Home /News /dharm /

संतान सुख के लिए है बाल गणेश प्रतिमा, जानें बप्पा की किस मूर्ति से जुड़ी है कौन सी मनोकामना

संतान सुख के लिए है बाल गणेश प्रतिमा, जानें बप्पा की किस मूर्ति से जुड़ी है कौन सी मनोकामना

विघ्नहर्ता गणेशजी भक्तों के कष्ट दूर करने के साथ उनकी हर मनोकामना पूर्ण करते हैं. Image - Shutterstock.com

विघ्नहर्ता गणेशजी भक्तों के कष्ट दूर करने के साथ उनकी हर मनोकामना पूर्ण करते हैं. Image - Shutterstock.com

Ganesh Utsav 2021: गौरीपुत्र भगवान गणेश प्रथम पूज्य हैं. कोई भी भक्त अगर उनकी सच्चे दिल से आराधना करता है तो वे उसकी हर मनोकामना पूर्ण कर देते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    Ganesh Utsav 2021: गणेश चतुर्थी के बाद दस दिनों तक प्रथम पूज्य, विघ्नहर्ता भगवान गणेश (Lord Ganesha) की आराधना का विशेष महत्व होता है. इन दिनों में जो भी भक्त सच्चे हृदय से बप्पा की उपासना करता है गणेशजी उनके सारे दु:ख दूर कर देते हैं. हालांकि, मान्यता है कि जैसी मनोकामना हो उस हिसाब से ही गणपति जी की मूर्ति (Ganesha Idol) की आराधना करनी चाहिए. इससे मनोकामना जल्द पूरी होती है. हम आपको बताने जा रहे हैं गणेश जी के विभिन्न स्वरुप और मनोकामना के हिसाब से गणेश जी की कौन सी प्रतिमा की आराधना सर्वश्रेष्ठ रहेगी.
    भगवान गणेश को मंदिर में स्थापित करने और घर में स्थापित करने के विषय में भी कहा जाता है कि अगर मंदिर में गणेश जी की स्थापना करना हो तो दक्षिणामुखी गणेश जिन्हें सिद्धिविनायक कहा जाता है स्थापित करना चाहिए. वहीं अगर घर में गणेश जी की स्थापना करनी है तो वाममुखी महागणपति जो वक्रतुंड भी कहलाते हैं उनकी स्थापना करना सर्वश्रेष्ठ होता है.

    संतान सुख के लिए रखें बाल गणेश
    जो लोग बप्पा के सामने संतान सुख के लिए अर्जी लगाना चाहते हैं, उन्हें अपने घर में बाल गणेश की प्रतिमा या उनकी तस्वीर रखकर पूजा-अर्चना करनी चाहिए. नियमित बालगणेश के पूजन-अर्चन से संतान प्राप्ति में आने वाली सारी बाधाएं दूर हो जाती हैं. इसके साथ ही बुद्धिमान, स्वस्थ्य संतान की प्राप्ति होती है.

    इसे भी पढ़ें: असुरों का राजा गजमुख कैसे बन गया मूषक? जानें बाल गणेश की ये रोचक कहानी

    बुद्धि-विवेक के लिए हैं नाचते हुए गणेश
    अगर घर में खुशहाली और बुद्धि एवं विवेक प्राप्ति की कामना है तो ऐसी सूरत में घर में भगवान महागणेश की नृत्यमुद्रा वाली प्रतिमा को रखना श्रेष्ठ होता है. इस प्रतिमा की पूजा खासतौर पर छात्रों को करना चाहिए. कला जगत के लोगों को भी बप्पा के इस स्वरुप का ध्यान करने से विशेष लाभ की प्राप्ति होती है.

    सुख-आनंद के लिए लेटे गणेशजी
    लेटे हुए गणेश जी या गणेश जी आसन पर विराजमान हो तो ऐसी प्रतिमा को घर पर लाना शुभकारी होता है. इससे घर में सुख और आनंद में बढ़ोतरी होती है.

    इसे भी पढ़ें: Ganesh Mahotsav 2021: यहां हैं देश के 10 प्रसिद्ध गणेश मंदिर, दर्शन से बप्पा बनाते हैं बिगड़े काम

    विघ्नहर्ता हैं सिंदूरी लाल रंग के गणेश
    भगवान गणेश का एक नाम विघ्नहर्ता भी है. अगर भक्त सच्चे दिल से उनकी उपासना करते हैं तो वे अपने भक्तों के सारे कष्ट दूर कर देते हैं. घर में किसी भी तरह का विघ्न न आए इसके लिए सिंदूरी लाल रंग के गणेश जी को घर में लाना चाहिए. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

    Tags: Ganesh, Ganesh Chaturthi, Ganesh Chaturthi 2021, Religion, धर्म

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर