राम मंदिर शिलान्‍यास में रहेगा सोने का शेषनाग और चांदी का कछुआ, जानें और क्‍या-क्‍या किया जाएगा शामिल

राम मंदिर शिलान्‍यास में रहेगा सोने का शेषनाग और चांदी का कछुआ, जानें और क्‍या-क्‍या किया जाएगा शामिल
भूमि पूजन के समय नींव में पंच रत्न लगाए जाएंगे. फाइल फोटो

भव्य राम मंदिर के शिलान्यास (Ram Mandir Shilanyas) की काफी तैयारियां चल रही हैं. भूमि पूजन (Bhoomi Pujan) के दौरान नींव में सोने का शेषनाग (Gold Sheshnag) और चांदी का कछुआ (Silver Turtle) भी स्थापित किए जाने की बात सामने आई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 10:04 AM IST
  • Share this:
5 अगस्त को अयोध्या (Ayodhya) में भव्य राम मंदिर के शिलान्यास (Ram Mandir Shilanyas) की काफी तैयारियां चल रही हैं. जहां इस आयोजन के लिए शहर भर में विशाल एलईडी स्क्रीन लगाई जाएंगी, ताकि राजधानी के लोग इसका सीधा प्रसारण घर बैठे देख सकें. इसके अलावा भी कुछ खास सामग्री हैं, जिनका भूमि पूजन (Bhoomi Pujan) के दौरान उपयोग होगा. आजतक में प्रकाशित खबर के मुताबिक काशी विद्वत परिषद के मंत्री और बीएचयू के संस्कृत विद्या धर्म संकाय ज्योतिष विभाग के प्रोफेसर पंडित रामनारायण द्विवेदी के हवाले से बताया गया है कि भूमि पूजन के समय नींव में पंच रत्न लगाए जाएंगे. इनमें मूंगा, पन्ना, नीलम, माणिक्य और पुखराज के साथ ही बाबा विश्वनाथ को चढ़ाए हुए पांच रजत बेलपत्र, पांच चांदी के सिक्कों को भी रखा जाएंगा.

साथ ही भूमि पूजन के समय इसमें चांदी के पांच सिक्के भी रखे जाएंगे. इनमें नंदा, जया, भद्रा, रिक्ता और पूर्णा के प्रतीक शामिल होंगे. इसके अलावा उन्‍होंने बताया कि ताम्र कलश में पांच पवित्र नदियों से लाया गया जल भी भरा जाएगा. बाद में इसका उपयोग अनुष्ठान के लिए होगा. वहीं काशी विद्वत परिषद के मंत्री की ओर से कहा गया है कि पाताल लोक के स्‍वामी शेषनाग, जो पृथ्वी लोक को अपने फन पर धारण किए हुए हैं उनकी प्रतिकृति भी भूमि पूजन के समय इसकी नींव में डाली जाएगी. बताया गया है कि शेष नाग की यह प्रतिकृति भी सोने की बनी होगी. वहीं चांदी के कच्छप की प्रतिकृति के अलावा खर्व औषधि का उपयोग भी भूमि पूजन में किया जाएगा.

गौरतलब है कि राम मंदिर का भूमि पूजन किए जाने से पहले अयोध्या नगरी को सजाने का काम चल रहा है. सरयू घाट, राम की पैड़ी, बाइपास रोड तकरीबन अयोध्या के हर इलाके में इस वक्त सजावट और पेंटिंग्स का काम बहुत तेजी से किया जा रहा है. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भूमि पूजन को यादगार बनाने के लिए कई तरह के प्रयास कर रहे हैं और इसमें किसी तरह की कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते. इसके अलावा 3 से 5 अगस्त तक दीपोत्सव मनाने की बात भी कही गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading