Amalaki Ekadashi 2021: आमलकी एकादशी आज या कल? जानें सटीक तिथि और पूजा विधि

आमलकी एकादशी का व्रत विष्णु जी को समर्पित माना जाता है.  ( credit:instagram/paramshakti_kaashirwad)

आमलकी एकादशी का व्रत विष्णु जी को समर्पित माना जाता है. ( credit:instagram/paramshakti_kaashirwad)

Amalaki Ekadashi 2021 Date And Puja Vidhi: आमलकी एकादशी का व्रत उदया तिथि में रखा जाता है जोकि आज है. आमलकी का अर्थ होता है आंवला.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 1:17 PM IST
  • Share this:
Amalaki Ekadashi 2021 Date And Puja Vidhi: आमलकी एकादशी 2021 (Amalaki Ekadashi 2021) आज 24 मार्च को है. व्रत की शुरुआत सुबह 10 बजकर 23 मिनट से हो गई है जोकि कल सुबह यानी कि 25 मार्च को 09 सुबह 47 मिनट तक रहेगी. आमलकी एकादशी को आंवला एकादशी और रंगभरनी एकादशी भी कहा जाता है. आमलकी एकादशी का व्रत उदया तिथि में रखा जाता है जोकि आज है. आमलकी का अर्थ होता है आंवला.

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान विष्णु के आशीर्वाद से ही आंवले के पेड़ की उत्पत्ति हुई थी. यही वजह है कि इस दिन भगवान विष्णु के रूप में आंवले के पेड़ की पूजा की जाती है. कई जगहों पर इस दिन रंगभरनी एकादशी भी मनाई जाती है. इस दिन कई जगहों पर शिव भक्त भगवान भोले शंकर को रंग लगाकर रंगभरनी एकादशी मनाते हैं. आमलकी एकादशी भगवान विष्णु और भगवान शिव दोनों के भक्त मनाते हैं. आइए जानते हैं आमलकी एकादशी की पूजा विधि...

इसे भी पढ़ें: Amalaki Ekadashi 2021 Date: कब है आमलकी एकादशी? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व

आमलकी एकादशी पूजा विधि:
1. आमलकी एकादशी के दिन महिलाएं सुबह नहा-धोकर किसी आंवले के पेड़ के जाएं और उसके आसपास की जगह पर अच्छे से साफ़ सफाई कर लें ताकि पूजा करने के लिए स्थान स्वच्छ हो जाए.

2. आमलकी एकादशी की पूजा करने के लिए महिलाएं आंवले के पेड़ के नीचे खड़ी हो जाएं और पूर्व दिशा की तरफ मुख कर के जल और दूध अर्पित करें. इसके बाद ये मंत्र पढ़ें-

मम कायिकवाचिकमानसिक सांसर्गिकपातकोपपातकदुरित क्षयपूर्वक 



श्रुतिस्मृतिपुराणोक्त फल प्राप्तयै श्री परमेश्वरप्रीति

कामनायै आमलकी एकादशी व्रतमहं करिष्ये.

3. जब यह पूजा पूरी हो जाए तो इसके बाद आंवले के पेड़ के चारों तरफ सूत लपेटकर इसके चारों तरफ परिक्रमा करें. सबसे अंत में आंवले के पेड़ की आरती करें. आरती के बाद भगवान विष्णु से अपने घर परिवार और खुद के लिए सुख ऐश्वर्य और संपन्नता के लिए आशीर्वाद मांगें. Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज