होम /न्यूज /धर्म /कहां पर है बागेश्वर धाम? जहां पर ​विराजमान हैं स्वयंभू हनुमान जी, जान लें 05 बड़ी बातें

कहां पर है बागेश्वर धाम? जहां पर ​विराजमान हैं स्वयंभू हनुमान जी, जान लें 05 बड़ी बातें

बागेश्वर धाम मध्य प्रदेश में छतरपुर जिले के गढ़ा गांव में स्थित है.

बागेश्वर धाम मध्य प्रदेश में छतरपुर जिले के गढ़ा गांव में स्थित है.

Bageshwar dham: इन दिनों लोग बागेश्वर धाम सरकार और और पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के बारे में जानना चाहते हैं क्योंकि ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

कहा जाता है कि पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर हनुमान जी की विशेष कृपा है.
उनके समर्थकों का दावा है कि वे बिना बताए लोगों की बातों को जान लेते हैं.
बागेश्वर धाम में अर्जी एक नारियल से लगाते हैं.

इस समय बागेश्वर धाम और पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री चर्चा में हैं. इनके वीडियो आजकल सोशल मीडिया पर काफी शेयर और लाइक किए जा रहे हैं. कहा जाता है कि पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर हनुमान जी की विशेष कृपा है. उस कृपा की वजह से वे लोगों की समस्याओं को सुनते हैं और उनका समाधान करते हैं. उनके समर्थकों का दावा है कि वे बिना बताए उन लोगों की बातों को जान लेते हैं, जो बागेश्वर धाम सरकार बालाजी के दरबार में अर्जी लगाते हैं. आइए जानते हैं कि बागेश्वर धाम कहां पर है और इससे जुड़ी मुख्य बातें क्या हैं?

कहां हैं बागेश्वर धाम?
बागेश्वर धाम की बेवसाइट के अनुसार, बागेश्वर धाम मध्य प्रदेश में छतरपुर जिले के गढ़ा गांव में स्थित है. यहां पर स्वंयभू हनुमान जी विराजमान हैं. स्वयंभू का अर्थ है कि जो स्वयं प्रकट हुए हैं. यहां पर बालाजी महाराज का मंदिर है. जहां पर मंगलवार और शनिवार के दिन काफी संख्या में भक्त दर्शन करने आते हैं.

बागेश्वर धाम से जुड़ी 5 बड़ी बातें
1. बागेश्वर धाम से जुड़े हुए लोगों की मान्यता है कि पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री अर्जी से भक्तों की समस्याओं का समाधान करते हैं. हनुमान जी की कृपा से जिसकी अर्जी स्वीकर हो जाती है, उसकी पर्ची बिना पूछे ही पंडित जी बना देते हैं.

यह भी पढ़ें: कौन हैं बागेश्वर धाम महाराज पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री, चमत्कार बने चर्चा का विषय

2. बागेश्वर धाम में अर्जी एक नारियल से लगाते हैं. यह अर्जी लोग घर से लगाते हैं और धाम पर जाकर भी लगाते हैं. य​ह अर्जी मंगलवार और शनिवार को ​लगाई जाती है.

3. बागेश्वर धाम के अनुयायी कहते हैं कि मंगलवार और शनिवार को धाम पर बालाजी के यहां पेशी करने से उनके कष्ट दूर होते हैं.

4. पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री से मिलने के लिए टोकन लगता है. उनसे मिलने के लिए कई दिनों या महीने तक इंतजार करना पड़ता है.

यह भी पढ़ें: मकर में होगा बुध का गोचर, 8 राशिवालों के करियर में होगी तरक्की, आय बढ़ेगी

5. पेशी या अर्जी लगाना भी आसान नहीं है. जो लोग अर्जी या पेशी लगाना चाहते हैं, उनको मांसाहार, लहसुन, प्याज, शराब आदि जैसी तामसिक वस्तुओं का सेवन बंद करना होता है.

Tags: Dharma Aastha, Lord Hanuman

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें