Anant Chaturdashi 2019: अनंत चतुर्दशी २०१९ पर बन रहा विशेष योग, इस विधि से करें पूजा, मिलेगा अद्भुत फल!

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 11:08 AM IST
Anant Chaturdashi 2019: अनंत चतुर्दशी २०१९ पर बन रहा विशेष योग, इस विधि से करें पूजा, मिलेगा अद्भुत फल!
अनंत चतुर्दशी पर बन रहा विशेष योग, इस विधि से करें पूजा मिलेगा अद्भुत फल!

अनंत चतुर्दशी २०१९ (Anant Chaturdashi 2019): इस मुहूर्त पर भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करने से पुण्य फल की प्राप्ति होगी. आइए जानते हैं इस व्रत के बारे में..

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 11:08 AM IST
  • Share this:
आज अनंत चतुर्दशी (Anant Chaturdashi 2019) मनाई जा रही है. भक्त आज भगवान विष्णु के अनंत स्वरूप की आराधना करेंगे. साथ ही आज गणपति विसर्जन (ganpati visarjan) भी है. अनंत चतुर्दशी एक शुभ मुहूर्त माना जाता है लेकिन इस बार बेहद ख़ास संयोग बन रहा है जिससे इसका महत्व कई गुना बढ़ जाता है. आज अनंत चतुर्दशी पर सुकर्मा योग बन रहा है. जनश्रुतियों के अनुसार, इस मुहूर्त पर भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करने से पुण्य फल की प्राप्ति होगी. आइए जानते हैं इस व्रत के बारे में...

अनंत चतुर्दशी की पूजा विधि:
1.आज सुबह उठकर नहा धोकर नए वस्त्र धारण करें. पूजाघर की साफ सफाई के बाद पूजाघर में बैठकर भगवान विष्णु का स्मरण करते हुए उपवास का संकल्प पढ़ें और कलश को स्थापित करें. बता दें कि इस दिन यमुना और भगवान विष्णु की पूजा करने की परंपरा है.

इसे भी पढ़ें: Anant Chaturdashi 2019: इस तारीख को है अनंत चतुर्दशी, जानें पूजा विधि और व्रत कथा

2.अब कलश के ऊपर भगवान विष्णु की प्रतिमा या कुश से निर्मित अनंत रखें. अब कलावा लेकर इसमें केसर, हल्दी और कुमकुम लगा कर अनंत सूत्र तैयार कर लें. इस अनंत सूत्र में 14 गांठें लगाने के बाद इसे भगवान विष्णु के चरणों में अर्पित कर दें.

3.अब शोडोपचार विधि से अनंत सूत्र और भगवान विष्णु की आराधना करें और अनंत सूत्र को बांधते वक्त यह मंत्र पढ़ें...
अनंत संसार महासमुद्रे
Loading...

मग्नं समभ्युद्धर वासुदेव।
अनंतरूपे विनियोजयस्व
ह्यनंतसूत्राय नमो नमस्ते।।

इसे भी पढ़ें: गणपति बप्पा की पूजा के बाद पढ़ें ये आरती

4.जब पूजन विधि पूरी हो जाए तो इस अनंत सूत्र को अपनी दाहिनी भुजा में बांध लें. महिलाएं इसे बाएं हाथ में बांधें.
5.विद्वानों और जरूरतमंदों को भंडार खिलाएं और प्रसाद दें साथ ही कुछ प्रसाद खुद के लिए भी रख लें और ग्रहण करें.

अनंत चतुर्दशी शुभ मुहूर्त:
अनंत चतुर्दशी तिथि प्रारंभ: 12 सितंबर 2019 को सुबह 5 बजकर 06 मिनट
अनंत चतुर्दशी तिथि समाप्ति: 13 सितंबर को सुबह 7 बजकर 35 मिनट तक .


Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मायताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कल्चर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 8:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...