होम /न्यूज /धर्म /गणेश जयंती पर रवि योग साथ बुध का अद्भुत संयोग, 5 भोग से खुलेंगे उन्नति के द्वार, माता लक्ष्मी की भी होगी कृपा

गणेश जयंती पर रवि योग साथ बुध का अद्भुत संयोग, 5 भोग से खुलेंगे उन्नति के द्वार, माता लक्ष्मी की भी होगी कृपा

गणेश जयंती 2023 पर रवि योग, परिघ योग और शिव योग बने हैं.

गणेश जयंती 2023 पर रवि योग, परिघ योग और शिव योग बने हैं.

आज 25 जनवरी को गणेश जयंती है. अरज के दिन बुधवार का संयोग है. इस दिन रवि योग में गणेश जी की पूजा होगी. पूजा के समय गणपति ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

इस दिन माघ माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी ति​थि है.
गणेश जी को केले का भोग लगाएं. यह गणपति बप्पा को प्रिय है.
गणेश पूजा से बुध ग्रह से जुड़े दोष दूर होते हैं.

नए साल 2023 में गणेश जयंती आज 25 जनवरी दिन बुधवार को है. इस दिन माघ माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी ति​थि है. इस वजह से यह माघ विनायक चतुर्थी व्रत भी है. इस बार गणेश जयंती के अवसर पर बुधवार दिन का अद्भुत संयोग बना है क्योंकि बुधवार का दिन भगवान विघ्नहर्ता की पूजा के लिए होता है. इसकी भी एक पौराणिक कथा है. इसके अलावा गणेश जयंती पर रवि योग, परिघ योग और शिव योग बने हैं. इस बार आप गणेश जयंती पर गणपति बप्पा को उनका मनचाहा भोग अर्पित करेंगे तो आपकी उन्नति के द्वार खुल जाएंगे, साथ ही माता लक्ष्मी का भी आशीर्वाद प्राप्त होगा.

बुधवार को गणेश पूजन का महत्व
श्री कल्लाजी वैदिक विश्वविद्यालय के ज्योतिष विभागाध्यक्ष डॉ मृत्युञ्जय तिवारी बताते हैं कि जब माता पावर्ती ने भगवान गणेश की प्राण प्रतिष्ठा की. तब उस दौरान कैलाश पर्वत पर बुध देव भी मौजूद थे. गणेश जी की पूजा लिए बुध ग्रह ने अपना वार गणेश जी को दिया, जिससे बुधवार को गणेश जी की पूजा करते हैं. गणपति की पूजा का प्रतिनिधि वार बुधवार हुआ. इस वजह से बुधवार व्रत और गणेश पूजा से बुध ग्रह से जुड़े दोष दूर होते हैं. गणपति बप्पा भी खुश होते हैं.

यह भी पढ़ें: गणेश जयंती पर राशि अनुसार करें मंत्र जाप, तरक्की और खुशहाली से भर जाएगा घर

रवि योग में गणेश जयंती
गणेश जयंती पर रवि योग बन रहा है. रवि योग सुबह 07:13 एएम से रात 08:05 पीएम तक है. इस दिन गणेश पूजा का मुहूर्त 11:29 एएम से दोपहर 12:34 पीएम तक है. इस तरह से गणेश जयंती की पूजा रवि योग में होगी.

गणेश जयंती पर पाएं माता लक्ष्मी का आशीर्वाद
पौराणिक कथा के अनुसार, जब माता लक्ष्मी ने गणेश जी को अपना पुत्र माना था, तब उन्होंने गणेश जी को वरदान दिया था कि जहां पर उनकी पूजा होगी, वहां पर स्थिर लक्ष्मी का वास होगा. इस वजह से गणेश जयंती की पूजा करके मां लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: गणेश जयंती पर 4 उपायों से पाएं समस्याओं से छुटकारा, बप्पा का मिलेगा आशीर्वाद

गणेश जी के 5 प्रिय भोग
1. गणेश जयंती पर आप गणपति बप्पा को मोदक का भोग लगाएं. मोदक गणेश जी को अत्यंत पसंद है. गणेश जी प्रसन्न होकर आपको सुख और समृद्धि का अशीर्वाद देंगे.

2. गणेश जी को केले का भोग लगाएं. यह गणपति बप्पा को प्रिय है. बस ध्यान रहे कि केला जोड़े में अर्पित करना है.

3. गणेश जी को आप मखाने की खीर का भोग लगाएं. खीर चंद्रमा और माता लक्ष्मी को भी प्रिय है. इससे आपके धन, संपत्ति में बरकत होगी.

4. गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए आप केसर युक्त श्रीखंड का भोग लगा सकते हैं

5. इसके अलावा आप गणपति बप्पा को बेसन के लड्डू या मोतीचूर के लड्डू का भोग लगाएं.

इनके अतिरिक्त आप गणेश जी को सीताफल, अमरूद, बेल या जामुन का भोग भी लगा सकते हैं.

Tags: Dharma Aastha, Lord ganapati

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें