• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • AMALAKI EKADASHI 2021 DATE SHUBH MUHURAT AND SIGNIFICANCE BGYS

Amalaki Ekadashi 2021 Date: कब है आमलकी एकादशी? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व

आमलकी एकादशी विष्णु जी को समर्पित मानी जाती है.

Amalaki Ekadashi 2021 Date Shubh Muhurat and Significance- इस दिन कई जगहों पर शिव भक्त भगवान भोले शंकर को रंग लगाकर रंगभरनी एकादशी मनाते हैं. आमलकी एकादशी भगवान विष्णु और भगवान शिव दोनों के भक्त मनाते हैं

  • Share this:
    Amalaki Ekadashi 2021 Date: आमलकी एकादशी 2021 (Amalaki Ekadashi 2021) 24 मार्च को मनाई जाएगी. एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा का विधान है. फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन आमलकी एकादशी मनाई जाती है. आमलकी का अर्थ होता है आंवला. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान विष्णु के आशीर्वाद से ही आंवले के पेड़ की उत्पत्ति हुई थी. यही वजह है कि इस दिन भगवान विष्णु के रूप में आंवले के पेड़ की पूजा की जाती है. कई जगहों पर इस दिन रंगभरनी एकादशी भी मनाई जाती है. इस दिन कई जगहों पर शिव भक्त भगवान भोले शंकर को रंग लगाकर रंगभरनी एकादशी मनाते हैं. आमलकी एकादशी भगवान विष्णु और भगवान शिव दोनों के भक्त मनाते हैं...

    आमलकी एकादशी 2021 शुभ मुहूर्त:
    एकादशी तिथि का प्रारंभ – 24 मार्च को सुबह 10 बजकर 23 मिनट से
    एकादशी तिथि समाप्त – 25 मार्च को 09 सुबह 47 मिनट तक
    एकादशी व्रत पारण का समय – 26 मार्च को सुबह 06:18 बजे से 08:21 बजे तक

    आमलकी एकादशी का महत्व:
    आमलकी एकादशी का जिक्र हिंदू धर्म के पद्म पुराण में मिलता है. पद्म पुराण में लिखा है कि इस दिन भगवान विष्णु के थूकने से आंवले के पेड़ की उत्पत्ति हुई. धार्मिक मान्यता है कि आंवले के पेड़ में भगवान विष्णु का वास माना जाता है. आंवले के पेड़ में ब्रह्मा, विष्णु और महेश तीनों का वास माना जाता है.

    ब्रह्मा जी आंवले के ऊपरी भाग में, शिव जी मध्य भाग में और भगवान विष्णु आंवले की जड़ में निवास करते हैं. मान्यता है कि जो भक्त आमलकी एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना और आंवले के पेड़ की पूजा अर्चना करते हैं उन्हें पुण्यफल की प्राप्ति होती है. इस पूजा से पारिवार में भी सुख और प्रेम का वातावरण बना रहता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
    Published by:Bhagya Shri Singh
    First published: