• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • Dussehra 2021: जानें कब है दशहरा, इस शुभ मुहूर्त पर करें रावण का पूजन

Dussehra 2021: जानें कब है दशहरा, इस शुभ मुहूर्त पर करें रावण का पूजन

दशहरा के दिन भगवान श्रीराम ने अत्याचारी रावण का वध किया था.

दशहरा के दिन भगवान श्रीराम ने अत्याचारी रावण का वध किया था.

Shardiya Navtari 2021: दशहरा के दिन भगवान श्री राम (Lord Shri Rama), मां दुर्गा, लक्ष्मी माता, मां सरस्वती, भगवान गणेश और हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए.

  • Share this:

    Dussehra 2021: हिंदू पंचांग के अनुसार, वर्ष 2021 में दशहरा या विजया दशमी (Vijaya Dashmi 2021) का पर्व 15 अक्टूबर को मनाया जाएगा. आपको बता दें कि दशहरा हर वर्ष आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि पर मनाया जाता है. धार्मिक कथाओं के मुताबिक, इस दिन भगवान श्रीराम ने अत्याचारी रावण (Ravana) का वध किया था. वहीं इसी दिन मां दुर्गा (Maa Durga) ने महिषासुर का अंत करके बुराई पर अच्छाई के जीत का परचम लहराया था. भक्त इस दिन मां दुर्गा तथा भगवान श्री राम की पूजा-अर्चना करते हैं. माना गया है इस दिन मां दुर्गा और भगवान श्री राम की पूजा-आराधना करने से जीवन में सकारात्मकता आती है. इस दिन रावण का पुतला जलाने का विधान है. ऐसा करके भक्त अपने अवगुणों को जीवन से बाहर निकालते हैं. दशहरा को बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक मानते हैं. हिंदू पंचांग के अनुसार, दिवाली से ठीक 20 दिन पहले आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को दशहरा मनाया जाता है. दशहरे का दिन साल के सबसे पवित्र दिनों में से एक माना जाता है. इस दिन किसी भी नए काम की शुरुआत की जा सकती हा.

    कब है दशहरा
    इस साल दशहरा 15 अक्टूबर (शुक्रवार) को मनाया जाएगा. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दशहरा के दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था. इसलिए इसे विजया दशमी के रूप में भी मनाते हैं.

    इसे भी पढ़ेंः Shardiya Navratri 2021: मां सती की जीभ से बना शक्तिपीठों में से एक ‘ज्वाला देवी मंदिर’, जानें इसका रहस्य

    विजयादशमी शुभ मुहूर्त

    विजयादशमी तिथि- 15 अक्टूबर 2021 (शुक्रवार)
    दशमी तिथि प्रारंभ- 14 अक्टूबर शाम 06:52 बजे से
    दशमी तिथि समापन- 15 अक्टूबर शाम 06:02 बजे तक
    श्रवण नक्षत्र प्रारंभ- 14 अक्टूबर सुबह 09:36 बजे से
    श्रवण नक्षत्र समापन- 15 अक्टूबर सुबह 09:16 बजे तक

    15 अक्टूबर को विजया दशमी के दिन दोपहर 2 बजकर 1 मिनट से 2 बजकर 47 मिनट तक विजय मुहूर्त है. इस मुहूर्त की कुल अवधि 46 मिनट की है. दोपहर के समय पूजा का शुभ मुहूर्त दोपहर 1 बजकर 15 मिनट से लेकर दोपहर 3 बजकर 33 मिनट तक शुभ मुहूर्त है.

    इसे भी पढ़ेंः Shardiya Navratri 2021: नवरात्रि पर मां दुर्गा के इन मंदिरों में करें दर्शन, मिलेगा आशीर्वाद

    दशहरा के दिन करें ये शुभ काम
    दशहरा के दिन भगवान श्री राम, मां दुर्गा, लक्ष्मी माता, मां सरस्वती, भगवान गणेश और हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए. साथ ही भगवान से सबके लिए मंगल कामना करनी चाहिए. समस्त मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए विजयादशमी पर रामायण पाठ, श्री राम रक्षा स्त्रोत, सुंदरकांड का पाठ किया जाना शुभ माना जाता है..(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज