Home /News /dharm /

Diwali Lakshmi Puja 2021 Muhurat: पं. नवीन उपाध्याय से जानें दिवाली पर लक्ष्मी पूजन के लिए शुभ मुहूर्त

Diwali Lakshmi Puja 2021 Muhurat: पं. नवीन उपाध्याय से जानें दिवाली पर लक्ष्मी पूजन के लिए शुभ मुहूर्त

दिवाली के दिन शुभ मुहूर्त पर मां लक्ष्मी का पूजन करने से जीवन में सुख-समृद्धि आती है.

दिवाली के दिन शुभ मुहूर्त पर मां लक्ष्मी का पूजन करने से जीवन में सुख-समृद्धि आती है.

Diwali Lakshmi Puja 2021 Muhurat: दीपों का पर्व दिवाली आज मनायी जाएगी. पुराणों के अनुसार त्रेतायुग में जब भगवान राम लंकापति रावण का वध कर वापस अयोध्या लौटे थे तब वहां उनका स्वागत हज़ारों दीपों को जलाकर किया था. भगवान राम की इस विजय के प्रतीक के तौर पर हर साल दिवाली का त्यौहार मनाया जाता हैं. दिवाली के दिन प्रथम पूज्य श्री गणेश और धन की देवी माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है. इस दिन घरों में रंगोली बनाई जाती है. साथ ही घर के हर हिस्से में दीप जलाकर रोशनी की जाती है. इस दौरान मां लक्ष्मी के आगमन का स्वागत किया जाता है. गणेश-लक्ष्मी की पूजा के बाद खील-बतासे का प्रसाद बांटकर एक दूसरे को दिवाली की बधाई दी जाती हैं.

अधिक पढ़ें ...

    Diwali Lakshmi Puja 2021 Muhurat: अंधकार पर प्रकाश की विजय का संदेश देता दीपोत्सव पर्व दिवाली (Diwali)इस बार 04 नवंबर (गुरुवार) को मनाया जाएगा. दिवाली के दिन विशेष तौर पर प्रथम आराध्य भगवान गणेश और धन की देवी मां लक्ष्मी का शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat) में पूजन किया जाता है. यह पांच दिवसीय पर्व है जिसकी शुरुआत धनतेरस के दिन से होती है और भाईदूज पर दीपोत्सव का समापन होता है. पुराणों की कथा के अनुसार भगवान श्रीराम की लंका विजय के बाद अयोध्या नगर आगमन पर जमकर खुशियां मनाई गई थीं. इस दौरान भगवान राम के आने की खुशी में दीप जलाए गए थे. तब से ही दिवाली की रात को दीपों से रोशन करने की परंपरा शुरू हुई थी.

    हिंदू धर्म में दिवाली को सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है. इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा का विशेष महत्व है. घरों के साथ ही व्यापारिक प्रतिष्ठानों में भी मां लक्ष्मी का पूजन किया जाता है. इस दिन जीवन में सुख-समृद्धि की कामना भी की जाती है. दीपदान, धनतेरस, गोवर्धन पूजा, भैया दूज जैसे त्योहार दिवाली के साथ-साथ ही सेलिब्रेट किए जाते हैं. दिवाली के दिन शुभ मुहूर्त में किया गया भगवान गणेश और मां लक्ष्मी का पूजन जीवन में अपार खुशियां लाता है. जीवन धन-धान्य से परिपूर्ण हो जाता है.

    इसे भी पढ़ें: धनतेरस पर नहीं खरीद सकते कीमती धातु या बर्तन तो परेशान न हों, ऐसे मिलेगा पूजा का संपूर्ण फल

    दिवाली के शुभ मुहूर्त
    दिवाली के दिन मां लक्ष्मी का पूजन करने के लिए विशेष मुहूर्त होता है. इस खास समय में पूजा करने पर उसका संपूर्ण फल प्राप्त होता है. आचार्य पं. नवीन उपाध्याय के अनुसार दिवाली पर व्यापारिक संस्थानों द्वारा स्थिर लग्न में मां लक्ष्मी का पूजन करना श्रेष्ठ होता है. वहीं घरों में गोधुली बेला में धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा को श्रेष्ठ माना जाता है. इसके साथ ही पूजा के समय के लिए चौघड़िया का भी विचार किया जाता है. गोधुली बेला में वृषभ लग्न के दौरान घरों में किया गया मां लक्ष्मी का पूजन सर्वश्रेष्ठ होता है.

    दीपोत्सव विधि मूहूर्त

    कार्तिक कृष्ण अमावस्या दिनांक 4:11: 2021 गुरुवार

    प्रातः 06.16 – 08.54 शुभ वेला

    दिवा 11.00 – 12.42 चंचल वेला

    दिवा 11.58 – 12.42 अभिजीत वेला

    दिवा 12.21 – 01.30 लाभ वेला

    दिवा 04.28 – 05.50 शुभ वेला

    गोधूलि वेला 05.50 – 08.26

    वृश्चिक लग्न प्रातः 07.50 – 10.06

    कुंभ लग्न दिवा 01.54 – 03.24

    वृषभ लग्न सायं 06.30 – 08.25

    सिंह लग्न रात्रि 12.57 – 03.13

    Tags: Diwali, Diwali 2021, Religion, धर्म

    अगली ख़बर