Home /News /dharm /

शुक्रवार को जपें मां लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों के नाम, मिलेगा धन लाभ

शुक्रवार को जपें मां लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों के नाम, मिलेगा धन लाभ

मां लक्ष्मी की महिमा जानने के लिए आज के दिन लक्ष्मी स्त्रोत का पाठ जरूर करें.

मां लक्ष्मी की महिमा जानने के लिए आज के दिन लक्ष्मी स्त्रोत का पाठ जरूर करें.

मां लक्ष्‍मी (Maa Lakshmi) धन-संपत्ति की देवी हैं जो जीवन में सुख-सौभाग्‍य को बनाएं रखती हैं. माना जाता है कि अगर पैसों की परेशानी (Money Problem) हो तो मां लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों का नाम लेने से अचानक धन लाभ होता है.

    शुक्रवार (Friday) की शाम को मां लक्ष्मी (Maa Lakshmi) की पूजा की जाती है. ऐसी मान्यता है कि शुक्रवार को विधिवत पूजन से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और जातकों पर धन वर्षा करती हैं. घर में सुख-शांति और समृद्धि बनाए रखने के लिए लोग शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करते हैं. कहते हैं कि मां लक्ष्मी की पूजा करने से पैसों (Money) की कमी कभी नहीं होती है. धर्मग्रंथों में धन समृद्धि की देवी लक्ष्मी को बताया गया है. इन्हें भगवान विष्णु की पत्नी और आदिशक्ति भी कहा जाता है. धन की देवी मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए लोग कई तरह के उपाय करते हैं. मां लक्ष्‍मी धन-संपत्ति की देवी हैं जो जीवन में सुख-सौभाग्‍य को बनाएं रखती हैं. माना जाता है कि अगर पैसों की परेशानी हो तो मां लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों का नाम लेने से अचानक धन लाभ होता है. यह उपाय शुक्रवार से आजमाएं और मां लक्ष्मी की कृपा से अपनी समस्‍याओं से छुटकारा पाएं.

    ऋग्वेद में लक्ष्मी पुत्रों के नाम
    ऋग्वेद में लक्ष्मी जी के 4 पुत्रों का नाम इस श्लोक में आया है.
    आनंद: कर्दम: श्रीदश्चिकलीत इति विश्रुता
    ऋषय: श्रिय: पुत्राश्व मयि श्रीर्देवी देवता
    लेकिन आकस्मिक धन पाने के लिए आपको लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों के नाम लेने होंगे. इसके बाद धन की परेशानी से मां लक्ष्मी छुटकारा दिलाती हैं.

    इसे भी पढ़ेंः ऐसे घरों में नहीं होता है मां लक्ष्मी का वास, जानें सही पूजा विधि

    कैसे होगा धन लाभ
    अगर कभी अचानक से आपको घाटा हो जाए या फिर जॉब चली जाए या फिर बीमारी के चलते बैंक बैलेंस खत्‍म हो जाए तो ऐसी ही स्थिति में, लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों का नाम, शुक्रवार से जपना शुरू कर दें.

    मां लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों के नाम-
    1. ॐ देवसखाय नम:
    2. ॐ चिक्लीताय नम:
    3. ॐ आनन्दाय नम:
    4. ॐ कर्दमाय नम:
    5. ॐ श्रीप्रदाय नम:
    6. ॐ जातवेदाय नम:
    7. ॐ अनुरागाय नम:
    8. ॐ सम्वादाय नम:
    9. ॐ विजयाय नम:
    10. ॐ वल्लभाय नम:
    11. ॐ मदाय नम:
    12. ॐ हर्षाय नम:
    13. ॐ बलाय नम:
    14. ॐ तेजसे नम:
    15. ॐ दमकाय नम:
    16. ॐ सलिलाय नम:
    17. ॐ गुग्गुलाय नम:
    18. ॐ कुरूण्टकाय नम:(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Religion

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर