होम /न्यूज /धर्म /Durga Puja 2022: नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा में शामिल करें जौ, सुख-समृद्धि का होगा आगमन

Durga Puja 2022: नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा में शामिल करें जौ, सुख-समृद्धि का होगा आगमन

नवरात्रि में  9 दिनों तक माता की विशेष उपासना होती है.

नवरात्रि में 9 दिनों तक माता की विशेष उपासना होती है.

Durga Puja 2022: नवरात्रि में 9 दिनों तक माता को प्रसन्न करने के लिए भक्त विशेष उपासना करके व्रत रखेंगे. नवरात्रि में ज ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

नवरात्रि में जौ बोना शुभ माना जाता है क्योंकि इससे मां खुश होती हैं.
कहते हैं कि धरती पर सबसे पहली फसल जौ ही बोई गई थी.

Durga Puja 2022: मां दुर्गा को समर्पित शारदीय नवरात्रि का पर्व प्रारंभ हो चुका है. 9 दिनों तक माता को प्रसन्न करने के लिए भक्त विशेष उपासना करके व्रत रखेंगे. इस दौरान मां देवी को अलग-अलग दिन विभिन्न पकवाओं और मिठाइयों का भोग लगाया जाएगा और सुख-समृद्धि की कामना की जाएगी. यूं तो  देवी मां भक्तों की सच्ची श्रद्धा से ही प्रसन्न हो जाती हैं, लेकिन माता की पूजा में कुछ विशेष चीजों को शामिल करके दोगुना फल प्राप्त किया जा सकता है. पंडित इंद्रमणि घनस्याल बताते हैं कि मां दुर्गा की पूजा में जितना महत्व अखंड ज्योति का होता है, उतना ही जौ और प्रिय भोग का भी होता है.

मां की पूजा में शामिल करें जौ
नवरात्रि में घटस्थापना के दिन जौ बोना शुरू कर दिया जाता है. नवरात्रि में जौ का बड़ा ही महत्व है. कहते हैं धरती पर सबसे पहले जौ की फसल उगाई गई थी, इसलिए नवरात्रि में जौ बोना शुभ माना जाता है. ज्योतिषियों के अनुसार, जौ को माता की पूजा में शामिल करने से इसका शुभ फल प्राप्त होता है.

यह भी पढ़ेंः नवरात्रि में करें मां दुर्गा की आरती और पढ़ें चालीसा, मातारानी पूरी करेंगी मनोकामनाएं

यह भी पढ़ेंः Navratri 2022: हिंदू धर्म में नवरात्रि का क्या है महत्व? यहां जानिए

इससे जीवन में आ रही रुकावटें दूर हो जाती हैं. घर में सुख-समृद्धि का आगमन होता है. जौ बोने के बाद अगर नवरात्रि में वह हरे-भरे हो जाएं तो ये अच्छे संकेत माने जाते हैं. यह इस बात का संकेत है कि मां देवी की कृपा आप पर बरसने वाली है.

पूजा के समय इन बातों का रखें ध्यान
ज्योतिषियों के अनुसार, मां दुर्गा की पूजा के समय सभी सामग्री को एक साथ लेकर बैठें क्योंकि पूजा के समय बार-बार उठना शुभ नहीं माना जाता है. नवरात्रि में अलग-अलग दिन पूजा का विधान है. ऐसे में दिन के हिसाब से पूजा की सामग्री तैयार रखें और मां को प्रिय वस्तुओं का भोग लगाएं.

अखंड ज्योति के बिना मां की पूजा अधूरी मानी जाती है. ऐसे में दक्षिण-पूर्व दिशा की ओर अखंड ज्योति जरूर जलाएं. नवरात्रि में उपवास के नियमों का पालन जरूर करें.

Tags: Dharma Aastha, Durga Pooja, Navaratri, Navratri

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें