होम /न्यूज /धर्म /चंद्रकांता रत्न पहनने से चमक सकती है किस्मत, जानें किसे धारण करना चाहिए ये रत्न

चंद्रकांता रत्न पहनने से चमक सकती है किस्मत, जानें किसे धारण करना चाहिए ये रत्न

चंद्रकांता रत्न धारण करने के हैं कई फायदे

चंद्रकांता रत्न धारण करने के हैं कई फायदे

ज्योतिष शास्त्र में चंद्रकांता रत्न को उपरत्न माना गया है. लेकिन इसके बावजूद यह काफी असरदार है. इस रत्न को धारण करते ही ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

सफेद मोती रत्न का ही उपरत्न है चंद्रकांता रत्न
चंद्रकांता रत्न पहनने से मानसिक तनाव होते हैं कम
चंद्रकांता रत्न धारण करने से चंद्रमा की ऊर्जा होती है संतुलित

Gemology: ज्योतिष शास्त्र में रत्नों के विशेष महत्व के बारे में बताया गया है. रत्नों का प्रभाव व्यक्ति के जीवन और भाग्य पर पड़ता है. रत्नों को सौरमंडल में मौजूद ग्रहों का अंश माना गया है. ज्योतिष में कुल 84 उपरत्न और 9 प्रमुख रत्नों के बारे में बताया गया है, जिन्हें राशि और ज्योतिषीय परामर्श के अनुसार धारण करने पर व्यक्ति की किस्मत बदल जाती है और परेशानियों से मुक्ति मिलती है. बात करें मून स्टोन या चंद्रकांता रत्न के बारे में तो इसे गौदंती रत्न के नाम से भी जाना जता है.

यह रत्न सफेद मोती का ही उपरत्न है. उपरत्न होने के बावजूद भी यह काफी असरदार होता है. ज्योतिष में इसे चंद्रमा ग्रह का रत्न बताया गया है. आचार्य गुरमीत सिंह जी से जानते हैं चंद्रकांता रत्न के लाभ और किस राशि के लोग इसे धारण कर सकते हैं.

चंद्रकांता रत्न के लाभ

  • चंद्रकांता रत्न मानसिक तनाव को कम करता है. यदि घर पर लड़ाई-झगड़े हो रहे हैं या फिर तनाव की स्थिति बनी हुई है तो यह रत्न जरूर धारण करें.
  • चंद्रकांता रत्न के प्रभाव से नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है.
  • इस रत्न से कलात्मकता में वृद्धि होती है. इसलिए कला क्षेत्र से जुडे लोग जैसे संगीतकार, कलाकार और लेखकों के लिए भी चंद्रकांता रत्न लाभकारी होता है.
  • चंद्रकांता रत्न धारण करने से पति-पत्नी से बीच सामंजस्य बढ़ता है और रिश्ते मजबूत होते हैं.
  • ऐसे लोग जिन्हें अक्सर सर्दी, जुकाम, आंखों की समस्या और पेट में विकार संबंधी समस्या बनी रहती है उन्हें यह रत्न जरूर धारण करना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः फेंगशुई के सिक्के घर में लाते हैं सुख-समृद्धि, इस दिशा में लगाना होता है 

किन राशि के लोगों को धारण करना चाहिए चंद्रकांता रत्न
ज्योतिष के अनुसार वृश्चिक लग्न वाले राशि की जन्मकुंडली में चंद्रमा भाग्य भाव का स्वामी होता है और चंद्रकांता चंद्रमा का रत्न होता है. इसलिए विशेषकर इस राशि के लोग चंद्रकांता रत्न धारण कर सकते हैं. साथ ही चंद्रमा की ऊर्जा को संतुलित करने के लिए चंद्रकांता रत्न अवश्य धारण करना चाहिए. इसके अलावा कर्क राशि और लग्न जातकों के लिए भी यह रत्न शुभ होता है. वैसे तो चंद्रकांता रत्न धारण करने से किसी भी तरह का नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता. इसलिए इसे धारण करने से व्यक्ति को कोई नुकसान नहीं होता. लेकिन बिना ज्योतिष सलाह के कोई भी रत्न या उपरत्न धारण नहीं करना चाहिए.

चंद्रकांता रत्न धारण करने की विधि
चंद्रकांता रत्न को चांदी की अंगूठी में जड़वाकर किसी भी माह के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाले सोमवार की संध्या को धारण करना चाहिए. इसे दाएं हाथ की कनिष्ठिका अंगुली में धारण करना लाभकारी होता है. लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि चंद्रकांता रत्न के साथ कभी भी नीलम, गोमेद और लहसुनिया रत्न धारण नहीं करें.

Tags: Astrology, Dharma Aastha

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें