• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • Hartalika Teej 2021: क्या होता है सिंजारा, हरतालिका तीज पर पढ़ें ये मंत्र

Hartalika Teej 2021: क्या होता है सिंजारा, हरतालिका तीज पर पढ़ें ये मंत्र

मनचाहा वर पाने के लिए भी हरतालिका तीज पर व्रत रख पूजा की जाती है. Image-shutterstocl.com

मनचाहा वर पाने के लिए भी हरतालिका तीज पर व्रत रख पूजा की जाती है. Image-shutterstocl.com

Hartalika Teej 2021: हिन्दू धर्म के सभी व्रतों में हरतालिका व्रत को सबसे कठिन इसलिए माना गया है क्योंकि यह निर्जला और निराहार किया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    Hartalika Teej 2021: हरतालिका तीज हिन्दू धर्म में सुहागिन महिलाओं द्वारा किया जाने वाला बेहद ही कठिन और शुभ फलदायी व्रत माना गया है. भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हरतालिका तीज मनाई जाती है. इस दिन मुख्य तौर पर भगवान शिव (Lord Shiva) और माता पार्वती (Mata Parvati) की पूजा का विधान बताया गया है. इस बार हरतालिका तीज 9 सितंबर को है. हिन्दू धर्म के सभी व्रतों में हरतालिका व्रत को सबसे कठिन इसलिए माना गया है क्योंकि यह निर्जला और निराहार किया जाता है. अगले दिन पूजा के बाद ही महिलाएं अपने व्रत का पारण करती हैं.

    हरतालिका तीज पर सिंजारा का क्या होता है महत्व
    हरतालिका तीज व्रत से जुड़ी कई अनोखी परम्पराएं इस त्योहार के महत्व को कई गुना बढ़ा देती हैं. ऐसी ही एक परंपरा है सिंजारा की. सिंजारा का अर्थ होता है सुहाग का सामान. ऐसे में जब सुहागिन महिलाएं हरतालिका तीज का व्रत रखती हैं तो उनके ससुराल से सिंजारा यानी कि श्रृंगार का सामान, वस्त्र, आभूषण, मेहंदी, मिठाई मायके से भेजी जाती हैं. इसके साथ ही इस मेहंदी लगाने का भी विशेष महत्व होता है. इस दिन व्रत रखने वाली महिलाएं अपने हाथों में मेहंदी और पैरों में आलता लगाकर सोलह श्रृंगार करके नए वस्त्र पहन कर तैयार होती हैं और शाम के समय मां पार्वती की पूजा करती हैं. इसके अलावा हरतालिका तीज पर सुहागन महिलाएं अपनी सांस के पांव छूकर उन्हें सुहाग का सामान देती हैं. हालांकि यदि किसी महिला की सास इस दुनिया में नहीं है या तो अपने घर के किसी बड़े या अपनी जेठानी या किसी भी वृद्धा को सुहाग का सामान देकर उनका आशीर्वाद ले सकती हैं.

    इसे भी पढ़ेंः Hartalika Teej 2021: कब मनाई जाएगी हरतालिका तीज? जानें पूजन विधि और शुभ मुहूर्त

    हरतालिका तीज मंत्र

    ‘उमामहेश्वरसायुज्य सिद्धये हरितालिका व्रतमहं करिष्ये’
    कात्यायिनी महामाये महायोगिनीधीश्वरी
    नन्द-गोपसुतं देवि पतिं में कुरु ते नम:

    गण गौरी शंकरार्धांगि यथा त्वं शंकर प्रिया।
    मां कुरु कल्याणी कांत कांता सुदुर्लभाम्।।

    हरतालिका तीज उपाय

    -अपने दांपत्य जीवन में प्रेम बढ़ाने के लिए आप हरतालिका तीज के दिन बेहद छोटा उपाय यह कर सकते हैं कि इस दिन पूजा करने के बाद स्वयं खीर बनाएं और उसे मां पार्वती को भोग चढ़ा दें. पूजा प्रारंभ होने के बाद इस खीर को प्रसाद के रूप में अपने पति को खिलाएं और अपना उपवास खोलने के बाद स्वयं भी वही खीर खाएं. ऐसा करने से आपके दांपत्य जीवन में प्रेम बढ़ेगा.

    -अपने दांपत्य जीवन को सुखमय बनाए रखना चाहती हैं तो इस दिन देवी पार्वती और शिव जी की पूजा के बाद 11 नव विवाहित महिलाओं को सुहाग का सामान भेंट करें. इस पिटारे में कुल सोलह श्रृंगार होने चाहिए. इसके अलावा पांच बुजुर्ग सुहागिन महिलाओं को साड़ी और बिछिया दें और अपने पति के साथ उनके पैर छुएं.

    इसे भी पढ़ेंः शिव विवाह की कथा है बड़ी अनोखी, ऐसे हुआ था भोलेनाथ का माता पार्वती से विवाह

    -मनचाहा वर प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए हरतालिका तीज के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें और उसके बाद शिव पार्वती के मंदिर जाकर मां पार्वती और भगवान शिव को लाल रंग का गुलाब चढ़ाएं और नंदी को और भगवान शिव और शहद अर्पित करें. ऐसा करने से आपको शीघ्र ही मनचाहा वर प्राप्त होगा.

    -इसके अलावा जो भी महिला हरितालिका तीज के दिन अपने पति से अपनी मांग भरवाती है, उनके हाथों से पायल और बिछिया पहनती हैं उनके जीवन में पति का प्यार बना रहता है और वैवाहिक जीवन सुखमय रहता है. (साभार-Astrosage.com)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज