होम /न्यूज /धर्म /

Holi 2020: होलिका दहन से पहले और बाद में करें कौन से काम, इन उपायों से घर में रहेगी शांति

Holi 2020: होलिका दहन से पहले और बाद में करें कौन से काम, इन उपायों से घर में रहेगी शांति

होलिका दहन और पूजा करने का महत्व पुराणों में भी है और ऐसा माना जाता है कि होली की पूजा करने से महालक्ष्मी प्रसन्न होती हैं.

होलिका दहन और पूजा करने का महत्व पुराणों में भी है और ऐसा माना जाता है कि होली की पूजा करने से महालक्ष्मी प्रसन्न होती हैं.

होलिका दहन से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है. अगर आप होलिका दहन के दिन कुछ उपायों को प्रयोग करें तो पूरे साल आपके जीवन में खुशहाली और समृद्धि बनी रहेगी.

    होली रंगों और खुशियों का उत्सव है. इस दिन सभी लोग एक दूसरे पर रंग लागते हैं और तरह-तरह के पकवान खाते हैं. होली से ठीक एक दिन पहले होलिका दहन होती है. इस साल होलिका दहन 09 मार्च को और होली 10 मार्च को मनाई जाएगी. होलिका दहन से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है. अगर आप होलिका दहन के दिन कुछ उपायों को प्रयोग करें तो पूरे साल आपके जीवन में खुशहाली और समृद्धि बनी रहेगी. होलिका दहन और पूजा करने का महत्व पुराणों में भी है और ऐसा माना जाता है कि होली की पूजा करने से महालक्ष्मी प्रसन्न हो होती हैं. देवी लक्ष्मी घरों में विराजमान होती हैं और शांति का विस्तार होता है. आइए आपको बताते हैं कि होलिका दहन के पहले और बाद में कौन से काम करने चाहिए ताकि घर में शांति बनी रहे.

    इसे भी पढ़ेंः Happy Holi 2020: होली पर ऐसे करें पानी की बचत, घर पर अपनाएं ये टिप्स

    होलिका दहन से पहले क्या करें
    होलिका दहन से पहले आपको और आपके परिवार के सदस्यों को हल्दी का उबटन, सरसों के तेल में मिलाकर पूरे बदन पर लगाना चाहिए. ऐसा करने से मन की अशांति दूर होती है. इस उबटन को लगाने के बाद आप अच्छे से नहा लें.

    मान्यता है कि होलिका दहन से पहले 5 या 11 गाय के उपले, एक मुट्ठी सरसों के दाने और नारियल का सूखा गोला अपने पास रखें. फिर उसमें जौ, तिल, शक्कर, चावल और घी भर उसे होलिका की जलती हुई अग्नि में प्रवाहित कर दें. ऐसा करने से घर में मौजूद सारी नकारात्मकता दूर हो जाती है और चारों तरफ खुशियां फैलती हैं.

    होलिका दहन होने से पहले या फिर बाद में शाम के वक्त घर में उत्तर दिशा में शुद्ध घी का दीपक जरूर जलाएं. मान्यता है कि ऐसा करने से घर में सुख शांति आती है.

    वहीं होलिका की परिक्रमा करने का भी अपना एक अलग महत्व है. कहते हैं कि ऐसा करने से हर तरह की परेशानियां, रोग और दोष खत्म हो जाते हैं. इसलिए इसकी परिक्रमा जरूर करें.

    होलिका दहन के बाद क्या करें
    होलिका दहन के बाद हल्‍दी का टीका जरूर लगाएं. इससे शरीर में सकारात्मकता आती है.

    चीजें अग्नि में अर्पित करने और उसके भस्म हो जाने के बाद सुख-शांति और समृद्धि के लिए प्रार्थना जरूर करें.

    होलिका के चारों ओर 7 बार परिक्रमा करके जल अर्पित करें क्योंकि ऐसा करने से घर में समृद्धि आती है.

    इसे भी पढ़ेंः Happy Holi 2020: चेहरे पर लगे जिद्दी रंगों को छुड़ाने के 6 आसान उपाय, रसोई की ये चीजें दिखाएंगी अपना कमाल

    होलिका दहन का शुभ मुहूर्त
    होलिका दहन 9 मार्च 2020 (सोमवार) की शाम को किया जाएगा.
    संध्या काल का मुहूर्त: शाम 06 बजकर 22 मिनट से 8 बजकर 49 मिनट तक होलिका दहन का शुभ मुहूर्त है.
    भद्रा पुंछा का मुहूर्त: सुबह 09 बजकर 50 मिनट से 10 बजकर 51 मिनट तक भद्रा पुंछा रहेगी.
    भद्रा मुखा: सुबह 10 बजकर 51 मिनट से 12 बजकर 32 मिनट तक भद्रा मुखा रहेगी.

    Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.undefined

    Tags: Holi, Holi 2020, Holi celebration, Religion

    अगली ख़बर