होम /न्यूज /धर्म /

समाज में मान-सम्मान बढ़ाता है माणिक, लेकिन व्यापार करने वाले ना करें इस रत्न का इस्तेमाल वरना...

समाज में मान-सम्मान बढ़ाता है माणिक, लेकिन व्यापार करने वाले ना करें इस रत्न का इस्तेमाल वरना...

माणिक्य रत्न धारण करने वाले व्यक्ति का समाज में मान-सम्मान बढ़ जाता है.

माणिक्य रत्न धारण करने वाले व्यक्ति का समाज में मान-सम्मान बढ़ जाता है.

यदि किसी जातक की कुंडली में कोई ग्रह कमजोर है या फिर बुरे परिणाम दे रहा है तो उस ग्रह को बैलेंस करने के लिए रत्न धारण किया जाता है. इन रत्नों से कुंडली के योग मजबूत होते हैं, साथ ही व्यक्ति की ग्रह दशा भी सुधर जाती है.

हाइलाइट्स

माणिक्य रत्न धारण करने वाले व्यक्ति का समाज में मान-सम्मान बढ़ जाता है.
माणिक्य को सूर्य का रत्न भी कहा जाता है.

जब किसी व्यक्ति की कुंडली में किसी तरह का ग्रह दोष हो या फिर कोई ग्रह नीच का या कमजोर हो तो उस ग्रह को मजबूती प्रदान करने के लिए रत्न शास्त्र में राशि के अनुसार रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है. जो व्यक्ति की कुंडली में बने बुरे योग को काफी हद तक बैलेंस करने में मददगार होता है. इन्हीं रत्नों में से एक है माणिक्य जिसे सूर्य का रत्न कहा जाता है. इस रत्न को जो व्यक्ति धारण करता है, उसे हर क्षेत्र में शुभ फल प्राप्त होता है. आइए जानते हैं भोपाल के ज्योतिषी एवं पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा से माणिक्य पहनने के फायदे के बारे में.

माणिक्य पहनने के फायदे

-ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जो व्यक्ति माणिक्य रत्न को धारण करता है, वह अपने जीवन में अनेक सफलताओं को प्राप्त करता है. इसके अलावा उसका समाज में मान-सम्मान भी बढ़ता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति की राशि और लग्न सिंह, मेष, वृश्चिक, कर्क और धनु है, उनको माणिक्य रत्न धारण करना चाहिए. यह रत्न जातक के मन में आ रहे गलत विचारों को नियंत्रित करता है. इस रत्न को धारण करने वाले व्यक्ति को सूर्य की तरह तेज प्राप्त होता है और उसको हर काम में सफलता मिलती है.

यह भी पढ़ें – भगवान शिव के आंसुओं से हुई रुद्राक्ष की उत्पत्ति, जानें इसे धारण करने के नियम

माणिक्य रत्न धारण करने के फायदे
-ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जो व्यक्ति माणिक्य रत्न धारण करता है, उसकी क्रिएटिविटी में बढ़ोत्तरी होती है.

-ऐसे जातक की नेतृत्व क्षमता भी बढ़ जाती है.

-माणिक्य रत्न धारण करने वाले व्यक्ति का समाज में मान-सम्मान बढ़ जाता है.

-इसके अलावा उनका आत्मविश्वास बढ़ता है.

-आंखों की रोशनी भी बढ़ती है.

-ऐसे जातकों का परिवार और पिता से रिश्ता मधुर होने लगता है.

-व्यक्ति खुद की पर्सनैलिटी को निखारने में सक्षम हो जाता है.

-हड्डियां भी मजबूत हो जाती हैं.

किसे नहीं धारण करना चाहिए माणिक्य रत्न
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जिन लोगों की लग्न मिथुन, मकर, कन्या, तुला और कुंभ है, उन लोगों को माणिक्य रत्न नहीं धारण करना चाहिए. ऐसे जातकों की राशि के स्वामी से सूर्य की शत्रुता का भाव रहता है.

यह भी पढ़ें – Griha Pravesh Niyam: आपको भी करना है अपने नए मकान में गृह प्रवेश? जानें इसके नियम और प्रकार

-इसके अलावा, जो लोग शनि से संबंधित क्षेत्र में काम करते हैं जैसे लोहा, वाहन, तेल, कोयला आदि उन लोगों को भी माणिक्य रत्न धारण बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए.

Tags: Dharma Aastha, Religion

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर