• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • Navratri 2020: नवरात्रि मां कूष्मांडा: मां कूष्मांडा को दें कुम्हड़े की बलि, पढ़ें पूजा विधि, आरती

Navratri 2020: नवरात्रि मां कूष्मांडा: मां कूष्मांडा को दें कुम्हड़े की बलि, पढ़ें पूजा विधि, आरती

मां कूष्मांडा पूजा विधि

मां कूष्मांडा पूजा विधि

Chaitra Navratri 2020 Fourth day (नवरात्रि २०२०): मां कूष्मांडा पूजा विधि, आरती

  • Share this:
    नवरात्रि २०२०, नवरात्रि चौथा दिन, Navratri 2020: आज नवरात्रि के चौथे दिन मां शक्ति के चौथे स्वरुप मां कूष्मांडा की पूजा अर्चना की जा रही है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, मां कूष्मांडा की आठ भुजाएं हैं. एक हाथ उन्होंने स्फटिक की माला धारण की है. देवी के अन्य हाथों में शंख, चक्र, गदा, धनुष बाण है. देवी ने कमंडल और अमृत कलश भी लिया हुआ है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, देवी को कुम्हड़ा बेहद पसंद है. यही वजह है कि देवी को कुम्हड़े की बलि दी जाती है. देवी भक्तों के यश और आयु में वृद्धि करती हैं. जानें मां की पूजा विधि और मंत्र...

    मां कूष्मांडा का मंत्र:
    मंत्र: या देवि सर्वभूतेषू सृष्टि रूपेण संस्थिता
    नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम: .

    मां कूष्मांडा पूजा विधि:
    मां कूष्मांडा की पूजा करने के लिए प्रातः भोर में ही पवित्र जल से स्नान करने के बाद पूजाघर साफ करें. मां कूष्मांडा को प्रणाम करें और पूजा-अर्चना शुरू करें. देवी को लाल गुड़हल का अति प्रिय है, इसलिए देवी को लाल गुड़हल का फूल और लाल रंग का श्रृंगार का सामान भी चढ़ाएं. मां की कथा पढ़ें. इसके बाद आरती का पाठ करें. मां को मालपुए का भोग लगाएं. प्रसाद को ब्राह्मण देव और जरूरतमंद लोगों को बांट दें.

    मां कूष्मांडा आरती:

    कूष्मांडा जय जग सुखदानी.
    मुझ पर दया करो महारानी॥

    पिगंला ज्वालामुखी निराली.
    शाकंबरी माँ भोली भाली॥

    लाखों नाम निराले तेरे .
    भक्त कई मतवाले तेरे॥

    भीमा पर्वत पर है डेरा.
    स्वीकारो प्रणाम ये मेरा॥

    सबकी सुनती हो जगदंबे.
    सुख पहुँचती हो माँ अंबे॥

    तेरे दर्शन का मैं प्यासा.
    पूर्ण कर दो मेरी आशा॥

    माँ के मन में ममता भारी.
    क्यों ना सुनेगी अरज हमारी॥

    तेरे दर पर किया है डेरा.
    दूर करो माँ संकट मेरा॥

    मेरे कारज पूरे कर दो.
    मेरे तुम भंडारे भर दो॥

    तेरा दास तुझे ही ध्याए.
    भक्त तेरे दर शीश झुकाए॥

    Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज