Home /News /dharm /

चाणक्य नीति: विद्वान और गुणवान की पहचान कैसे करें? ये हैं आचार्य चाणक्य की 5 बातें

चाणक्य नीति: विद्वान और गुणवान की पहचान कैसे करें? ये हैं आचार्य चाणक्य की 5 बातें

आचार्य चाणक्य की नीति में जीवन में व्यक्ति के गुणों की बात कही गई है.

आचार्य चाणक्य की नीति में जीवन में व्यक्ति के गुणों की बात कही गई है.

चाणक्य नीति (Chanakya Niti): आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) ने अपनी चाणक्य नीति मे जीवन के सभी पहलुओं और परिस्थितियों में किस प्रकार निर्णय लेने चाहिए ये बताया है. आचार्य चाणक्य ने इसमें विद्वान और गुणवान के बारे में कुछ बाते कहीं है. इसके साथ ही आचार्य ने धरती पर मौजूद असली रत्नों के बारे में भी बताया है. जानिए जीवन से जुड़ी आचार्य चाणक्य की 5 बातें

अधिक पढ़ें ...

    गुणवान की पहचान
    चाणक्‍य नी‍ति कहती है कि वही व्यक्ति जीवित है, जो गुणवान है और पुण्यवान है. लेकिन जिसके पास धर्म और गुण नहीं, उसे किस तरह शुभ की कामना दी जा सकती है. क्‍योंकि उसके कर्म उसे अंधकार की ओर ले जाते हैं. (प्रतीकात्मक फोटो- Shutterstock.com)

    विद्वान की पहचान
    आचार्य चाणक्‍य के अनुसार वही विद्वान है, जो वही बात बोलता है जो प्रसंग के अनुरूप हो. जो अपनी शक्ति के अनुरूप दूसरों की प्रेम से सेवा करता है और जिसे अपने क्रोध की मर्यादा का पता है. (प्रतीकात्मक फोटो- Shutterstock.com)

    रत्न की पहचान
    चाणक्‍य नीति के अनुसार इस धरती पर अन्न, जल और मीठे वचन ये ही असली रत्न हैं. मगर मूर्खो को लगता है कि पत्थर के टुकड़े रत्न हैं. (प्रतीकात्मक फोटो- Shutterstock.com)

    संतो की संगत
    आचार्य चाणक्‍य के अनुसार व्‍यक्ति को कुसंग का त्याग करना चाहिए और संत जनों से मेलजोल बढ़ाना चाहिए. अपने कर्मों का सदैव चिंतन करते रहें. इससे व्‍यक्ति गलत राह पर जाने से बचा रहेगा. (प्रतीकात्मक फोटो- Shutterstock.com)

    बेहतर का प्रयास
    चाणक्‍य नी‍ति कहती है कि कोकिल यानी कोयल तब तक मौन रहती है. जब तक वह मीठा गाने की क़ाबिलियत हासिल नहीं कर लेती और सबको आनंद नहीं पहुंचा सकती. इसलिए व्‍यक्ति को स्‍वयं में बेहतर बदलाव करने चाहिए. (प्रतीकात्मक फोटो- Shutterstock.com) साभार/हिंदी साहित्‍य दर्पण (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

    Tags: Religion

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर