चार बार दिन में भोग लगाएं और चार बार आरती भी करें.

    -भोग लगाते समय घंटी जरूर बजाएं.

    -गोपाल के साथ शंख की पूजा भी करें.

    पूरे महीने ऐसा करने से गोपाल खुश होते हैं और घर में सुख शांति देते हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Lifestyle, Religion, Sri Krishna, धर्म

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर