Hariyali Teej 2019: बाकी तीजों से कितनी अलग है हरियाली तीज?

तीज मां पार्वती से सौभाग्य का वरदान मांगने और अविवाहिताओं के लिए वर प्राप्ति के लिए की जाती है. प्रमुख रूप से कुल तीन तीज हैं- हरियाली तीज, कजली तीज और हरतालिका तीज

News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 11:56 AM IST
Hariyali Teej 2019: बाकी तीजों से कितनी अलग है हरियाली तीज?
तीज मां पार्वती से सौभाग्य का वरदान मांगने और अविवाहिताओं के लिए वर प्राप्ति के लिए की जाती है. प्रमुख रूप से कुल तीन तीज हैं- हरियाली तीज, कजली तीज और हरतालिका तीज
News18Hindi
Updated: August 3, 2019, 11:56 AM IST
Hariyali Teej 2019: आज यानी 3 अगस्त को हरियाली तीज है. महिलाएं आज पति की लंबी उम्र के लिए दिन भर उपवास रहेंगी और शाम को हरियाली तीज की व्रत कथा सुनेंगी. लेकिन क्या आपको पता है कि साल में चार बार तीज आती है. इन तीजों का अपना अलग महत्व है और इसे भारत के अलग-अलग हिस्सों में मनाया जाता है. तीज यानी तृतीया तिथि. तीज के दिन सुहागिन स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु के लिए उपवास रखती है. तीज मां पार्वती से सौभाग्य का वरदान मांगने और अविवाहिताओं के लिए वर प्राप्ति के लिए की जाती है. प्रमुख रूप से कुल तीन तीज हैं- हरियाली तीज, कजली तीज और हरतालिका तीज.

हरियाली तीज

हरियाली तीज सावन महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है. इस तीज का नवविवाहित महिलाओं के लिए बहुत खास महत्व है. इस दौरान वे अपने मायके जाती है और उनके परिवार वाले उन्हें पूरा श्रृंगार देते हैं. इस तीज को बाकी तीजों से अलग इसके झूला झूलने की परंपरा बनाती है. इस दिन व्रती महिलाएं झूला झूलती हैं.

कजली तीज

कजली तीज भादो के कृष्ण पक्ष की तृतीय तिथि को मनाई जाती है. इस दिन सुहागिन स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु के लिए उपवास रखती है और सोलह श्रृंगार से सज-धजकर पूजन करती हैं.

हरतालिका तीज

यह तीज भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है. यह सभी तीजों से सबसे महत्वपूर्ण और लोकप्रिय है. हरतालिका तीज को बड़ी तीज व्रत के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन सुहागिन महिलाएं अपनी पति की लंबी आयु के लिए सारे दिन निर्जला उपवास रखती है. यह व्रत एक सूर्योदय से लेकर दूसरे सूर्योदय तक चलता है.
Loading...

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.
First published: August 3, 2019, 11:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...