Dhanteras 2020: सालों बाद धनतेरस पर बना अनोखा संयोग, इस समय करें धनवंतरि देव की पूजा

धनतेरस हर वर्ष कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को मनाया जाता है.
धनतेरस हर वर्ष कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को मनाया जाता है.

भारत में ही नहीं बल्कि दुनियाभर में प्रसिद्ध पांच दिनों तक चलने वाले पर्वों के महापर्व, दीपावली (Diwali 2020) की शुरुआत धनतेरस (Dhanteras 2020) से होती है और उसका समापन भाई दूज (Bhai Dooj 2020) के दिन होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 6:21 AM IST
  • Share this:
धनतेरस (Dhanteras 2020) के साथ ही दिवाली (Diwali 2020) के त्योहार की शुरुआत हो गई है. आज धनतेरस है. हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, धनतेरस हर वर्ष कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को मनाया जाता है. जिसे हम धन त्रयोदशी व धनवंतरि जयंती के नाम से भी जानते हैं. इस दिन धनवंतरि देव की पूजा-अर्चना करने का विधान है. इसीलिए देशभर में लोग इस खास दिन आर्थिक बढ़ोतरी व सुख-समृद्धि पाने के लिए परंपरा अनुसार सोने-चांदी के आभूषण, बर्तन, झाड़ू और अन्य वस्तुओं की खरीदारी करते हुए इस पर्व को मनाते हैं.

धनतेरस पर बना अनोखा संयोग
भारत में ही नहीं बल्कि दुनियाभर में प्रसिद्ध पांच दिनों तक चलने वाले पर्वों के महापर्व, दीपावली की शुरुआत धनतेरस से होती है और उसका समापन भाई दूज के दिन होता है. यूं तो धनतेरस का त्योहार दीवाली से दो दिन पूर्व आता है, परन्तु इस वर्ष अनोखा संयोग बना है जिसके कारण इस साल धनतेरस, नरक चतुर्दशी और दीपावली की तारीख को लेकर लोगों में भ्रम की स्थिति है.

इसे भी पढ़ें: Dhanteras 2020: कब है धनतेरस? जानें पूजा का शुभ मुहूर्त और इस त्योहार का महत्व
एस्ट्रोसेज के वरिष्ठ ज्योतिषी एस्ट्रोगुरु मृगांक ने लोगों के इसी भ्रम को दूर करते हुए बताया है कि, अंग्रेजी कैलेंडर की तरह हिंदू पंचांग में हर तिथि 24 घंटे के अनुसार नहीं होती है, बल्कि कई बार ग्रहों-नक्षत्रों की स्थिति में बदलाव के कारण, तिथियां इस अवधि से कम या ज्यादा की भी होती है. इसलिए इस बार भी इसी कारण कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी तिथि की शुरुआत 12 नवंबर, गुरुवार को रात्रि 09 बजकर 30 मिनट से हुई है जो आज 13 नवंबर, शुक्रवार शाम 06 बजकर 01 मिनट पर समाप्त होगी. इसलिए उदया तिथि में इस वर्ष धनतेरस 13 नवंबर को मनाई जाएगी.



इसके साथ ही 13 नवंबर, शुक्रवार शाम 06 बजकर 01 मिनट से कृष्ण चतुर्दशी तिथि प्रारंभ होगी और जो अगले दिन 14 नवंबर 2020, रविवार दोपहर 02 बजकर 20 मिनट पर समाप्त होगी. इसलिए धार्मिक मान्यता के अनुसार, उदया तिथि में ही नरक चतुर्दशी पर्व मनाया जाएगा, यानि छोटी दीवाली व नरक चतुर्दशी 14 नवंबर 2020 को ही बड़ी दीवाली के साथ मनाई जाएगी.

धनतेरस पूजा शुभ मुहूर्त
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, धनतेरस की पूजा का शुभ मुहूर्त 13 नवंबर को शाम के समय, अमृत मुहूर्त में 05 बजकर 34 मिनट से 06 बजकर 01 मिनट तक रहेगा. इस दौरान शुभ मुहूर्त में पूजा करना फलदायी व किसी भी व्यक्ति के धन को तेरह गुना तक बढ़ाने वाला सिद्ध होता है. मान्यता अनुसार इस मुहूर्त पर अगर कोई दीपदान करता है तो भी उसे, शुभाशुभ फलों की प्राप्ति होती है.

इसे भी पढ़ेंः Dhanteras 2020: धनतेरस पर ये है सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त, जानें इस दिन का महत्व

धनतेरस मुहूर्त 2020
13 नवंबर, शुक्रवार
धनतेरस मुहूर्त- शाम 5 बजकर 34 मिनट से शाम 6 बजे तक
अवधि- 27 मिनट

धनतेरस पर खरीदारी का शुभ मुहूर्त
इस वर्ष 13 नवंबर को धनतेरस पर खरीदारी के लिए कुल तीन मुहूर्त का निर्माण हो रहा है.
-पहला मुहूर्त सुबह 7 से 10 बजे तक है.
-दूसरा मुहूर्त दोपहर 1 से 2.30 बजे तक रहेगा.
-तीसरा मुहूर्त शाम 5:27 से लेकर 5:59 तक मान्य रहेगा. (साभार- Astrosage.com)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज