Holi 2021: होली आज, राधा-कृष्ण के प्रेम का प्रतीक है रंगों का ये त्योहार

होली का त्योहार प्रेम, सौहाद्र और दोस्ती का है (Images/Shutterstock)

होली का त्योहार प्रेम, सौहाद्र और दोस्ती का है (Images/Shutterstock)

Holi 2021 Radha Krishna Story: क्या आप जानते हैं कि रंगों और प्यार का ये त्योहार होली भगवान कृष्ण और राधा रानी के समय से मनाया जा रहा है. आइए पौराणिक कथा से जानते हैं इस त्योहार के बारे में...

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 29, 2021, 6:16 AM IST
  • Share this:
Holi 2021 Radha Krishna Story: आज होली का त्योहार है. लोग एक दूसरे को रंग-गुलाल लगाएंगे और फाग गाएंगे. लोग दूसरे को गुझिया खिलाएंगे और गले मिलकर एक दूसरे को शुभकामनाएं देंगे, होली का त्योहार प्रेम, सौहाद्र और दोस्ती का है. माना जाता है कि होली के दिन दुश्मन भी इस दिन मनमुटाव भुलाकर एक दूसरे को गले लगाते हैं और रंग खेलते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि रंगों और प्यार का ये त्योहार होली भगवान कृष्ण और राधा रानी के समय से मनाया जा रहा है. आइए पौराणिक कथा से जानते हैं इस त्योहार के बारे में...

राधा कृष्ण के प्रेम का प्रतीक

एक अन्य कथा के अनुसार, होली का त्योहार राधा कृष्ण के प्रेम पर्व के रूप में भी मनाया जाता है.माना जाता है कि एक बार सांवले रंग के भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी मां यशोदा जी से प्रश्न किया कि वो भी राधा की तरह गोरे क्यों नहीं हैं.तो उनके प्रश्न का उत्तर देते हुए यशोदा जी ने कहा कि राधा के चेहरे पर रंग लगा दो तो, राधा जी का रंग भी कृष्ण जी की तरह हो जाएगा.फिर क्या था, कृष्ण जी ने राधा और गोपियों को रंग लगा दिया और इस तरह से होली के त्योहार की शुरुआत हुई.

Also Read: Holi 2021: राशि के अनुसार लकी कलर से खेलें होली, बरसेगा सौभाग्य
विभिन्न इलाकों में होली का त्योहार

होली एक ऐसा त्योहार है जो भारतवर्ष के साथ-साथ, दुनियाभर में भी मनाया जाता है.इसमें से मथुरा, वृंदावन और बरसाना की होली, देश भर में सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है.भगवान श्रीकृष्ण से जुड़े मथुरा और वृंदावन में तो, 15 दिनों तक होली का त्योहार मनाया जाता है. वहीं बरसाने की लट्ठमार होली भी, विश्व विख्यात है.

बात करें मध्य प्रदेश की तो, यहां के मालवा इलाके में होली के पांचवे दिन रंगपंचमी के रूप में मनाई जाती है.जबकि हरियाणा में यह त्योहार भाभी और देवरों के बीच, ठिठोली के त्योहार के रूप में मनाया जाता है.गुजरात के आदिवासियों के लिए भी, होली सबसे बड़े त्योहार के रुप में जाना जाता है.



वहीं बात करें सिख धर्म संस्कृति की तो, दसवें गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह जी महाराज ने होली को वीरता के त्योहार के रूप में परिवर्तित किया था.इस कारण पंजाब में इस त्योहार को होला मोहल्ला के रूप में मनाया जाता है.इस दिन जगह-जगह नगर कीर्तन आयोजित किया जाता है और लोग एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाते हुए, गतका का जौहर दिखाते हैं. (credit:astrosage)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज