Chanakya Niti: इन सातों को भूल कर भी न जगाएं, जानिए क्‍या है इसके पीछे का रहस्‍य

Chanakya Niti: इसमें बेहद उपयोगी बातें बताई गई हैं.
Chanakya Niti: इसमें बेहद उपयोगी बातें बताई गई हैं.

चाणक्य नीति (Chanakya Niti): आचार्य चाणक्य के अनुसार वे दुष्‍ट लोग जो दूसरों की गुप्त खामियों को उजागर करते हैं, वे इसी तरह नष्ट हो जाते हैं जिस तरह कोई सांप चीटियों के टीलों में जा कर मर जाता है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 11:18 AM IST
  • Share this:
चाणक्य नीति (Chanakya Niti): चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) ने जीवन से जुड़े अहम विषयों पर महत्‍वपूर्ण बातें कही हैं. वहीं उन्‍होंने जीवन की कुछ समस्‍याओं के समाधन की ओर भी ध्‍यान दिलाया है. चाणक्य नीति कहती है कि अगर जन्म-मरण के चक्र से मुक्त होना है तो जिन विषयों के पीछे तुम इन्द्रियों की संतुष्टि के लिए भागते फिरते हो, उन्हें ऐसे त्याग दो जैसे तुम विष को त्याग देते हो. इसके अलावा कुछ अन्‍य महत्‍वपूर्ण बातें भी उन्‍होंने बताई हैं. आज हम आपके लिए 'हिंदी साहित्य दर्पण' के साभार से लेकर आए हैं आचार्य चाणक्य की ऐसी ही कुछ खास नीतियां. इनको जीवन में उतार कर व्‍यक्ति अपना लक्ष्‍य प्राप्‍त कर सकता है और कष्‍टों से बचा रह सकता है.

विष की तरह त्याग दो
चाणक्‍य नीति में बताया गया है कि अगर तुम जन्म मरण के चक्र से मुक्त होना चाहते हो, तो जिन विषयों के पीछे तुम इन्द्रियों की संतुष्टि के लिए भागते फिरते हो उन्हें विष की तरह त्याग दो और इन सब को छोड़कर ईमानदारी का आचरण करो. दया, शुचिता और सत्य का अमृत पियो.

गुप्त खामियों को उजागर न करें
आचार्य चाणक्‍य के अनुसार वे दुष्‍ट लोग जो दूसरों की गुप्त खामियों को उजागर करते हैं, वे इसी तरह नष्ट हो जाते हैं जिस तरह कोई सांप चीटियों के टीलों में जा कर मर जाता है और वे उसे खा जाती हैं.



इसे भी पढ़ें - Chanakya Niti: आचार्य चाणक्‍य की ये 5 बातें जो खोलेंगी सफलता के द्वार

अमृत है सबसे बढ़िया औषधि
चाणक्‍य नीति में बताया गया है कि अमृत सबसे बढ़िया औषधि है. इन्द्रिय सुख में अच्छा भोजन सर्वश्रेष्ठ सुख है. नेत्र सभी इन्द्रियों में श्रेष्ठ हैं और मस्तक शरीर के सभी भागों में श्रेष्ठ है.

इन सातों को जगा देना है जरूरी
आचार्य चाणक्‍य के अनुसार इन सातों को जगा दें अगर ये सो जाएं- विद्यार्थी, सेवक, पथिक, भूखा आदमी, डरा हुआ आदमी, खजाने का रक्षक और खजांची.

इनको नींद से जगाना है बुरा
चाणक्‍य नीति के अनुसार इन सातों को नींद से कभी नहीं जगाया जाना चाहिए- सांप, राजा, बाघ, डंक मारने वाला कीड़ा, छोटा बच्चा, दूसरों का कुत्ता और मूर्ख व्‍यक्ति.

इसे भी पढ़ें - Chanakya Niti: ज्ञान का गुप्‍त धन जीवन के लिए अमृत समान

गरीबी को धैर्य से दें मात
आचार्य चाणक्‍य के अनुसार व्‍यक्ति को अपने जीवन में इन बातों को उतारना चाहिए. गरीबी को धैर्य से मात करें. पुराने वस्त्रो को स्वच्छ रखें. बासी अन्न को गरम करें और अपनी कुरूपता को अपने अच्छे व्यवहार से मात दें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज