होम /न्यूज /धर्म /इन पांच महीनों में शुभ होता है नया घर बनवाना, जानें कौन से हैं यह महीने

इन पांच महीनों में शुभ होता है नया घर बनवाना, जानें कौन से हैं यह महीने

इन पांच महीनों में शुभ होता है नया घर बनवाना.,image-canva

इन पांच महीनों में शुभ होता है नया घर बनवाना.,image-canva

घर का निर्माण करने से पहले शुभ व अशुभ महीनों का ध्यान रखना चाहिए. वैशाख, श्रावण, कार्तिक, मार्गशीर्ष और फाल्गुन महीने ग ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

घर का निर्माण करने से पहले शुभ व अशुभ महीनों का ध्यान रखना चाहिए.
वैशाख, श्रावण, कार्तिक, मार्गशीर्ष और फाल्गुन महीने गृहारम्भ के लिए शुभ माने गए हैं.
चैत्र, ज्येष्ठ, भाद्रपद, आश्विन, पौष और माघ महीनो में गृह निर्माण की मनाही है.

Vastu tips:  नया घर बनाकर उसमें सुख से रहना हर किसी का सपना होता है. पर ये सपना हर किसी का पूरा नहीं होता. बहुत बार घर बनाने के बाद भी लोग उसमें सुकून से नहीं रह पाते. इसका एक कारण घर निर्माण का महीना सही नहीं होना भी हो सकता है. ऐसे में आज हम आपको ज्योतिष व वास्तुशास्त्र के अनुसार गृह निर्माण के शुभ व अशुभ महीनों के बारे में बता रहे हैं. जिन्हें ध्यान में रखकर घर का निर्माण यदि शुभ महीनों में किया जाए तो घर-परिवार सुख- समृद्धि से भर सकता है.

घर निर्माण के लिए शुभ महीने
पंडित रामचंद्र जोशी के अनुसार सालभर के 12 महीनों में से पांच हिंदू महीनों को घर निर्माण शुरू करने के लिए शुभ माना गया है. ये महीने वैशाख, श्रावण, कार्तिक, मार्गशीर्ष और फाल्गुन महीने हैं. मान्यता के अनुसार इन महीनों में गृहारम्भ करने से घर में हर तरह का सुख आता है. इनमें वैशाख महीने में गृहारम्भ करने से धन-धान्य, पुत्र व आरोग्य की प्राप्ति होती है. श्रावण मास में गृहारम्भ पशु, धन व मित्रों में बढ़ोत्तरी करने वाला माना गया है. कार्तिक मास में नये घर का निर्माण पुत्र, स्वास्थ्य व धन की प्राप्ति करता है. जबकि मार्गशीर्ष मास में गृहारम्भ अच्छे भोजन व धन तथा फाल्गुन मास में गृहारम्भ धन तथा सुख की प्राप्ति के साथ वंश को बढ़ाने वाला कहा गया है. कुछ ग्रन्थों में गृहारम्भ के लिये आषाढ़ मास को भी शुभ माना गया है. हालांकि इस महीने में घर का निर्माण करना पशुओं का नाश करने वाला होता है.

गृहारम्भ के अशुभ महीने
पंडित जोशी के अनुसार ज्योतिष व वास्तु शास्त्र में चैत्र, ज्येष्ठ, भाद्रपद, आश्विन, पौष और माघ महीने में गृह निर्माण की मनाही है. शास्त्रों के अनुसार चैत्र मास में गृहारम्भ करने से रोग और शोक की प्राप्ति होती है. ज्येष्ठ मास में गृहारम्भ परेशानी व मृत्यु कारक होता है.  भाद्रमास में नया घर बनवाने से मित्रों में कमी, दरिद्रता व विनाश की आशंका होती है. आश्विन मास में गृहारम्भ परिवार में कलह व पत्नी का नाश करने वाला, पौष मास में चोरों का भय व माघ महीने में गृहारम्भ अग्नि का भय बढ़ाने वाला है. ऐसे में इन महीनों में गृहारम्भ से हमेशा बचना चाहिए.

ये भी पढ़ें: इन 5 मालाओं से करें नियमित रूप से जाप, पाएं दुख-दरिद्रता से छुटकारा
ये भी पढ़ें: महिलाओं का दंडवत प्रणाम करना क्यों है निषेध? जानें ये धार्मिक वजह

Tags: Dharma Aastha, Dharma Culture, Hinduism

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें