• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • BUDDHA PURNIMA 2021 KNOW HISTORY IMPORTANCE AND SIGNIFICANCE DLNK

Buddha Purnima 2021: आज मनाई जा रही है बुद्ध पूर्णिमा, जानें यह दिन क्यों है खास और क्‍या है इतिहास

Buddha Purnima 2021: वैशाख माह की पूर्णिमा को ही बुद्ध पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है.

Buddha Purnima 2021: मान्‍यता है कि महात्‍मा बुद्ध का जन्‍म वैशाख पूर्णिमा (Vaishakh Purnima) को हुआ था. इसी दिन उन्‍हें बोधि वृक्ष (Bodhi Tree) के नीचे ज्ञान की प्राप्ति हुई थी. इसके बाद से वह महात्‍मा बुद्ध कहलाए जाने लगे.

  • Share this:
    Buddha Purnima 2021: आज बुद्ध पूर्णिमा मनाई जा रही है. यह भगवान बुद्ध का जन्मोत्सव है. बौद्ध धर्म के मानने वालों के लिए यह सबसे बड़ा उत्सव है. मान्‍यता है कि महात्‍मा बुद्ध का जन्‍म वैशाख पूर्णिमा (Vaishakh Purnima) को हुआ था. वैशाख माह की पूर्णिमा को ही बुद्ध पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है. इसी दिन उन्‍हें बोधि वृक्ष (Bodhi Tree) के नीचे ज्ञान की प्राप्ति हुई थी, जिसके बाद से वो महात्‍मा बुद्ध कहलाए जाने लगे. बौद्ध धर्म के संस्‍थापक गौतम बुद्ध को भगवान बुद्ध, सिद्धार्थ और महात्‍मा बुद्ध जैसे नामों से भी जाना जाता है.

    जानें बुद्ध पूर्णिमा का इतिहास और महत्‍व
    बुद्ध पूर्णिमा न केवल बौद्ध धर्म में आस्था रखने वालों के लिए, बल्कि हिंदू धर्मावलंबियों के लिए भी बहुत मायने रखती है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार माना जाता है कि गौतम बुद्ध भगवान विष्णु के नौवें अवतार हैं. इसी वजह से सनातन धर्म के लोगों के लिए भी बुद्ध पूर्णिमा बेहद पवित्र मानी जाती है.

    ये भी पढ़ें - Buddha Purnima 2021: बुद्ध पूर्णिमा पर जानिए गौतम बुद्ध के प्रेरक विचार

    भारत में ही नहीं बल्कि विदेश में भी सैकड़ों सालों से बुद्ध पूर्णिमा का पर्व मनाया जा रहा है. बुद्ध पूर्णिमा को 20वीं सदी से पहले आधिकारिक बौद्ध अवकाश का दर्ज़ा प्राप्त नहीं था. सन् 1950 में बौद्ध धर्म की चर्चा करने के लिए श्रीलंका में विश्व बौद्ध सभा का आयोजन किया गया जिसके बाद इस सभा में बुद्ध पूर्णिमा को आधिकारिक अवकाश बनाने का फैसला हुआ. बुद्ध पूर्णिमा पर्व भगवान बुद्ध के जन्मदिन के सम्मान में मनाया जाता है. भारत में बौद्ध मानवता और मनोरंजन की अलग-अलग गतिविधियों के माध्यम से बुद्ध पूर्णिमा का उत्सव मनाया जाता है.

    ये भी पढ़ें - 26 मई को मनाई जाएगी बुद्ध पूर्णिमा, जानें शुभ मुहूर्त 

    इसलिए है यह दिन खास
    पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ऐसा कहा जाता है कि भगवान बुद्ध को वैशाख पूर्णिमा के दिन ही बोधगया में बोधि वृक्ष (Bodhi Tree) के नीचे ज्ञान यानी बुद्धत्‍व की प्राप्‍ति हुई थी. वैशाख पूर्णिमा के दिन ही गौतम बुद्ध ने कुशीनगर में अपना शरीर छोड़ा था. यही वजह है कि इस दिन को बुद्ध जयंती और महानिर्वाण दिवस के तौर पर मनाया जाता है. बुद्ध पूर्णिमा को सिद्ध विनायक पूर्णिमा या सत्‍य विनायक पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)
    Published by:Naaz Khan
    First published: