Chandra Grahan 2020: 5 जुलाई को है साल का तीसरा चंद्र ग्रहण, उस समय कभी न करें ये काम

Chandra Grahan 2020: 5 जुलाई को है साल का तीसरा चंद्र ग्रहण, उस समय कभी न करें ये काम
5 जुलाई को लगने वाले इस चंद्र ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं होगा यानि किसी भी प्रकार के शुभ कार्य वर्जित नहीं होंगे.

ज्योतिष विज्ञान में यह भी माना जाता है कि चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) के दौरान कुछ कामों से परहेज करना चाहिए और कुछ काम इस दौरान करने से अच्छा फल मिलता है.

  • Share this:
Chandra Grahan 2020 Date and Timing: इस साल का तीसरा चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) आगामी 5 जुलाई को लगने वाला है. इस ग्रहण काल में सूतक काल मान्य नहीं होगा. यह भारत (India) सहित दक्षिण एशिया के कुछ हिस्से, अमेरिका, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देगा. आपको बता दें कि वर्ष 2020 में कुल 6 ग्रहण लगेंगे. इसमें से दो चंद्र ग्रहण (10 जनवरी, 5 जून) व एक सूर्यग्रहण (21 जून) लग चुका है. आगामी समय में दो चंद्र ग्रहण व एक सूर्य ग्रहण और लगेगा. 5 जुलाई को लगने वाले इस चंद्र ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं होगा यानि किसी भी प्रकार के शुभ कार्य वर्जित नहीं होंगे. पूजा पाठ (Worship) और भोजन (Food) से जुड़े कार्य किए जा सकेंगे. लेकिन फिर भी संयम बरतने और नियमों का पालन करना जरूरी है. 5 जुलाई को लगने वाला चंद्र ग्रहण उपछाया चंद्र ग्रहण है.

5 जुलाई, चंद्र ग्रहण का समय
उपच्छाया से पहला स्पर्श: सुबह 08:38 बजे
परमग्रास चंद्र ग्रहण: सुबह 09:59 बजे
उपच्छाया से अन्तिम स्पर्श: सुबह 11:21 बजे
ग्रहण अवधि: 02 घंटे 43 मिनट 24 सेकंड



ज्योतिष विज्ञान में यह भी माना जाता है कि चंद्र ग्रहण के दौरान कुछ कामों से परहेज करना चाहिए और कुछ काम इस दौरान करने से अच्छा फल मिलता है. आइए जानते हैं कौन से हैं वो काम जिन्हें चंद्रग्रहण पर नहीं करना चाहिए.

चंद्र ग्रहण पर न करें ये काम

चंद्र ग्रहण के समय बालों में तेल लगाना, भोजन करना, पानी पीना, सोना, बाल बांधना, साथी से संबंध बनाना, दातुन करना, कपड़े धोना, ताला खोलना जैसे कामों से परहेज करना चाहिए.

चंद्र ग्रहण के समय भगवान की मूर्ति को नहीं छूनी चाहिए.

चंद्र ग्रहण के समय अन्न नहीं ग्रहण करना चाहिए. ऐसा माना जाता है कि इस दौरान आप जितने अन्न के दाने खाते हैं आपको नरक में उतनी ही यातनाएं झेलनी पड़ती हैं.

चंद्र ग्रहण के दौरान सोने से परहेज करना चाहिए. चंद्र ग्रहण में तीन प्रहार यानी कि 3 घंटे तक खाना खाना नहीं चाहिए. हालांकि रोगी, बच्चों और बुजुर्गों के लिए ये नियम नहीं हैं.

स्कंद पुराण के मुताबिक, चंद्र ग्रहण पर दूसरे का अनाज या किसी का दिया हुआ खाना खाने से पुण्य का नाश होता है.

चंद्र ग्रहण के समय कोई शुभ काम नहीं करना चाहिए. हालांकि मन ही मन भगवान का स्मरण किया जा सकता है.

चंद्र ग्रहण में क्या करें

चंद्र ग्रहण लगने से पहले नहा धो करके भगवान की पूजा अर्चना और हवन करना चाहिए.

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, ग्रहण के समय किए गए दान से सामान्य से कई गुना फल मिलता है. इस दौरान पुण्य कर्म करने चाहिए.  (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें).
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज