खुशहाल गृहस्थ जीवन की कामना होगी पूरी, गुरुवार को ऐसे करें भगवान विष्णु की पूजा

गुरुवार को भगवान विष्णु की पूजा करने से परिवार में सुख-समृद्धि आती है.

गुरुवार को भगवान विष्णु की पूजा करने से परिवार में सुख-समृद्धि आती है.

मान्‍यता है कि अगर सच्चे मन से भगवान विष्णु (Lord Vishnu) की पूजा की जाए तो भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. गुरुवार को विधिवत पूजा करने से जीवन के संकट दूर होते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 7:51 AM IST
  • Share this:
हिंदू धर्म में गुरुवार (Thursday) का दिन भगवान विष्णु (Lord Vishnu) को समर्पित माना जाता है. इस दिन इनकी पूजा के लिए बेहद खास होता है. मान्‍यता है कि अगर सच्चे मन से भगवान विष्णु की पूजा की जाए तो भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. हिंदू धर्म शास्त्र के अनुसार गुरुवार को भगवान विष्णु की विधिवत पूजा करने से जीवन के संकट दूर होते हैं. घर में सुख शांति बनी रहती है और आर्थिक स्थिति में सुधार आता है. विष्णु जी की पूजा करने से धन के साथ-साथ वैवाहिक जीवन भी सुखमय बना रहता है. आइए जानें इस दिन पूजा का महत्व और पूजन विधि.

इस दिन पूजा का है खास महत्व

हिंदू मान्यता के अनुसार बृहस्पति केवल एक ग्रह नहीं, बल्कि जीवन के विभिन्न पहलुओं को प्रभावित करने वाले देवता हैं. पूरे विधि-विधान से बृहस्पति देवता की पूजा करने पर मन चाहा जीवनसाथी मिलता है. वैवाहिक संबंध सफल रहते हैं और करियर में भी सफलता मिलती है. जिन लोगों का बृहस्पति कमजोर हो, उन्हें ये पूजा फल देती है. माता-पिता से अच्छे संबंधों के लिए भी इस दिन पूजा की मान्यता है.

इसे भी पढ़ें - Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य ने कहा नफरत करने वालों से बनाएं दूरी
पूजन विधि

गुरुवार के दिन बृहस्पति देव और भगवान विष्‍णु की पूजा इस मंत्र के जाप से करें- ऊं नमो नारायणा. यह मंत्रजाप 108 बार करने से परिवार में सुख-समृद्धि आती है और करियर में भी सफलता मिलती है. पूजा में दूध, दही और घी से बने पीले व्यंजनों का भोग लगाएं. भगवान विष्णु की पूजा कर रहे हों तो दिन में एक ही बार पूजा के बाद उपवास का पारण करें और केवल मीठी चीजों का ही सेवन करें. गुरुवार की पूजा करते समय कुछ बातों का ध्यान रखने से पूजा का पूरा फल मिलता है.

पूजा में रखें इन बातों का ध्‍यान



गुरुवार के दिन सबसे पहले सुबह स्नान आदि से निवृत्त होकर साफ कपड़े पहनें. पूरी तरह स्‍वच्‍छ होने के बाद पूजा स्थल पर भगवान विष्णु की मूर्ति या उनकी तस्‍वीर स्थापित करें और गंगाजल से अभिषेक करना चाहिए. पूजा में चंदन, धूप, दीप, पीले फूल आदि अर्पित करने से वे प्रसन्‍न होते हैं. इसके बाद भगवान विष्णु को गुड़ और चने की दाल का भोग लगाएं. पूजा के अंत में दीपक जरूर जलाएं. साथ ही भगवान विष्णु की आरती भी करें.

ये भी पढ़ें - घर में नहीं होगी धन की कमी, होगा खुशियों का वास, अपनाएं ये वास्तु टिप्स

जानें ये महत्‍वपूर्ण बातें

-गुरुवार के दिन पीले वस्त्र पहनकर पूजा करें, पीली वस्तुओं का दान करें. इससे दान का सौ गुना पुण्य मिलता है.

-बृहस्पति ग्रह की शक्तिशाली बनाने के लिए पूजा के दौरान बृहस्पति जी की कथा पढ़ें और दूसरों को भी सुनाएं.

-शिवलिंग पर पीला कनेर अर्पित कर शिव आराधना से भी गुरु दोष खत्म होता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज