Home /News /dharm /

दिन के अनुसार ही माथे पर लगाएं तिलक, जीवन में आएगी खुशहाली

दिन के अनुसार ही माथे पर लगाएं तिलक, जीवन में आएगी खुशहाली

दिन के अनुसार तिलक लगाने से  नकारात्‍मकता दूर रहती है.

दिन के अनुसार तिलक लगाने से नकारात्‍मकता दूर रहती है.

Apply Tilak According To The Day : हिन्दू (Hindu) धर्म में सप्‍ताह का हर दिन किसी न किसी देवी-देवता को समर्पित है. लोग दिन के मुताबिक उनकी पूजा करते हैं. पूजा के दौरान कुछ नियमों का पालन किया जाता है जिनमें से एक है माथे (Forehead) पर तिलक (Tilak) लगाना. मान्‍यता है कि अगर आप दिन के अनुसार माथे पर तिलक लगाएं तो जीवन में शुभ फल मिलते हैं. माथे पर लगा तिलक आपको नकारात्‍मकता से बचाता है और सकारात्मक उर्जा से भरता है. ऐसे में ये जानना बेहद जरूरी है कि किस दिन कौनसा तिलक (Tilak according to day) लगाना चाहिए

अधिक पढ़ें ...

    Apply Tilak According To The Day: हिन्‍दू (Hindu)  मान्‍यताओं के अनुसार किसी भी देवी या देवता की पूजा तभी संपन्‍न मानी जाती है जब पूजा विधि-विधान से की जाए. पूजा के दौरान माथे (Forehead) पर भगवान के नाम का तिलक (Tilak) लगाया जाता है. ऐसे में सनातन धर्म के अनुसार सप्‍ताह के सातों दिन अलग-अलग देवी-देवताओं के नाम समर्पित है, जो हमें हर तरह के कष्‍ट और दुखों से दूर रखते हैं. ऐसे में हर दिन तिलक लगाने का तरीका भी अलग है.

    किसी दिन चंदन का तिलक लगाया जाता है तो किसी दिन रोली का. तो आइए जानते हैं कि सप्‍ताह के सातों दिन माथे पर तिलक लगाने के क्‍या नियम हैं.

    दिन के अनुसार माथे पर तिलक लगाने के नियम (Apply Tilak On Forehead According To The Day)

    1. सोमवार (Monday)

    सोमवार को शिव जी (Shiv Ji) का दिन माना जाता है. इस दिन के स्‍वामी ग्रह चंद्रमा हैं इसलिए इस दिन सफेद चंदन, विभूति या फिर भस्म का तिलक लगाना चाहिए. ऐसा करने से भोलेनाथ अत्‍यंत प्रसन्‍न होते हैं और उनकी कृपा बनी रहती है.

    इसे भी पढ़ेंः Lord Shiva Mantra: सोमवार को भगवान शिव के इन 5 मंत्रों का करें जाप, कष्टों से मिलेगी मुक्ति

    2. मंगलवार (Tuesday)

    मंगलवार के दिन हनुमानजी (Hanuman Ji) की पूजा की जाती है और इस दिन का स्वामी ग्रह मंगल है. इस दिन लाल चंदन या चमेली के तेल में घुला हुआ सिंदूर का तिलक लगाने की परंपरा है. ऐसा करने से जीवन में सभी संकट दूर होते हैं और मनोकामना पूर्ण होती है.

    3. बुधवार (Wednesday)

    बुधवार का दिन गणेश जी (Ganesha Ji) का दिन होता है. इस दिन के ग्रह स्वामी बुध हैं. इस दिन सूखे सिंदूर का तिलक किया जाता है. ऐसा करने से जातकों की कार्य क्षमता बढती है जस मिलता है.

    4. गुरुवार (Thursday)

    गुरुवार को भगवान विष्‍णु (Lord Vishnu) की पूजा की जाती है. इस दिन के स्वामी ग्रह बृहस्पति हैं. इस दिन सफेद चंदन की लकड़ी को पत्थर पर घिसकर उसमें केसर मिलाकर तिलक लगाया जाता है. मान्‍यता है कि इससे धन संबंधी समस्‍या दूर होती है.

    इसे भी पढ़ेंः Lord Shiva Puja: शिवलिंग की पूजा करते वक्‍त कभी न करें ये गलतियां, रुष्ठ होंगे भगवान

    5. शुक्रवार (Friday) 

    शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी (Mata Lakshami) की पूजा की जाती है. इस दिन के ग्रह स्वामी शुक्र हैं. इस दिन लाल चंदन का तिलक लगाया जाता है. इससे घर में सुख सुविधाओं का वास होता है. इस दिन सिंदूर का भी तिलक लगाने से लक्ष्‍मी जी की कृपा बरसती है.

    6. शनिवार (Saturday)

    शनिवार भैरव, शनि और यमराज का दिन है. इस दिन के ग्रह स्वामी शनि (Shani) हैं. इस दिन विभूती, भस्म या लाल चंदन लगाने से भैरव प्रसन्न होते हैं और जीवन लाभ मिलता है.

    7. रविवार (Sunday)

    रविवार सूर्यदेव (Surya Dev) को समर्पित है. इस दिन के ग्रह स्वामी सूर्य हैं, जो ग्रहों के राजा भी हैं. इस दिन लाल चंदन या रोली का तिलक लगाना चाहिए. ऐसा करने से मान-सम्मान बढ़ता है और डर खत्‍म होता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Hindu, Lifestyle, Religion, धर्म

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर